शिशु के लिए खीरा (ककड़ी ): फायदे व रेसिपी | Shishu Ke Liye Cucumber

शिशु के लिए खीरा (ककड़ी ) फायदे व रेसिपी Shishu Ke Liye Cucumber

Image: Shutterstock

IN THIS ARTICLE

खीरे के गुणों के बारे में तो सभी जानते हैं। कोई सलाद के रूप में, तो कोई इसका रायता बनाकर खाना पसंद करता है, लेकिन जब बात शिशु की आती है तो महिलाएं दुविधा में पड़ जाती हैं कि छोटे बच्चों को खीरा दिया जाना चाहिए या नहीं। अगर दें भी, तो उसे देने का सही तरीका क्या होना चाहिए। इसके क्या दुष्परिणाम हो सकते हैं। मॉमजंक्शन के इस आर्टिकल में हम शिशु के लिए खीरे से जुड़े आपके इन्हीं सारे संशय को दूर करने का प्रयास करेंगे।

सबसे पहले जानते हैं कि खीरा शिशुओं के लिए सुरक्षित है या नहीं।   

क्या शिशु को खीरा खिलाना सुरक्षित है?

हां, छोटे बच्चों को खीरा खिलाया जा सकता है। एक शोध में स्पष्ट रूप से बताया गया है कि खीरे में जिंक की मात्रा पाई जाती है। यह प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाने के साथ प्रोटीन के संश्लेषण में सहायक हो सकता है। इसके अलावा, जिंक की कमी शिशुओं के शारीरिक विकास, तंत्रिका और प्रतिरक्षा कार्यों को प्रभावित कर सकती है (1)। ऐसे में शिशुओं के लिए खीरे का सेवन लाभकारी माना जा सकता है।

आगे जानते हैं कि छोटे बच्चों को ककड़ी का सेवन कब शुरू कराया जा सकता है।

छोटे बच्चे को ककड़ी कब से देना शुरू कर सकते है ?

शिशुओं के 6 महीने के बाद उन्हें कुछ-कुछ ठोस आहार देने की सलाह दी जाती है (2)। हालांकि, सीडीसी (Centers for Disease Control and Prevention) द्वारा जारी गाइडलाइन में एक साल से छोटे बच्चों को सख्त खाद्यों का सेवन कराने से परहेज करने की सलाह दी गई है, क्योंकि इससे चोकिंग यानी गले में खाना अटकने का खतरा अधिक हो सकता है (3)। वहीं, एक रिपोर्ट में भी एक साल के शिशु के डाइट चार्ट में ककड़ी को शामिल किया गया है (4)। ऐसे में माना जा सकता है कि बच्चे के एक साल के बोने के बाद उन्हें कद्दूकस या मैश किए हुए खीरे का सेवन कराया जा सकता है।

आगे जानते हैं कि खीरे में कौन-कौन से पोषक तत्व कितनी मात्रा में होते हैं।

खीरा में पाए जाने वाले पोषण तत्व

खीरे में पाए जाने वाले पोषक तत्व शिशु के विकास में सहायक हो सकते हैं। यहां हम 100 ग्राम खीरे में मौजूद पोषक तत्वों की जानकारी दे रहे हैं (5) 

  • 100 ग्राम खीरे में 96.7 ग्राम पानी, 10 केसीएएल ऊर्जा और 0.59 ग्राम प्रोटीन मौजूद होता है।
  • इसके अलावा, 100 ग्राम खीरा 2.16 ग्राम कार्बोहाइड्रेट, 1.38 ग्राम शुगर, 0.7 ग्राम फाइबर, 31 माइक्रोग्राम बीटा कैरोटी से समृद्ध होता है।
  • प्रति 100 ग्राम खीरा 14 मिलीग्राम कैल्शियम, 0.22 मिलीग्राम आयरन, 12 मिलीग्राम मैग्नीशियम, 21 मिलीग्राम फास्फोरस, 136 मिलीग्राम पोटेशियम, 0.071 मिलीग्राम कॉपर, 0.17 मिलीग्राम जिंक, 2 मिलीग्राम सोडियम और 0.1 माइक्रोग्राम सेलेनियम से भरपूर होता है।
  • विटामिन्स की बात करें, तो 100 ग्राम खीरे में 3.2 मिलीग्राम विटामिन-सी, 0.051 मिली ग्राम विटामिन बी-6, 14 माइक्रोग्राम फोलेट, 4 माइक्रोग्राम विटामिन ए और 7.2 माइक्रोग्राम विटामिन-के होता है।

