Fact Checked

क्या शिशुओं को दालचीनी देना सुरक्षित है? फायदे व नुकसान | Bachoo Ko Dalchini Kaise De Sakte Hain

Bachoo Ko Dalchini Kaise De Sakte Hain

Image: Shutterstock

IN THIS ARTICLE

दालचीनी को स्वास्थ्य के लिए वरदान समान माना जाता है, लेकिन शिशुओं के लिए दालचीनी कितनी सुरक्षित है, यह अधिकतर पेरेंट्स को पता नहीं होता। अगर आपके मन में भी यह सवाल है कि बच्चे के लिए दालचीनी का सेवन सेहतमंद है या नहीं, तो मॉमजंक्शन के इस लेख से आप दालचीनी से जुड़ी हर जानकारी हासिल कर सकते हैं। यहां हम दालचीनी का सेवन करने की सही उम्र, मात्रा के साथ ही शिशुओं को दालचीनी से मिलने वाले फायदे बताएंगे। साथ ही आप यह भी जान पाएंगे कि दालचीनी के सेवन से बच्चे को कोई नुकसान तो नहीं होता। फिर अंत में हम बच्चे की डाइट में दालचीनी को शामिल करने के टिप्स शेयर करेंगे।

सबसे पहले यह जान लेना जरूरी है कि बच्चों के लिए दालचीनी का सेवन कितना सुरक्षित है।

क्या शिशुओं को दालचीनी देना सुरक्षित है?

हां, दालचीनी को सीमित मात्रा में बच्चों को दे सकते हैं। शिशुओं को दिए जाने वाले खाद्य पदार्थों से संबंधित स्वास्थ्य आंकलन की मानें, तो दालचीनी को मसाले के रूप में कभी-कभी शिशुओं को देना सुरक्षित हो सकता है। इस आंकलन के दौरान शिशुओं को सीमित मात्रा में दालचीनी देने से किसी तरह का साइड इफेक्ट नहीं पाया गया (1)। फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन का भी कहना है कि दालचीनी सुरक्षित फूड श्रेणी में आती है (2)। इसी आधार पर कहा जा सकता है कि दालचीनी शिशुओं के लिए सुरक्षित है। बस लंबे समय तक शिशु को दालचीनी देने से बचें और इसकी मात्रा का भी खास ख्याल रखें।

लेख के इस भाग में जानिए कि बच्चा दालचीनी का सेवन कब कर सकता है।

बच्चों को दालचीनी कब से देना शुरू करें?

छह महीने के शिशु के लिए मां के दूध को ही सबसे पौष्टिक और सेहतमंद आहार माना गया है। हां, छह महीने के बाद शिशु को ठोस पदार्थ देते समय उसके आहार में सीमित मात्रा में यानी मसाले के रूप में दालचीनी को मिलाया जा सकता है। हालांकि, इससे जुड़े सटीक वैज्ञानिक शोध का अभाव है। ऐसे में बच्चे की डाइट में दालचीनी को शामिल करने से पहले बाल रोग विशेषज्ञ से परामर्श जरूर करें।

आगे हम बच्चों को दालचीनी से होने वाले स्वास्थ्य लाभ के बारे में बता रहे हैं।

शिशुओं के लिए दालचीनी के स्वास्थ्य संबंधी लाभ | Bachoo Ke Liye Dalchini Ke Fayde

डॉक्टर द्वारा सलाह लेकर एक निश्चित उम्र के बाद बच्चों के आहार में दालचीनी को शामिल करना उनके स्वास्थ्य के लिए लाभकारी हो सकता है। बच्चों को कब दालचीनी देना है यह तो आप ऊपर जान ही चुके हैं। अब इसके फायदों के बारे में आगे विस्तार से जानिए।

