घर पर बच्चों के लिए स्लाइम (Slime) कैसे बनाएं? | Bachon Ko Slime Se Khelne Ke Fayde

Image: Shutterstock

IN THIS ARTICLE

छोटे बच्चों के बीच स्लाइम काफी प्रसिद्ध है। यह छूने में मुलायम और रबर की तरह होती है। इसका कोई निश्चित आकार नहीं होने से बच्चे की रचनात्मकता में बढ़ोतरी करती है। माता-पिता बच्चों के इसके इस्तेमाल को लेकर काफी गंभीर रहते है। मॉमजंक्शन के इस आर्टिकल में हम जानते हैं कि बच्चों के लिए स्लाइम कितना सेफ है और कैसे इसका इस्तेमाल किया जा सकता है।

सबसे पहले पढ़ें कि स्लाइम क्या है।

स्लाइम क्या है?

स्लाइम एक ऑर्गेनिक कंपांउड और आइसोथियाजोलिन केमिकल का जेली रूप है (1)। यह खिलौना के रूप में इस्तेमाल किया जाने वाला एक चिपचिपा पदार्थ है, जो हाल के वर्षों में बच्चों के साथ बहुत लोकप्रिय हो गया है। स्कूल कैंप, प्ले सेंटर और यहां तक ​​कि घर पर भी स्लाइम बनाना एक आम प्रयोग है। इसे डिटर्जेंट, सफेद गोंद, शेविंग फोम और कॉन्टैक्ट लेंस समाधान जैसे रोजमर्रा के उत्पादों को मिलाकर इंटरनेट पर उपलब्ध विडियो के जरिए बनाया जा सकता है (2)।

क्या बच्चों को स्लाइम से खेलना चाहिए या नहीं, अब इसके बारे में भी पढ़ें।

क्या स्लाइम बच्चों के खेलने के लिए सुरक्षित है?

हां, बच्चों के खेल में स्लाइम का इस्तेमाल करना सुरक्षित माना जा सकता है। इसे आसानी से घर पर भी बनाया जा सकता है (3)। हालांकि, कुछ मामलों में बच्चों के लिए स्लाइम से खेलना कुछ नुकसान से भी जुड़ा हो सकता है (4)। यानि अगर स्लाइम बनाने में किसी तरह के हार्ड केमिकल या त्वचा में जलन व सूजन करने वाले उत्पाद मिलाएं जाएं, तो यह बच्चों में त्वचा से जुड़ी समस्या का कारण भी बन सकता है।

ऐसे में माना जा सकता है कि बच्चों के लिए स्लाइम से खेलना पूरी तरह से स्लाइम बनाने वाले उत्पाद की गुणवत्ता पर निर्भर करता है। इसलिए, बच्चों के लिए स्लाइम खरीदने से पहले उसकी गुणवत्ता की जांच जरूर करें।

आगे हमनें बच्चों को स्लाइम से खेलने के फायदे भी बताए हैं।

बच्चों को स्लाइम से खेलने के फायदे | Bachon ko slime se khelne ke fayde

बच्चों को स्लाइम से खेलने के फायदे कई हैं, जिनके बारे में आप नीचे पढ़ेंगे।

  1. विज्ञान और गणित की जानकारी : स्लाइम छोटे स्तर पर बच्चों को विज्ञान और गणित से रूबरू कराता है। बच्चे देखकर सीख सकते हैं कि कैसे विज्ञान और गणित के सटिक अनुपात से मनोरंजन का साधन बनाया जा सकता है।
  2. रचनात्मकता को बढ़ावा : स्लाइम से खेलने से बच्चे अपने हाथों और उंगलियों में निपुणता और ताकत में सुधार कर सकते हैं। बच्चों की पार्टी में मनोरंजन के लिए यह एक बेहतर ऑप्शन साबित हो सकता है।
  3. आत्मविश्वास में बढ़ोतरी : बच्चे स्लाइम से हर तरह की आकृतियां बना सकते हैं। इसके जरिए बच्चे छोटे प्रोजेक्ट्स पूरा करते हैं, जिससे उनका आत्मविश्वास बढ़ता है और बच्चे संतुष्टि की भावना महसूस कर सकते हैं।
  4. अकेले खेलने की आदत : स्लाइम से बच्चा ग्रुप में तो खेल ही सकता है, साथ ही अकेले भी व्यस्त रह सकता है। यह उसके भावनात्मक आत्मनिर्भरता को बढ़ावा देता है। बच्चों को अपने स्वयं के मनोरंजन का कार्यभार संभालने देने से उनका आत्मविश्वास बढ़ता है और स्वयं को अभिव्यक्त करने का अवसर मिलता है।