आगे जानते हैं कि छोटे बच्चों को खीरा खाने से क्या-क्या फायदे हो सकते हैं।

शिशु के लिए खीरे के फायदे

नीचे हम क्रमवार तरीके से बच्चों के लिए खीरे के फायदे क्या हो सकते हैं, इससे जुड़ी जानकारी दे रहे हैं। 

  1. डिहाइड्रेशन से बचाए: बच्चों में कई बार दस्त व उल्टी की शिकायत के चलते डिहाइड्रेशन यानी पानी की कमी हो सकती है (6)। दरअसल, खीरे में 95 प्रतिशत पानी की मात्रा होती है, जिस वजह से यह शरीर को हाइड्रेट रख सकता है (5)। ऐसे में माना जा सकता है कि खीरे के सेवन से बच्चों में पानी की कमी का जोखिम कम हो सकता है।
  1. हड्डियों के लिए फायदेमंद : खीरा कैल्शियम और विटामिन-के से भरपूर होता है (5)। खीरे में पाए जाने वाले ये दोनों पोषक तत्व हड्डियों के स्वास्थ्य को बढ़ावा देने में सहायक भूमिका निभा सकते हैं। एक शोध में साफ तौर से बताया गया है कि विटामिन-के हड्डियों के स्वस्थ रखने के लिए महत्वपूर्ण पोषक तत्व में से एक है (7)

इसके अलावा, कैल्शियम हड्डियों को मजबूत बनाने में अहम भूमिका निभा सकता है (8)। इस तरह विटामिन-के और कैल्शियम की पूर्ति के लिए बच्चों के लिए खीरे का सेवन लाभकारी माना जा सकता है।

  1. कब्ज से राहत : छोटे बच्चों में कब्ज की समस्या होना सामान्य है, लेकिन कई बार यह बच्चे के लिए परेशानी का कारण हो सकती है (9)। ऐसे में कब्ज से बचाने के लिए बच्चे के आहार में खीरे को शामिल किया जा सकता है। दरअसल, खीरे में पर्याप्त मात्रा में पानी और फाइबर मौजूद होते हैं, जो पाचन तंत्र को दुरुस्त रखने में मददगार हो सकते हैं (10)

इसके अलावा एक शोध में बताया गया है कि खीरे में लैक्सेटिव प्रभाव होता है, जो कब्ज की समस्या से राहत प्रदान कर सकता है (11)। इस तरह बच्चों में पाचन क्रिया को मजबूत बनाने के लिए खीरे का सेवन गुणकारी हो सकता है।

  1. प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाए: छोटे बच्चों की रोग प्रतिरोधक क्षमता वयस्कों की तुलना में बहुत कमजोर होती है (12)। इससे संबंधित एक शोध की मानें तो खीरे में साइटोप्रोटेक्टिव प्रभाव होता है, जो आंतों में रक्त संचार को बढ़ावा देने के साथ प्रतिरक्षा प्रणाली को कमजोर बनाने वाले कारकों को दूर कर सकता है (13)। इस तरह छोटे बच्चों की इम्यूनिटी बूस्ट करने के लिए खीरे के फायदे देखे जा सकते हैं।
  1. मधुमेह के लिए: बच्चों में टाइप 1 डायबिटीज की समस्या को जुवेनाइल डायबिटीज (Juvenile diabetes) के नाम से जाना जाता है। ऐसी स्थिति में बच्चे का खास ख्याल रखने की जरूरत होती है (14)। वहीं, एक शोध में इस बात की पुष्टि की गई है कि खीरे में एंटी-डायबिटीक प्रभाव होता है, जो शरीर में ब्लड शुगर की मात्रा को नियंत्रित करने के साथ मधुमेह की रोकथाम (15)