  1. इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए : दालचीनी गुणों की खान है। इसमें इम्यूनोमॉड्यूलेटरी प्रभाव होता है, जो शिशु की इम्यूनिटी को बढ़ाने में मदद कर सकता है (3)। दालचीनी से इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाने के साथ ही कई बैक्टीरियल और वायरल इंफेक्शन से बचाव भी हो सकता है। रिसर्च के अनुसार, दालचीनी में एंटी फंगल गतिविधि होती है, जो फंगल इंफेक्शन से शिशु को बचा सकती है (4)
  1. मस्तिष्क के लिए: दालचीनी में मौजूद फाइटोकेमिकल्स ग्लूकोज का इस्तेमाल करने की मस्तिष्क की क्षमता को बढ़ा सकते हैं (5)। इसके अलावा, माना जाता है कि दालचीनी से याददाश्त भी बढ़ सकती है। इस संबंध में चूहों पर हुए एक शोध के अनुसार, दालचीनी के सेवन से नई चीजों को सीखने की क्षमता बढ़ सकती है और याददाश्त पर भी सकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है (6)
  1. सामान्य दर्द से राहत के लिए: दालचीनी हल्के दर्द को दूर करने में सहायक हो सकती है। रिसर्च के अनुसार, सामान्य दर्द और दांतों से संबंधित दर्द से राहत दिलाने में दालचीनी अहम भूमिका निभा सकती है (7)। दरअसल, दालचीनी में एनाल्जेसिक यानी दर्द निवारक प्रभाव होता है, जिसके कारण यह दर्द को कुछ कम कर सकती है (8)। ध्यान दें कि किसी भी घरेलू उपाय को करने से पहले एक बार चाइल्ड स्पेशलिस्ट से सलाह लेना जरूरी है।
  1. कोल्ड और फ्लू: अगर बच्चे को कोल्ड या फ्लू है, तो दालचीनी के इस्तेमाल से राहत मिल सकती है। बताया जाता है कि कोल्ड और फ्लू की समस्या होने पर दालचीनी घरेलू दवा की तरह काम कर सकती है (9)। कोल्ड और फ्लू से राहत पाने के लिए दालचीनी के पाउडर को कुछ लोग शहद के साथ बच्चे को देते हैं। ऐसा करते समय ध्यान दें कि शहद का इस्तेमाल एक साल से कम उम्र के बच्चों के लिए नहीं करना चाहिए।
  1. पाचन तंत्र संबंधी परेशानी के लिए: दालचीनी का उपयोग पाचन तंत्र संबंधी परेशानियों के लिए सालों से किया जा रहा है। बताया जाता है कि दालचीनी का सेवन करने से अपच, पेट फूलना, पेट में ऐंठन और डायरिया की समस्या से राहत मिल सकती है (10)। इसी आधार पर कहा जा सकता है कि दालचीनी को बच्चों के आहार में शामिल करके पाचन तंत्र से जुड़ी समस्याओं को कुछ कम किया जा सकता है।
  1. ड्राई माउथ (मुंह सूखने की समस्या): बच्चों में ड्राई माउथ यानी मुंह सूखने की परेशानी से राहत पाने के लिए दालचीनी की चाय को माउथवॉश के तौर पर इस्तेमाल करने की सलाह दी जाती है। दालचीनी की चाय बनाने के लिए एक कप पानी में 1/4 छोटी चम्मच दालचीनी डालकर उबाल लें। फिर इसे ठंडा करके बच्चे का मुंह कुल्ला करवा सकते हैं (11)

अगले भाग में आप जानेंगे कि दालचीनी का सेवन करने से शिशु को क्या-क्या नुकसान हो सकते हैं।

शिशुओं को दालचीनी से होने वाले नुकसान

आमतौर पर दालचीनी का सेवन बच्चों के लिए सुरक्षित होता है, लेकिन संवेदनशील बच्चों को इससे नुकसान भी हो सकता है। अधिकतर मामलों में दालचीनी के नुकसान इसकी मात्रा ज्यादा होने पर ही नजर आते हैं। ये साइड इफेक्ट्स कुछ इस प्रकार हैं (12) (13) (14) (15)।

  • दालचीनी का एसिडिक नेचर दांतों की ऊपरी परत (इनेमल) को प्रभावित कर सकता है
  • गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल यानी पेट से संबंधित विकार
  • एलर्जिक रिएक्शन होना
  • लिवर से जुड़ी समस्याएं
  • ग्लूकोज का स्तर कम हो सकता है

