अबॉर्शन पिल्स के 10 साइड इफेक्ट्स | Abortion Pills Side Effects In Hindi

Abortion Pills Side Effects In Hindi

Image: Shutterstock

IN THIS ARTICLE

मां बनना हर महिला का सपना होता है और इस सपने के पूरा होते ही परिवार में खुशी की लहर दौड़ जाती है। वहीं, कभी-कभी अनचाही गर्भावस्था इस खुशी के रंग को फीका कर जाती है। भविष्य की आकांक्षाएं इस सपने पर भारी पड़ जाती हैं। ऐसे में लोग इस अनचाही गर्भावस्था को समाप्त करने के लिए अबॉर्शन पिल्स का सहारा लेते हैं। बेशक, अबॉर्शन पिल्स अनचाही गर्भावस्था को समाप्त करने का एक अच्छा विकल्प बन सकती हैं, लेकिन तभी जब इसे डॉक्टर की सलाह पर लिया जाए। डॉक्टर से पूछे बिना इस लेने से कुछ दुष्परिणाम हो सकते हैं। ऐसे में जरूरी है कि हर महिला अबॉर्शन पिल्स के दुष्परिणामों से अच्छी तरह परिचित हो। यही वजह है कि मॉमजंक्शन के इस लेख में हम अबॉर्शन पिल्स के साइड इफेक्ट्स से जुड़ी जरूरी जानकारी देने का प्रयास कर रहे हैं।

आइए, सबसे पहले हम अबॉर्शन पिल्स क्या है, यह जान लेते हैं। बाद में इसके दुष्परिणामों पर बात करेंगे।

अबॉर्शन पिल्‍स क्‍या है? 

अनचाही गर्भावस्था को समाप्त करने के लिए जिन दवाओं को उपयोग में लाया जाता है, उन्हें अबॉर्शन पिल्स कहा जाता है। ये दवाएं महिला के गर्भ से भ्रूण और प्लेसेंटा को अलग करने में मदद करती हैं। किसी भी महिला का भौतिक परीक्षण कर मेडिकल हिस्ट्री जानने के बाद ही डॉक्टर महिला की स्थिति के हिसाब से उसे एक उचित अबॉर्शन पिल्स लेने की सलाह देते हैं (1)

लेख के अगले भाग में हम अबॉर्शन पिल्स के कुछ आम साइड इफेक्ट्स जानने का प्रयास करेंगे।

अबॉर्शन की गोलियां लेने के आम साइड इफेक्ट्स | Abortion Pills Side Effects In Hindi

अनचाहे गर्भ को समाप्त करने के लिए गर्भपात के उपाय के तौर पर अबॉर्शन पिल्स को लोग अधिक वरीयता देते हैं। वहीं, अनचाहे गर्भ को समाप्त करने के लिए अपने मन से किसी भी दवा का उपयोग कई तरह के साइड इफेक्ट्स प्रदर्शित कर सकता है। इसलिए, बिना डॉक्टर के परामर्श के इन अबॉर्शन पिल्स को उपयोग में नहीं लाना चाहिए। यहां हम अबॉर्शन पिल्स के कुछ आम साइड इफेक्ट्स बता रहे हैं, जो कुछ इस प्रकार हैं :

1. अधिक दर्द का अनुभव 

अबॉर्शन पिल्स के दुष्परिणाम के रूप में कई महिलाएं पेट के निचले हिस्से में अधिक दर्द का अनुभव कर सकती हैं। इस बात की पुष्टि एनसीबीआई (National Center for Biotechnology Information) की वेबसाइट पर प्रकाशित एक केस स्टडी से होती है। स्टडी में माना गया है कि बिना डॉक्टर की सलाह के ली जाने वाली अबॉर्शन पिल्स के कारण महिलाओं के पेट के निचले हिस्से में असहनीय दर्द हो सकता है, जो इन गोलियों का घातक दुष्परिणाम हो सकता है (2)

2. अधिक रक्त स्त्राव 

अबॉर्शन पिल्स लेने के बाद दुष्परिणाम के रूप में भारी रक्त स्त्राव 45 दिन तक रह सकता है, जो एक असामान्य स्थिति है। ऐसे में अगर अबॉर्शन पिल्स लेने के बाद 9 दिन से अधिक समय तक किसी भी महिला को अधिक रक्त स्त्राव होता है, तो उसे बिना देर किए डॉक्टर से परामर्श करना चाहिए (3)

3. डायरिया 

कुछ महिलाओं में अबॉर्शन पिल्स के दुष्परिणाम के रूप में डायरिया की समस्या हो सकती है (4)। हालांकि, यह अधिक घातक स्थिति नहीं हैं। फिर भी इस स्थिति के नजर आने पर विशेषज्ञ ज्यादा से ज्यादा पानी पीने की सलाह देते हैं, ताकि डायरिया के कारण होने वाली शरीर में पानी की कमी को पूरा किया जा सके (5) 