लेख में आगे जानते हैं कि छोटे बच्चों को ककड़ी देते समय किन बातों का ध्यान रखना चाहिए।

शिशु को ककड़ी देते वक्त ध्यान रखने योग्य बातें

शिशुओं को खीरे का सेवन करते समय कुछ विशेष बातों का ध्यान रखना चाहिए। इसलिए, लेख में नीचे शिशु को ककड़ी देने से पहले किन बातों का ध्यान रखें, इससे जुड़ी जानकारी दे रहे हैं।

  • शिशु को खीरा देते समय इस बात का ख्याल रखें कि वह अच्छी तरह धुला हुआ हो।
  • शिशु को खाने के लिए खीरे का टुकड़ा देने की गलती न करें। कई बार यह बच्चे के गले में अटक सकता है।
  • छोटे बच्चों को हमेशा खीरे का छिलका उतारकर कद्दूकस करके दें। चाहें तो प्यूरी या सूप भी दे सकते हैं।
  • कुछ खीरे कड़वे होते हैं, जो विषाक्तता का कारण बन सकते हैं (16)। इसलिए, बच्चे को खीरा खिलाने से पहले खुद चख लें।
  • कोशिश करें कि शुरुआत के महीनों में बच्चे को उबला हुआ खीरा खिलाएं। उबालने से बैक्टीरिया खत्म होने की संभावना बढ़ जाती है।

अब जानते हैं, खीरे की कुछ सेहतमंद रेसिपीज।

शिशुओं के लिए खीरे की रेसिपी

बच्चों को खीरे का सेवन अलग-अलग तरीकों से कराया जा सकता है। यहां हम बच्चों के लिए खीरे से बनाई जाने वाली कुछ स्वादिष्ट रेसिपी के बारे में बता रहे हैं, जो कुछ इस प्रकार हैं:

1. खीरे की प्यूरी

शिशु के लिए खीरा (ककड़ी ) फायदे व रेसिपी Shishu Ke Liye Cucumber

Image: Shutterstock

सामग्री: 

  • एक छोटा खीरे का टुकड़ा (उबला हुआ)
  • पानी- एक छोटा कप
  • नमक- चुटकी भर (वैकल्पिक) 

विधि: 

  • उबले हुए खीरे को चम्मच की सहायता से मैश कर लें।
  • चाहें तो मिक्सर का इस्तेमाल कर इसका पेस्ट बना सकते हैं।
  • अब इसमें चुटकी भर नमक डालें।
  • तैयार हो गई खीरे की प्यूरी। चम्मच की सहायता से शिशु को इसका सेवन कराएं।

2. खीरे की लस्सी

शिशु के लिए खीरा (ककड़ी ) फायदे व रेसिपी Shishu Ke Liye Cucumber

Image: Shutterstock

सामग्री: 

  • एक छोटा खीरा
  • एक चम्मच दही
  • एक चुटकी हींग
  • चुटकी भर नमक
  • आधा कप पानी 

विधि:

  • खीरा धोकर छील लें।
  • इसे छोटे-छोटे टुकड़ों में काट लें।
  • इसके बाद खीरे के बीज निकाल लें।
  • फिर मिक्सर में खीरा, दही, हींग, पानी, नमक डालकर अच्छे से ब्लेंड कर लें।
  • लीजिए तैयार है शिशु के लिए खीरे की लस्सी।