लेख में आगे बढ़ते हुए दालचीनी का सेवन करने से शिशुओं में एलर्जी के बारे में पढ़िए।

शिशुओं को दालचीनी से एलर्जी

कुछ बच्चों को दालचीनी का सेवन करने से एलर्जी हो सकती है (13)। हालांकि, ऐसा बहुत कम देखने को मिलता है। ऐसा होने पर बच्चों में दालचीनी से एलर्जी के निम्न लक्षण नजर आ सकते हैं।

  • नाक बहना
  • सांस लेने में दिक्कत होना
  • आंखों का लाल होना
  • आंखों से पानी आना
  • बच्चों में उल्टी या जी मिचलाना की परेशानी होना
  • होंठों और जीभ पर सूजन आना

अब दालचीनी को सुरक्षित रखने के कुछ जरूरी टिप्स पर एक नजर डाल लें।

शिशुओं के लिए दालचीनी स्टोर करने के उपयोगी टिप्स

शिशुओं के लिए दालचीनी को नीचे बताए गए टिप्स के साथ स्टोर किया जा सकता है।

  • दालचीनी के स्वाद और रंग को बरकरार रखने के लिए इसके पैकेट को नमी, गर्मी, रोशनी और धूप से बचाकर रखें।
  • दालचीनी के पैकेट को खोलने के बाद एयर टाइट कंटेनर में सूखी जगह पर स्टोर करके रखें। नमी से बचाने से दालचीनी की फ्रेशनेस बरकरार रहेगी।

स्क्रॉल करके पढ़ें बच्चों के लिए दालचीनी के सेवन से जुड़ी सावधानियां।

छोटे बच्चे को दालचीनी देते समय क्या सावधानियां बरतें

छोटे बच्चों को दालचीनी देते समय निम्न बातों का ध्यान रखें:

  • अगर पहली बार बच्चे को दालचीनी दे रहे हैं, तो चाइल्ड स्पेशलिस्ट से परामर्श लें।
  • दालचीनी के फायदों को देखते हुए उसका अधिक मात्रा में इस्तेमाल न करें।
  • दालचीनी को बच्चे के आहार में मसाले के रूप में यानी एक चुटकी से भी कम उपयोग करें।
  • अगर बच्चे की कोई दवाई चल रही है, तो दालचीनी डॉक्टर की सलाह पर ही दें।
  • दालचीनी का सेवन करने से बच्चे में किसी तरह के एलर्जी के लक्षण नजर आएं, तो इसका सेवन तुरंत बंद कर दें और चिकित्सक से संपर्क करें।
  • बाजार में मिलने वाला दालचीनी पाउडर बच्चे को दे रहे हैं, तो उसके इस्तेमाल करने की तारीख जरूर देख लें।

आइए, अब दालचीनी को शिशु के आहार में शामिल करने के तरीके के बारे में जानते हैं।

शिशु के आहार में दालचीनी को शामिल करने के तरीके

शिशु के आहार में दालचीनी को कई तरीकों से शामिल किया जा सकता है। बच्चे के दलिया, स्मूदी, प्यूरी आदि में दालचीनी पाउडर का छिड़काव किया जा सकता है। नीचे हम बच्चे के आहार में दालचीनी को शामिल करने के ऐसे ही कुछ तरीके बता रहे हैं।

  • गाजर की प्यूरी में दालचीनी पाउडर डालकर बच्चे को खिला सकते हैं।
  • दूध में दालचीनी पाउडर का छिड़काव कर सकते हैं।
  • शकरकंदी को मैश करके उसमें थोड़ी सी दालचीनी मिलाकर बच्चे को दे सकते हैं।
  • क्विनोआ में दालचीनी पाउडर मिलाकर उसका स्वाद बढ़ा सकते हैं।
  • ओटमील में भी दालचीनी पाउडर को मिलाया जा सकता है।
  • घर पर तैयार किए गए बादाम के दूध में दालचीनी डालकर बच्चे को दे सकते हैं।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

क्या दांत निकलने के समय बच्चे को दालचीनी देना अच्छा होता है?

