शिशु को मच्छरों से बचाने के तरीके व घरेलू उपचार | Chote Bache Ko Mosquito Ke Katne Ka Karan

Chote Bache Ko Mosquito Ke Katne Ka Karan

Image: Shutterstock

IN THIS ARTICLE

छोटे-छोटे मच्छर बड़े-बड़ों की नाक में दम कर देते हैं। अगर बात करें शिशुओं की, तो वो हमारी तरह न ही मच्छर मार सकते हैं और न ही उसके काटने का दर्द हमें बता सकते हैं। ऐसे में मच्छरों के काटने से अपने बच्चे को कैसे बचाएं, इसके लिए पढ़ें मॉमजंक्शन का यह आर्टिकल। यहां शिशु को मच्छरों से बचाने के तरीके और घरेलू उपचार बताए गए हैं, जिन्हें अपनाकर बच्चे को मच्छरों के प्रकोप से बचाया जा सकता है।

लेख की शुरुआत हम शिशु के शरीर पर मच्छर काटने की पहचाने कैसे करें, इसके साथ करेंगे।

शिशु के शरीर पर मच्छर के काटने की पहचान कैसे कर सकते हैं ?

शिशुओं में मच्छर के काटने पर कुछ सामान्य लक्षण नजर आ सकते हैं, जिनके बारे में हम नीचे जानकारी दे रहे हैं। इनके माध्यम से शिशुओं में मच्छर के काटने की पहचान आसानी से की जा सकती है (1):

  • काटने के कुछ मिनट बाद त्वचा पर लाल उभरे हुए धब्बे दिखाई दे सकते हैं।
  • लाल-भूरे रंग के सख्त, खुजलीयुक्त चकत्ते होना।
  • चकत्ते की बजाय फफोले दिखाई दे सकते हैं।
  • कभी-कभी काले धब्बे हो सकते हैं, जो नील की तरह दिखते हैं।

गंभीर स्थिति में निम्नलिखित लक्षण दिखाई दे सकते हैं:

  • त्वचा के बड़े हिस्से पर सूजन और लालिमा होना।
  • हल्का बुखार
  • पित्ती उछलना (हीव्स)।
  • लिम्फ नोड्स यानी गर्दन में सूजी हुई ग्रंथियां।

आगे पढ़ें शिशुओं में मच्छर काटने के पीछे क्या-क्या कारण हो सकते हैं।

छोटे बच्चों को मच्छर काटने के क्या कारण हो सकते हैं ? | Chote bache ko mosquito ke katne ka karan

छोटे बच्चों को मच्छर काटने के कई कारण हो सकते हैं, इनमे से कुछ इस प्रकार हैं:

  • गंदगी- शोध में पता चलता है कि गंदी जगहों पर मच्छर ज्यादा पनपते हैं (2)। घर के आस-पास गंदगी व जलजमाव हो रखा है, तो इससे अधिक मच्छर पैदा हो सकते हैं। इस तरह शिशु को मच्छर ज्यादा काटने की एक वजह घर के आस-पास गंदगी होना हो सकता है।
  • पसीने की गंध- पसीने की गंध छोटे बच्चों को मच्छर काटने का एक प्रमुख कारण हो सकता है। दरअसल, एक शोध में साफतौर से इस बात का जिक्र मिलता है कि पसीने में लैक्टिक एसिड होता है, जिसके प्रति मच्छर काफी आकर्षित होते हैं (3)।
  • पूरे कपड़े न पहनना- बच्चे को पूरे कपड़े न पहनाना मच्छर काटने का अहम व आम कारणों में से एक है। ऐसा इसलिए क्योंकि बच्चे के पूरे कपड़े नहीं पहनाने पर मच्छरों के आकर्षित होने की संभावना बढ़ जाती है।
  • खुला खाना- घर में खाना खुला रखना मच्छरों के लिए एक तरह से न्यौता देना है। शोध की मानें तो बासी या खुले में रखे हुए खाने की ओर मच्छर ज्यादा आकर्षित होते हैं। ऐसे में बच्चों को मच्छर काटने का एक कारण उनके आस-पास रखा खाना हो सकता है (2)।
  • कमरे में नमी होना- शोध में पता चलता है कि वर्षा और नमी मलेरिया के फैलने के प्रमुख कारण हैं (4)। ऐसे में घर में नमी, सीलन, छत से पानी टपकना आदि से मच्छरों का प्रकोप बढ़ सकता है। इस तरह बच्चों में मच्छर काटने का एक कारण घर में नमी हो सकता है।
  • सुगंधित तेल या क्रीम का उपयोग- बच्चों को मच्छर काटने का एक कारण सुगंधित तेल या क्रीम का इस्तेमाल करना हो सकता है। दरअसल, माना जाता है कि बच्चों को सुगंधित उत्पाद लगाने से उनकी तरफ मच्छर ज्यादा मंडराते लगते हैं। हालांकि इसपर और शोध की जरूरत है।
  • बिना मच्छरदानी के सुलाना- बच्चे को सुलाते समय मच्छरदानी का प्रयोग नहीं करना, यह भी शिशु को मच्छर काटने की एक वजह मानी जा सकती है।

