बच्चों की जीभ कैसे साफ करें: तरीके व सावधानियां | How To Clean Baby Tongue In Hindi

Image: Shutterstock

IN THIS ARTICLE

शिशु का जन्म होने के बाद से ही उसकी साफ-सफाई पर ध्यान देना जरूरी होता है। माता-पिता शिशु के शरीर की सफाई को लेकर तो सतर्क रहते हैं, लेकिन ओरल हेल्थ से जुड़ी जानकारी कम ही लोगों को होती है। खासकर, बच्चों की जीभ की सफाई कैसे करें, इससे पेरेंट्स अनजान होते हैं। इसी वजह से मॉमजंक्शन के इस आर्टिकल में हम बच्चों की जीभ साफ करने के तरीके और सावधानियां बता रहे हैं।

लेख के पहले भाग में हम बता रहे हैं कि शिशु की जीभ साफ करना क्यों जरूरी है।

बच्चों की जीभ साफ करने की आवश्यकता क्यों होती है?

शिशु की जीभ साफ करना क्यों जरूरी है, यह जानने के लिए लेख को आगे पढ़ें। विस्तार से इस विषय पर चर्चा की गई है।

1. ओरल हेल्थ के लिए

मुंह और जीभ की सफाई सही से न की जाए, तो ओरल हेल्थ की समस्या हो सकती है (1)। इससे बचाव करने के लिए बच्चों के मुंह और जीभ को दिन में दो बार साफ करें। साथ ही हल्के हाथों से बच्चों के मसूड़ों की मालिश भी कर सकते हैं। ऐसा करने से बच्चों के मसूड़े साफ व मजबूत होते हैं और मौखिक स्वास्थ्य बना रहता है (2)।

2. दूध की परत साफ करने के लिए

बच्चों के जन्म के बाद उन्हें पहले ही दिन से मां के दूध का सेवन कराया जाता है। स्तनपान के बाद बच्चों के मुंह में दूध लगा रह जाता है, जिसके कारण बैक्टीरिया पनप सकते हैं। यही नहीं, दूध पीने के बाद बच्चे का मुंह साफ न किया जाए, तो मुंह से बदबू भी आने लगती है। ऐसे में दूध की परत हटाने के लिए जीभ साफ करना जरूरी है।

3. मुंह के छाले

ओरल थ्रश यानी मुंह के छाले होना शिशुओं में आम है। यह संक्रमण शिशुओं की जीभ और मुंह में हो सकता है। इसी वजह से बच्चे की जीभ और मुंह को साफ रखना जरूरी है। दरअसल, शिशु के मुंह में कैंडिडा अल्बिकंस नामक यीस्ट जब बढ़ जाता है, तो बच्चों को ओरल थ्रैस्ट होने की अशंका बढ़ सकती है (3)। बस तो बच्चे की जीभ साफ करके उसे ओरल थ्रश से बचाया जा सकता है।

आइए, अब बच्चों की जीभ साफ करने के तरीके जानते हैं।

बच्चों की जीभ कैसे साफ करें? | How To Clean Tongue Of A Baby Step By Step Guide

शिशु की जीभ साफ करने का तरीका हम नीचे क्रमवद्ध बता रहे हैं। इस तरीके को अपनाकर बच्चे की जीभ आसानी से साफ कर सकते हैं।

  • सबसे पहले अपने हाथों को अच्छे से साफ कर लें।
  • फिर एक साफ सूती के कपड़े को गुनगुने पानी मे भिगोकर निचोड़ लें।
  • इसके बाद अपनी तर्जनी (Index) उंगली में कपड़े को लपेट लें।
  • अब शिशु के मुंह को खोलकर तर्जनी उंगली को जीभ के पास ले जाकर गोल-गोल घुमाएं। इस दौरान शिशु के गले तक उंगली नहीं जानी चाहिए।
  • इस दौरान बच्चा हल्का रोना शुरू कर सकता है। ऐसे में उसे थपथपाकर चुप कराएं।
  • अगर बच्चे के दांत निकल आए हैं, तो जीभ के साथ ही कपड़े से दांतों को भी साफ कर लें।
  • इसी तरह हल्के उसके मसूड़ों पर कपड़ा फेर लें।
  • जीभ साफ करते वक्त देखें कि शिशु के जीभ पर सफेद छाले हैं या नहीं। ऐसा होने पर शिशु को ओरल थ्रश की शिकायत हो सकती है (3)। ऐसी स्थिति में डॉक्टर से सलाह लें।
  • इसी तरह प्रतिदिन शिशु की जीभ और मुंह की सफाई की जा सकती है। इस प्रक्रिया को दिन में दो बार करें।
  • शिशु अगर थोड़ा बड़ा हो गया है, तो डॉक्टर के परामर्श पर जीभ साफ करने के लिए टंग क्लीनर का उपयोग कर सकते हैं।