4. अधिक ऐंठन 

अबॉर्शन पिल्स के दुष्परिणाम के रूप में कई महिलाओं को जरूरत से अधिक ऐंठन का सामना करना पड़ सकता है (6)। ऐसी स्थिति नजर आने पर बिना देर किए डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए, ताकि समय रहते अबॉर्शन पिल्स के इस इस दुष्परिणाम को बढ़ने से रोका जा सके।

5. मतली और उल्टी 

अबॉर्शन पिल्स के कारण मतली और उल्टी का होना आम है, जो इसके दुष्प्रभाव के रूप में देखा जाता है (6)। वहीं, अबॉर्शन पिल्स लेने के तुरंत या एक घंटे के अंदर उल्टी हो जाती है, तो ऐसे में खाई गई गोली शरीर से बाहर निकल आती है।

6. चक्कर आना 

अबॉर्शन पिल्स के बुरे प्रभाव के तौर पर शुरुआती दौर में महिलाओं को हल्का चक्कर आने जैसा अनुभव हो सकता है (8)। वहीं, दवा की अधिक मात्रा हो जाने की स्थिति में अधिक चक्कर आने की स्थिति पैदा हो सकती है। ऐसी स्थिति में बिना देर किए डॉक्टर से तुरंत संपर्क करना चाहिए (8)

7. सिरदर्द होना 

सिरदर्द की समस्या भी अबॉर्शन पिल्स का एक दुष्प्रभाव हो सकता है। एनसीबीआई के शोध में इस बात को साफ तौर पर स्वीकार किया गया है। शोध में जिक्र मिलता है कि अबॉर्शन पिल्स के तौर पर ली जाने वाली दवा के दुष्प्रभाव के रूप में सिरदर्द की समस्या देखी जा सकती है (7)

8. बुखार आना 

अनचाही गर्भावस्था को हटाने के लिए ली जाने वाली दवा के सेवन के दो से चार घंटे के अंदर हल्का बुखार आ सकता है। वहीं, गंभीर दुष्परिणाम के रूप में अगर दवा लेने के 24 घंटे के बाद तक 38 डिग्री सेंटीग्रेड तापमान तक बना रहता है, तो बिना देर किए तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए (7)

9. योनि से डिस्चार्ज

अनचाहे गर्भ से छुटकारा पाने के लिए ली जाने वाली दवाओं के बुरे असर के रूप में कुछ महिलाओं को योनि से डिस्चार्ज भी हो सकता है (9)। इस समस्या के नजर आने पर महिलाओं को इस बारे में अपनी डॉक्टर से बात करनी चाहिए, ताकि सही इलाज के माध्यम से इस स्थिति को ठीक किया जा सके।

10. अधूरा अबॉर्शन 

बिना डॉक्टर की सलाह के अबॉर्शन पिल्स लेने की स्थिति में दुष्परिणाम स्वरूप अधूरे गर्भपात की स्थिति भी पनप सकती है (10)। ऐसी स्थिति में डॉक्टर बिना देर किए सर्जरी के माध्यम से पूर्ण गर्भपात कर सकते हैं, ताकि अधूरे अबॉर्शन को पूरी तरह से ठीक किया जा सके (11)

लेख के अगले भाग में आप जानेंगे कि भविष्य में अबॉर्शन पिल्स के दुष्परिणाम क्या होते हैं। 

क्या गर्भपात की गोलियों का सेवन करने से भविष्य में गर्भधारण पर कोई नकारात्मक प्रभाव पड़ता है? | Abortion Pill Side Effects Future Pregnancy In Hindi

सामान्य तौर पर अबॉर्शन पिल्स के दुष्परिणाम भविष्य में बमुश्किल ही देखने को मिलते हैं। हां, बार-बार इन दवाओं का उपयोग भविष्य में होने वाले कुछ जटिलताओं की वजह जरूर बन सकता है, जो इस प्रकार हैं (12) (13) :

  • कम वजन के साथ बच्चे का जन्म
  • समय पूर्व जन्म
  • प्राकृतिक गर्भपात की स्थिति पैदा होना
  • गर्भधारण करने में मुश्किल होना

लेख के अगले भाग में हम अबॉर्शन पिल्स लेने के बाद ध्यान में रखी जाने वाले बातें बताएंगे।

अबॉर्शन पिल्स लेने के बाद इन बातों का ध्यान रखें 

सबसे पहली बात तो यह कि बिना डॉक्टर की सलाह के अबॉर्शन पिल्स नहीं लेनी चाहिए। वहीं, अगर डॉक्टर की सलाह पर यह दवा ली भी है, तो इन अहम बातों का ध्यान जरूर रखें :