हां, जब बच्चे का दांत निकलता है, तो उसे दालचीनी देना अच्छा हो सकता है। इस दौरान बच्चे के मसूड़ों में दर्द, खुजली और सूजन होती है (16)। ऐसे में बच्चे को दालचीनी की स्टिक दे सकते हैं, जिसे चबाकर वो मसूड़ों की खुजली कम कर सकता है। साथ ही आप बच्चे के मसूड़ों में दालचीनी पाउडर भी लगा सकते हैं। दरअसल, दालचीनी में एंटी-इंफ्लामेटरी प्रभाव होता है (8)। इस प्रभाव को सूजन और दर्द कम करने के लिए जाना जाता है (17)। हालांकि, इससे संबंधित प्रत्यक्ष शोध की कमी है।

क्या बच्चों को दालचीनी का पानी दिया जा सकता है?

हां, दालचीनी का पानी बच्चों को दिया जा सकता है। दो से तीन साल के बच्चों की डाइजेशन संबंधित परेशानियों को दूर करने के लिए पानी में थोड़ी सी दालचीनी मिलाकर दे सकते हैं (10)। साथ ही दालचीनी के पानी का कुल्ला करने से मुंह सूखने की समस्या से भी शिशु और बच्चे दोनों को बचाया जा सकता है (11)

इस लेख को पढ़ने के बाद बच्चों की डाइट में दालचीनी शामिल करने से जुड़ी आपकी सभी शंकाएं दूर हो गई होंगी। बेशक, दालचीनी का सेवन बच्चों के लिए कई तरह से फायदेमंद है। बावजूद इसके बच्चों को सीमित मात्रा में ही दालचीनी देनी चाहिए, अन्य इसके नुकसान भी हो सकते हैं। इसी वजह से हमने लेख में दालचीनी से बच्चों को होने वाले नुकसान के बारे में भी बताया है। यदि इसका सेवन करने के बाद बच्चे को किसी तरह की परेशानी होती है, तो तुरंत डॉक्टर से चेकअप करवाएं। बच्चों के आहार से संबंधित ऐसे ही अन्य आर्टिकल पढ़ने के लिए मॉमजंक्शन की वेबसाइट पर विजिट करते रहें।

संदर्भ (References)

1. High daily intakes of cinnamon: Health risk cannot be ruled out By BFR
2. CFR – Code of Federal Regulations By FDA
3. Cinnamon and health By NCBI
4. CINNAMON: AN IMPERATIVE SPICE FOR HUMAN COMFORT By IJPRBS
5. Cinnamon: Mystic powers of a minute ingredient By NCBI
6. Cinnamon converts poor learning mice to good learners: Implications for memory improvement By NCBI
7. Cinnamon effects on metabolic syndrome: a review based on its mechanisms By NCBI
8. Anti-inflammatory and anti-arthritic activity of type-A procyanidine polyphenols from bark of Cinnamomum zeylanicum in rats By Science Direct
9. Beneficial Effects of Cinnamon on the Metabolic Syndrome, Inflammation, and Pain, and Mechanisms Underlying These Effects – A Review By NCBI
10. Cinnamon from the selection of traditional applications to its novel effects on the inhibition of angiogenesis in cancer cells and prevention of Alzheimer’s disease, and a series of functions such as antioxidant, anticholesterol, antidiabetes, antibacterial, antifungal, nematicidal, acaracidal, and repellent activities By NCBI
11. Nutrition Guidelines for HIV-Exposed and Infected Children By NACO
12. Effect of cinnamon extract solution on human tooth enamel surface roughness By IOP
13. Cinnamon: A systematic review of adverse events By NCBI
14. Do cinnamon supplements cause acute hepatitis? By NCBI
15. A Review of the Hypoglycemic Effects of Five Commonly Used Herbal Food Supplements By NCBI
16. Teething symptoms By Medlineplus
17. Anti-inflammatory agent By National Cancer Institute