आगे जानते हैं कि मच्छरों के काटने से शिशु को क्या-क्या परेशानियां हो सकती हैं।

शिशु को मच्छर के काटने से होने वाले जोखिम

मच्छर कई बीमारियों के वाहक होते हैं, जो छोटे बच्चों के लिए घातक साबित हो सकता है। यहां जानते हैं कि मच्छरों के काटने से कौन-कौन सी बीमारियां हो सकती हैं (5)।

  1. चिकनगुनिया- मच्छर के काटने से चिकनगुनिया का जोखिम हो सकता है। यह एक वायरल संक्रमण है, जिसमें बुखार और जोड़ों के दर्द जैसे लक्षण होते हैं। ये लक्षण आमतौर पर लगभग एक हफ्ते तक रहते हैं, लेकिन कभी-कभी जोड़ों का दर्द महीनों तक रह सकता है।
  1. डेंगू- मच्छर काटने से डेंगू की शिकायत हो सकती है। इस संक्रमण में तेज बुखार, सिरदर्द, जोड़ों और मांसपेशियों में दर्द, उल्टी और दाने हो सकते हैं। कभी-कभी डेंगू गंभीर रूप ले सकता है व जानलेवा साबित हो सकता है।
  1. मलेरिया- शिशुओं में मच्छर के काटने से मलेरिया होने की संभावना अधिक हो सकती है। यह एक परजीवी बीमारी है, जिसमें तेज बुखार, कंपकंपी, ठंड लगना और फ्लू जैसे लक्षण हो सकते हैं।
  1. वेस्ट नाइल वायरस (WNV)- मच्छर का काटना वेस्ट नाइल वायरस का कारण बन सकता है। इस संक्रमण में अक्सर कोई लक्षण नहीं होते हैं। जिन लोगों में लक्षण होते हैं, वे आमतौर पर हल्के होते हैं, जिसमें बुखार, सिरदर्द और मतली शामिल है। दुर्लभ मामलों में यह वायरस मस्तिष्क में प्रवेश कर सकता है।
  1. जीका वायरस- मच्छर के काटने से जीका वायरस हो सकता है। यह एक वायरल संक्रमण है, जिसके ज्यादातर मामलों में कोई लक्षण नजर नहीं आते हैं। जीका वायरस से संक्रमित पांच में से एक व्यक्ति में लक्षण मिलते हैं, जो आमतौर पर हल्के होते हैं। बुखार, दाने, जोड़ों में दर्द और गुलाबी आंख आदि जीका वायरस के लक्षण हैं।

लेख में आगे मच्छर के काटने के घरेलू उपचार के बारे में जानेंगे।

शिशु में मच्छर के काटने को ठीक करने के घरेलू उपाय

मच्छरों को काटने से शिशु को बचाना हर मां के लिए जंग लड़ने से कम नहीं होता। अगर मच्छर बच्चे को काट लेता है, तो निम्न घरेलू उपायों को अपनाकर ठीक किया जा सकता है (6)।

  1. त्वचा को साफ करना- मच्छर के काटने पर बच्चे को खुजली हो रही है, तो उसे ऐसा करने से रोकें। शिशु को जिस जगह मच्छर ने काटा है उस जगह को साबुन और पानी से अच्छे से धोएं।
  1. आइस पैक- सूजन और खुजली को कम करने के लिए 10 मिनट के लिए आइस पैक लगाएं। अगर जरूरत पड़े तो दोबारा भी आइस पैक लगा सकते हैं।
  1. बेकिंग सोडा- खुजली को कम करने के लिए बेकिंग सोडा और पानी का मिश्रण लगा सकते हैं। इसके लिए एक चम्मच बेकिंग सोडा में पानी मिलाकर पेस्ट बना लें और इसे मच्छर काटने वाली जगह पर लगाएं। 10 मिनट बाद पेस्ट साफ कर लें। वहीं, एक शोध में बताया गया है कि छोटे बच्चों के लिए बेकिंग सोडा का इस्तेमाल करना सुरक्षित हो सकता है।

अब आगे जानते हैं कि छोटे बच्चों को मच्छर काटने से कैसे बचाया जा सकता है।

छोटे बच्चों को मच्छरों के काटने से कैसे बचाएं | Shishu Ko Mosquito Bite Se Kaise Bachaye

छोटे बच्चों को मच्छरों से बचाना अपने आप में चुनौती है। यहां हम कुछ ऐसे तरीके बता रहे हैं, जिन्हें अपनाकर शिशु को मच्छरों से सुरक्षित रखा जा सकता है-