अब हम बच्चों को स्लाइम से खेलने के नुकसान से जुड़ी बातें भी बता रहे हैं।

बच्चों को स्लाइम से खेलने के नुकसान

कुछ मामलों में बच्चों को स्लाइम से खेलने के नुकसान भी देखे जा सकते हैं। यही वजह है ही बच्चों को खेलने के लिए स्लाइम देने से पहले इसके नुकसान की भी जानकारी जरूर रखें।

  • स्लाइम में मुख्यतौर पर दो चीजें इस्तेमाल होती है, एक ग्लू और दूसरा एक्टिवेटर। ज्यादातर एक्टिवेटर बोरेक्स,जो कि एक प्राकृतिक खनिज है, उसके यौगिकों जैसे कि सोडियम टेट्राबोरेट और बोरिक एसिड से बने होते हैं। ऐसे में यह बच्चों के लिए नुकसानदायक साबित हो सकते हैं।
  • स्लाइम बनाने के दौरान इसमें इस्तेमाल होने वाला बोरेक्स बच्चों की त्वचा में जलन पैदा कर सकता है। शोध में सामने आया है कि इसके इस्तेमाल से त्वचा में सूजन और जलन की शिकायत हो सकती है (4)।
  • स्लाइम एक विज्ञान का प्रयोग है, इसीलिए इस बात को नकारा नहीं जा सकता है कि इससे बच्चों को नुकसान पहुंच सकता है। ऐसे में स्लाइम बनाने को दौरान बच्चों के साथ रहना जरूरी हो जाता है। बच्चे इसे मुंह में डाल सकते हैं, जो उन्हें हानि पहुंचा सकता है।

बच्चों के लिए स्लाइम बनाते समय ध्यान रखने वाली जरूरी बातों को भी पढ़ें।

स्लाइम (Slime) बनाने के दौरान बरती जाने वाली सावधानियां

अगर आप घर पर ही अपने बच्चे के लिए स्लाइम बनान चाहती हैं, तो इसे बड़ी ही आसानी के साथ बना सकती हैं। हालांकि, इस दौरान आपको कुछ बातों का विषेश ध्यान भी रखान चाहिए, जैसे:

  • स्लाइम बच्चों के हाथों के संपर्क में आने के बाद त्वचा पर धब्बे और जलन पैदा कर सकते हैं। ऐसे में जरूरी है कि खेलने के दौरान बच्चों को दास्ताने पहना दें।
  • स्लाइम बनाने में बोरेक्स फ्री सामान का उपयोग करने के बाद भी यह जरूर ध्यान रखें कि बच्चा हाथ अच्छे से धोए। उसके हाथ में स्लाइम या कलर न रहे।
  • कई बार कलरफुल या ग्लिटर युक्त स्लाइम से खेलने के दौरान बच्चे मुंह में डाल लेते हैं। उन्हें मना करें और समझाएं कि यह खाने की चीज नहीं है। इससे नुकसान हो सकता है।
  • बच्चा जब खेल लें तो उसके बाद स्लाइम को एयर टाइट बर्तन या पाउच में पैक करें। इससे यह ज्यादा समय तक स्ट्रेची बना रहता है।
  • बच्चे खेलने के दौरान स्लाइम कपड़ों पर गिरा देते हैं। इस दौरान ध्यान रखें कि कपड़ों पर दाग लग जाते हैं। उन्हें तुरंत धो दें।

घर पर बच्चों के लिए स्लाइम कैसे बनते हैं, यह भी जान लें।

घर पर बच्चों के लिए बिना बोरेक्स के स्लाइम कैसे बनाएं?