नीचे शिशु की जीभ साफ करने के लिए क्लीनर का इस्तेमाल करना चाहिए या नहीं, यह समझिए।

क्या शिशु की जीभ साफ करने के लिए क्लीनर की जरूरत होती है?

शिशु की जीभ बेहद मुलायम और संवेदनशील होती है। इस कारण टंग क्लीनर का इस्तेमाल करने से बचना चाहिए। टंग क्लीनर से बच्चों की जीभ कटने और छीलने का जोखिम हो सकता है। इस आधार पर यह कहना गलत नहीं होगा कि बच्चों के लिए टंग क्लीनर का इस्तेमाल करना सुरक्षित नहीं होता है।

आगे जानिए कि शिशु की मुंह के किटाणुओं को किस तरह से खत्म कर सकते हैं।

शिशुओं के मुंह के कीटाणु मारने का तरीका

शिशुओं के मुंह के कीटाणु मारने से पहले यह समझना जरूरी है कि उनका मुंह काफी कोमल होता है, इसलिए उनके लिए किसी भी तरह के माउथ वॉश का इस्तेमाल करने की सलाह नहीं दी जाती है। शिशुओं के मुंह के कीटाणु मारने के लिए सिर्फ पानी और कॉटन क्लोथ का इस्तेमाल किया जाना चाहिए। इस कॉटन क्लोथ को हल्के हाथों से उसके मुंह के अंदर फेर सकते हैं। साथ ही पानी में कॉटन क्लोथ को भिगोकर शिशु के मसोड़े और जीभ भी साफ कर सकते हैं।

यहां बच्चों की जीभ साफ करने से पहले बरतने वाली सावधानियां पढ़ें।

शिशु की जीभ साफ करने से पहले की सावधानियां

शिशु की संवेदनशील और नरम जीभ साफ करने से पहले कुछ सावधानियां बरतना बेहद जरूरी है। हम नीचे इसी के बारे में बता रहे हैं।

  • शिशु की जीभ की सफाई करने के लिए नाखूनों का कटा होना आवश्यक है। नाखून से उनकी त्वचा छिलने की आशंका अधिक रहती है।
  • हमेशा जीभ साफ करने के लिए सूती के साफ कपड़े का ही इस्तेमाल करें।
  • शिशु के मुंह की सफाई करने से पहले अपने हाथों को अच्छे से साबुन से साफ कर लें।
  • शिशु के जीभ की सफाई करते समय उसके साथ जबरदस्ती न करें। ऐसा करने से उन्हें चोट लग सकती है।
  • यह भी ध्यान रखें कि बच्चे के मुंह में ज्यादा जोर से कपड़ा नहीं फेरना चाहिए। इससे उन्हें दर्द हो सकता है।
  • बच्चे के मुंह की सफाई करते हुए बिल्कुल भी जल्दबाजी न करें। ऐसा करने से उन्हें चोट लग सकती है।
  • टूथब्रश का उपयोग एक साल से कम उम्र के बच्चों के लिए नहीं करना चाहिए। तर्जनी उंगली से ही शिशु के मुंह को आराम से साफ करें।

बच्चों की जीभ साफ करना उनकी सेहत के लिए कितना जरूरी है, इसका जिक्र हम ऊपर कर ही चुके हैं। बस उसकी जीभ साफ करते वक्त लेख में बताए गए तरीके और सावधानियों का विशेष ध्यान रखें। इसके अलावा, कोई भी समस्या हो, तो बच्चे को डॉक्टर के पास जरूर ले जाएं। हम उम्मीद करते हैं यह लेख आपके लिए ज्ञानवर्धक रहा होगा। शिशु से जुड़ी इसी तरह की अन्य जानकारी के लिए मॉमजंक्शन के दूसरे लेख पढ़ें।

References:

MomJunction's health articles are written after analyzing various scientific reports and assertions from expert authors and institutions. Our references (citations) consist of resources established by authorities in their respective fields. You can learn more about the authenticity of the information we present in our editorial policy.