3. ककड़ी और तरबूज की प्यूरी

शिशु के लिए खीरा (ककड़ी ) फायदे व रेसिपी Shishu Ke Liye Cucumber

Image: Shutterstock

सामग्री 

  • एक टुकड़ा छिला हुआ खीरा
  • दो चम्मच कटा हुआ तरबूज
  • नमक- एक चुटकी (वैकल्पिक)

विधि-

  • खीरा को छीलकर उबाल लें।
  • मिक्सर में खीरा और तरबूज को डालकर ब्लेंज कर लें।
  • अब इसमें नमक डालें और मिलाकर कटोरी में निकाल लें।
  • इसे चम्मच की सहायता से शिशु को धीरे-धीरे पिलाएं।

उम्मीद करते हैं कि इस लेख को पढ़ने के बाद शिशुओं के लिए खीरे के सेवन से जुड़े आपके सवालों के उत्तर मिल गए होंगे। इस आर्टिकल में हमने शिशुओं को खीरा खिलाने के फायदों और सावधानियों पर चर्चा की। साथ ही बच्चों के लिए खीरे से तैयार स्वादिष्ट रेसिपी भी साझा की हैं। तो, सोच क्या रहे हैं, अब बेझिझक बच्चे के आहार में खीरे को शामिल करें। साथ ही खीरे का सेवन कराने के शुरुआती दिनों में बच्चों पर ध्यान रखें, जिससे एलर्जी संबंधित परेशानी हो, तो उसका वक्त पर पता लगाया जा सके।

References:

MomJunction's articles are written after analyzing the research works of expert authors and institutions. Our references consist of resources established by authorities in their respective fields. You can learn more about the authenticity of the information we present in our editorial policy.
  1. Nutritional Bioactive Compounds and Health Benefits of Fresh and Processed Cucumber (Cucumis Sativus L.)
    https://www.researchgate.net/publication/344270982_Nutritional_Bioactive_Compounds_and_Health_Benefits_of_Fresh_and_Processed_Cucumber_Cucumis_Sativus_L
  2. Breastfeeding – deciding when to stop
    https://www.betterhealth.vic.gov.au/health/HealthyLiving/breastfeeding-deciding-when-to-stop
  3. Choking Hazards
    https://www.cdc.gov/nutrition/infantandtoddlernutrition/foods-and-drinks/choking-hazards.html
  4. Feeding Guidelines for Infants and Young Toddlers: A Responsive Parenting Approach
    https://healthyeatingresearch.org/wp-content/uploads/2017/02/her_feeding_guidelines_report_021416-1.pdf
  5. Cucumber peeled raw
    https://fdc.nal.usda.gov/fdc-app.html#/food-details/169225/nutrients
  6. Pediatric Dehydration
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/books/NBK436022/
  7. Vitamin K and bone health
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/11684396/
  8. Calcium
    https://medlineplus.gov/calcium.html
  9. Constipation in infants and children
    https://medlineplus.gov/ency/article/003125.htm
  10. International Journal of Chemistry and Pharmaceutical Sciences
    https://www.pharmaresearchlibrary.com/wp-content/uploads/2014/04/IJCPS2001.pdf
  11. FIRST REPORT ON LAXATIVE ACTIVITY OF CUCUMIS SATIVUS
    https://globalresearchonline.net/journalcontents/v12-2/024.pdf
  12. Evolution of the immune system in humans from infancy to old age
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4707740/
  13. EVALUATING THE POTENTIAL BENEFITS OF CUCUMBERS FOR IMPROVED HEALTH AND SKIN CARE
    https://www.academia.edu/28634174/EVALUATING_THE_POTENTIAL_BENEFITS_OF_CUCUMBERS_FOR_IMPROVED_HEALTH_AND_SKIN_CARE
  14. Diabetes in Children and Teens
    https://medlineplus.gov/diabetesinchildrenandteens.html
  15. Phytochemical screening and in vitro antibacterial and anticancer activities of the aqueous extract of Cucumis sativus
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6408718/#__ffn_sectitle
  16. Cucurbitacins – An insight into medicinal leads from nature
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4441156/
The following two tabs change content below.