अगर घर पर बिना बोरेक्स के स्लाइम बनाना चाहती हैं, तो बोरेक्स की जगह पॉलीविनाइल अल्कोहल, बेकिंग सोडा, दूध या कॉर्नस्टार्च मिलाने की सलाह दी जाती है (3)। यहां हम बता रहे हैं कुछ ऐसे तरीके जिन्हें अपनाकर आप बोरेक्स से लाडले को सुरक्षित रख सकती हैं।

1. सोप फ्लेक स्लाइम बनाना

सामग्री:

  • 4 कप गुनगुना पानी
  • 1 कप फ्लेक्स सोप
  • रंग देने के लिए मनपसंद फूड कलर

बनाने का तरीका:

  • एक बड़े बाउल में 4 कप गुनगुने पानी में 1 कप फ्लेक्स सोप मिलाएं। अब फ्लेक्स घुलने तक चम्मच से अच्छे से मिलाते रहें।
  • इसमें फूड कलरिंग की कुछ बूंदें मिला सकती हैं। हालांकि यह वैकल्पिक है, लेकिन स्लाइम को कलरफुल बना देता है।
  • अब करीब एक घंटे तक मिक्सचर को एक घंटा तक रहने दें। इससे मिक्सचर उपयुक्त कंसिस्टेंसी तक पहुंच जाएगा।
  • एक घंटे बाद मिक्सचर को लगातार फेंटें। फेंटने से उसमें झाग बनना शुरू होगा। इसे उठाने पर आसानी से गिरना शुरू हो जाएगा और छूने पर ज्यादा स्लाइमी लगे तो तब समझें कि यह सही कंसिस्टेंसी पर पहुंच गया है।
  • इस स्लाइम को एक एयरटाइट कंटेनर में अच्छी तरह से रखी रह सकती है। उसे सीधी धूप और गर्मी से दूर रखें।

2. बेबी पाउडर स्लाइम

सामग्री:

  • 1 कप पीएवी गोंद
  • रंगने के लिए फूल कलर
  • आधा कप बेबी पाउडर

बनाने का तरीका:

  • एक बाउल में आधा कप पीएवी (PAV) ग्लू निकाल लें।
  • अब इसमें फूड कलरिंग की एक या दो बूंदें मिला लें।
  • कलर को एक-समान मिलाने और फैलाने के लिए अच्छे से मिक्स करें।
  • आधा कप बेबी पाउडर मिलाएं। स्लाइम की कंसिस्टेन्सी में पहुंचने तक मिलाते रहें।
  • तैयार है घर पर बना स्लाइम। इसे बच्चे को खेलने को दें। इसके बाद एक एयरटाइट कंटेनर में स्टोर कर दें।

3.कॉर्नस्टार्च और शैम्पू स्लाइम

सामग्री:

  • 1 कप पानी
  • रंगने के लिए फूल कलर
  • 2 कप कॉर्नस्टार्च

बनाने का तरीका:

  • एक छोटे पैन में 1 कप पानी लेकर गुनगुना गर्म कर लें।
  • अब इसमें 3-4 बूंद फूड कलरिंग की मिला लें।
  • अब कॉर्नस्टार्च की 2 कप मात्रा लेकर दूसरे बाउस में रख लें।
  • कलर वाले पानी को कॉर्नस्टार्च वाले बाउल में धीरे-धीरे डालें। सभी को उंगलियों से एकसाथ मिक्स कर लें। मिक्स्चर को तब तक मिलाते रहें जब तक यह गाढ़े पेस्ट की कंसिस्टेन्सी में न आ जाए।
  • अगर स्लाइम बहुत पतली है, तो उसमें थोड़ा और कॉर्नस्टार्च मिला सकते हैं। अगर मिक्स्चर बहुत गाढ़ा है, तो फिर उसमें थोड़ा सा और गुनगुना पानी डाल दें।
  • उसे सुरक्षित रखने के लिए, बैग को अच्छे से सील करें।

बच्चे के लिए स्लाइम बनाना मनोरंजक खेल हो सकता है। ये आपके बच्चे के खेलने के लिए उसका पसंदीदा खिलौना भी हो सकता है। बस जरूरत है थोड़ी सावधानी और देखरेख की। ऐसे ही आर्टिकल पढ़ने के लिए जुड़ें मॉमजंक्शन की वेबसाइट से।

References (संदर्भ)

The following two tabs change content below.