  • जैसा कि आपको लेख में पहले ही बताया जा चुका है कि अबॉर्शन पिल्स लेने के बाद औसतन नौ दिन तक अधिक रक्त स्त्राव होना सामान्य है (3)। इस कारण महिलाओं को गर्भपात के बाद कमजोरी का एहसास हो सकता है। इसलिए, जब तक महिला पूरी तरह से ठीक न हो जाए, उसे अधिक से अधिक आराम करना चाहिए। साथ ही अपने खान पान पर भी विशेष ध्यान देना चाहिए।
  • कुछ मामलों में अबॉर्शन पिल्स के सेवन के बाद अधूरे गर्भपात की स्थिति पैदा हो सकती है (10)। इसलिए, गर्भपात की दवा लेने के करीब दो हफ्ते के बाद दोबारा अल्ट्रासाउंड करा कर चेक कर लेना चाहिए कि पूर्ण गर्भपात हुआ है या नहीं। वहीं, अधूरे गर्भपात की स्थिति में बिना देर किए डॉक्टर से सलाह लेकर सर्जरी के माध्यम से पूर्ण गर्भपात करा लेना चाहिए (11)
  • अगर 38 डिग्री सेंटीग्रेड से अधिक बुखार और अधिक रक्त स्त्राव हो रहा है, तो यह अबॉर्शन पिल्स के साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं (3) (7)। ऐसा होने पर फौरन इस बारे में डॉक्टर से बात करनी चाहिए।
  • दवा के द्वारा गर्भपात होने के बाद करीब एक हफ्ते तक शारीरिक संबंध नहीं बनाने चाहिए। इसके साथ अपने डॉक्टर से परिवार नियोजन संबंधी उचित जानकारी भी हासिल कर लेनी चाहिए (14)
  • गर्भपात के करीब छह महीने बाद ही गर्भधारण करने के बारे में सोचना चाहिए, ताकि महिला के शरीर में आई कमजोरी पूरी तरह से ठीक हो सके (15)

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

 क्या होगा अगर गर्भावस्था के बाद के चरण में अबॉर्शन की गोलियां ली जाती हैं?

अबॉर्शन पिल्स के सेवन से होने वाले दुष्परिणामों के बारे में हम लेख में ऊपर विस्तार से बता चुके हैं। गर्भधारण के बाद पहली तिमाही के अंतिम चरण में अबॉर्शन पिल्स लेने से इससे होने वाले दुष्परिणाम अधिक नजर आ सकते हैं। इसलिए, सुरक्षा के नजरिए से ऐसे समय में अबॉर्शन पिल्स लेने से पहले डॉक्टर से परामर्श जरूर लें। साथ ही डॉक्टर की सलाह के अनुसार ही इन दवाओं का सेवन करें (16)

क्या अबॉर्शन की गोलियां पीरियड्स को प्रभावित कर सकती हैं? 

हां, अबॉर्शन पिल्स के कारण आपके पीरियड्स प्रभावित होते हैं, लेकिन यह चार से आठ हफ्ते के बाद अपने आप ही नियमित हो सकते हैं (14)

क्या मैं अबॉर्शन की गोली लेने के बाद अपनी बच्चे को स्तनपान करा सकती हूं?

हां, 200 एमजी की अबॉर्शन पिल्स लेने की स्थिति में महिलाएं अपने बच्चों को स्तनपान करा सकती हैं (15)। ध्यान रहे कि ऐसा करने से पहले एक बार अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। अबॉर्शन की गोली को बिना डॉक्टर की सलाह के लेना हानिकारक हो सकता है।

क्या गर्भपात की गोलियां गर्भ को नुकसान पहुंचाती है? 

कुछ गंभीर स्थितियों में गर्भपात की गोलियों के कारण गर्भ से संबंधित इन्फेक्शन या गर्भ के फटने की स्थिति पैदा हो सकती है (16)

बेशक ये दवाएं अनचाहे गर्भ की स्थिति में काम आ सकती हैं, लेकिन बिना डॉक्टर की सलाह के इन गोलियों का इस्तेमाल हमेशा हानिकारक माना जाता है। वहीं, गर्भधारण के कितने समय बाद इन्हें इस्तेमाल में लाया जा रहा है, इस बात पर भी अबॉर्शन पिल्स के अच्छे और बुरे प्रभाव निर्भर करते हैं। इसलिए, लेख में शामिल अबॉर्शन पिल्स लेने के बाद बरती जाने वाली सावधानियों को भी ध्यान में जरूर रखें, ताकि डॉक्टरी परामर्श के बाद अगर कोई अबॉर्शन पिल्स लेता है, तो उसे इसके कम से कम दुष्परिणामों का सामना करना पड़े। 

संदर्भ (References):