  • बच्चे को ढक कर रखें। बच्चों के लिए ऐसे कपड़ों का चयन करें जिसमें उनके हाथ पैर कवर हो (7)। बच्चे को बाहर लेकर जा रहे हैं, तो पूरी बाजू की शर्ट, फुल पैंट और मोजे पहनाएं। पतले कपड़े पहनने से मच्छर आसानी से काट सकते हैं।
  • बच्चे को मच्छरों से बचाने का एक तरीका यह है कि उनके पालने में मच्छरदानी का इस्तेमाल करें (7)।
  • मच्छरों से बचाव के लिए रेपेलेंट्स का प्रयोग करें। हालांकि, बच्चों की त्वचा पर सीधा इसका इस्तेमाल न करें। पहले अपने हाथ में रेपेलेंट को स्प्रे करें, तब बच्चे के मुंह पर लगाएं (7)।
  • इसके अलावा, सुनिश्चित करें कि रेपेलेंट में नींबू व नीलगिरी का तेल या पैरा-मेंथेन-डायोल न हो। साथ ही लेबल पर दिए गए निर्देशों का पालन जरूर करें (7)।
  • एलोवेरा जेल में जैतून का तेल मिलाकर शिशु को लगाएं। शोध में पता चलता है कि एलोवेरा जेल और जैतून के तेल के मिश्रण का इस्तेमाल मच्छर भगाने में मदद कर सकता है। इसे प्राकृतिक रेपेलेंट के तौर पर जाना जाता है (8)। वहीं, बच्चों के लिए एलोवेरा जेल और जैतून तेल का इस्तेमाल सुरक्षित माना जाता है (9) (10)।
  • अपने घर में मच्छरों को आने से रोकने के लिए खिड़कियों और दरवाजों को बंद रखें व नेट लगवाएं।
  • अपने घर के जल निकायों को ढक कर रखें।
  • घर और बच्चे की सफाई का खास ख्याल रखें।

आगे जानते हैं कि मच्छर के काटने के बाद किन परिस्थितियों में डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।

डॉक्टर से कब संपर्क करें

अगर मच्छर काट ले, तो घरेलु उपाय आजमाकर ठीक किया जा सकता है, फिर भी कुछ स्थितियों में डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए, जो कुछ इस प्रकार हैं (11) :

  • अगर सांस लेने में तकलीफ या घरघराहट की समस्या हो।
  • चेहरे पर या मुंह में कहीं सूजन आ जाए।
  • गले में जकड़न महसूस हो या निगलने में कठिनाई हो।
  • कमजोरी महसूस हो रही हो।
  • मच्छर के काटे हुए स्थान पर नीला दाग हो जाना।

मच्छरों की घुसपैठ हर घर में होती है। इनसे घबराने की नहीं, बल्कि सावधानी के साथ शिशु को बचाने की जरूरत है। छोटे बच्चे अपना बचाव खुद नहीं कर पाते, इसलिए उन्हें ज्यादा देखभाल की जरूरत होती है। उम्मीद है इस लेख के जरिए आपके मन में उठ रहे सवालों के जवाब आपको मिल गए होंगे। इस लेख में मच्छर काटने की पहचान, जोखिम और घरेलु उपाय से जुड़ी हर जरूरी जानकारी दी गई है। बच्चों से जुड़े ऐसे ही अन्य आर्टिकल पढ़ने के लिए मॉमजंक्शन की वेबसाइट से जुड़ें।

संदर्भ (Reference)

  1. Mosquito Bite Symptoms and Treatment
    https://www.cdc.gov/mosquitoes/mosquito-bites/symptoms.html
  2. Efficacy and safety of catnip (Nepeta cataria) as a novel filth fly repellent
    https://www.researchgate.net/publication/26772088_Efficacy_and_safety_of_catnip_Nepeta_cataria_as_a_novel_filth_fly_repellent
  3. Aedes aegypti Mosquitoes Detect Acidic Volatiles Found in Human Odor Using the IR8a Pathway
    https://www.sciencedirect.com/science/article/pii/S0960982219302155
  4. Species composition and temporal distribution of mosquito populations in Ibadan, Southwestern Nigeria
    https://www.researchgate.net/figure/Relationship-between-relative-humidity-and-mosquito-abundance_fig3_269767908
  5. Mosquito Bites
    https://medlineplus.gov/mosquitobites.html
  6. Mosquito Bite Symptoms and Treatment
    https://www.cdc.gov/mosquitoes/mosquito-bites/symptoms.html
  7. Prevent Mosquito Bites
    https://www.cdc.gov/mosquitoes/mosquito-bites/prevent-mosquito-bites.html
  8. Mixture of olive oil and Aloe vera gel: A natural mosquito repellent and a skin moisturizer collected from district Kohat, KP, Pakistan
    https://www.researchgate.net/publication/308632364_Mixture_of_olive_oil_and_Aloe_vera_gel_A_natural_mosquito_repellent_and_a_skin_moisturizer_collected_from_district_Kohat_KP_Pakistan
  9. Aloe-Vera: A Nature’s Gift to Children
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4968173/
  10. Olive Oil Sunflower Oil or no Oil for Baby Dry Skin or Massage: A Pilot, Assessor-blinded, Randomized Controlled Trial (the Oil in Baby SkincaRE [OBSeRvE] Study)
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/26551528/
  11. Insect bites and stings
    https://medlineplus.gov/ency/article/000033.htm
The following two tabs change content below.