गर्भावस्था में गैस और पेट फूलना - कारण और घरेलू उपचार

garbhavastha pet me gas ke upay

Image: Shutterstock

हर महिला के जीवन में एक समय ऐसा भी आता है, जब वह गर्भवती होती है। इसका सुखद अहसास उसे जीवन भर रहता है। वहीं, इस दौरान कुछ परेशानियों का भी सामना करना पड़ता है। आज इस लेख में हम मुख्य रूप से बात कर रहे हैं, गैस और पेट फूलना के बारे में। बेशक, आज के दौर में इस समस्या से हर कोई परेशानी है, लेकिन गर्भवती के लिए यह कष्टदायक पीड़ा से कम नहीं है।

इससे राहत पाने के लिए वो कई तरह के उपाय भी करती हैं, जिनमें से कुछ कारगर साबित हो जाते हैं, तो कुछ बेअसर साबित होते हैं। इसलिए, मॉमजंक्शन के इस लेख में हम गर्भावस्था के दौरान होने वाली गैस और पेट फूलने (ब्लोटिंग) की समस्या के बारे में विस्तार से चर्चा करेंगे और इससे राहत पाने के कुछ उपाय भी बताएंगे।

गर्भावस्था की शुरुआत में गैस और पेट फूलने की समस्या क्यों होती है?

ज्यादातर गैस और पेट फूलने की समस्या गर्भावस्था के शुरुआती दिनों में होती है। इसलिए, पहले यह जानना ज़रूरी है कि इसका कारण क्या है। आपको बता दें कि गर्भावस्था में प्रोजेस्ट्रोन हार्मोन का स्तर बढ़ने लगता है, जिस कारण पाचन तंत्र सहित शरीर की सभी मांसपेशियां ढीली होने लगती हैं। इस वजह से गर्भवती की पाचन शक्ति धीरे-धीरे कमज़ोर होने लगती है और गैस व पेट फूलने की समस्या से जूझना पड़ता है (1)

आइए अब बात करते हैं उन कारणों की, जिनके कारण गैस व पेट फूलने जैसी समस्या होती है।

वापस ऊपर जाएँ

गर्भावस्था में गैस और पेट फूलने के कारण

गर्भावस्था में गैस और पेट फूलने के कई कारण हो सकते हैं। एक तो ऊपर ही बताया गया है कि प्रोजेस्ट्रोन हार्मोन बढ़ने के कारण गैस बनने लगती है। इसके अलावा, गैस बनने के अन्य कारण हम नीचे बताने जा रहे हैं, जिससे न सिर्फ गर्भावती को, बल्कि एक आम व्यक्ति को भी परेशानी हो सकती हैं (2) :

1. कब्ज़ के कारण :

गर्भावस्था में ठीक से खाना न पच पाने के कारण गर्भवती को कब्ज़ की समस्या होने लगती है। पाचन शक्ति कमज़ोर हो जाने से आंतों में भोजन बहुत देर तक रहता है और गैस बनने लगती है।

2. मलाशय में बैक्टीरिया का संतुलन :

कोलन (मलाशय) में बैक्टीरिया के संतुलन में गड़बड़ी होने पर गैस की समस्या होने लगती है।

3. बढ़ता वज़न :

गर्भावस्था में बार-बार भूख लगने के कारण कई महिलाओं की खुराक बढ़ जाती है, जिस कारण उनका वज़न बढ़ने लगता है। वज़न बढ़ने के कारण भी गर्भवती को गैस की समस्या होने लगती है।

4. खाने में लापरवाही :

कुछ खाद्य पदार्थ हैं, जिन्हें खाने से गैस बनती हैं। कुछ महिलाओं को सीलिएक बीमारी (अमूमन साबुत अनाज खाने से होने वाली छोटी आंत की बीमारी) होती है। जिन्हें यह बीमारी होती है, वो ग्लूटोन युक्त खाद्य पदार्थ नहीं पचा पाते और गैस की समस्या होने लगती है (3)। ऐसे ही लैक्टोज़ युक्त चीज़ें खाने से भी कुछ महिलाओं को परेशानी हो सकती हैं, खासतौर पर डेयरी उत्पादों से। इन उत्पादों से भी कभी-कभी गैस की समस्या होने लगती है (4)

अब जानिए और क्या-क्या खाने से आपको गैस की समस्या हो सकती है :

वापस ऊपर जाएँ

गैस बनाने वाले खाद्य पदार्थ

ऐसे कई खाद्य पदार्थ हैं, जो गैस की समस्या उत्पन्न करते हैं। नीचे हम बताने जा रहे हैं, उन्हीं खाद्य पदार्थों के बारे में, जिनसे गैस की समस्या हो सकती है (5):

  • गोभी, पत्ता गोभी, बीन्स, प्याज़ व ब्रोकली जैसी सब्जियों में कार्बोहाइड्रेट होता है, जिसे गर्भवती महिलाएं पचा नहीं पातीं। इस कारण गैस की समस्या हो सकती है।
  • चना, मसूर की दाल व हरा चना जैसी दालों में भरपूर मात्रा में फाइबर होता है, लेकिन ज़रूरत से ज्यादा फाइबर भी पेट में गैस बनाता है।
  • सूरजमुखी, खसखस और सौंफ जैसे बीज से भी गैस की समस्या हो सकती है, जिससे पेट फूलने लगता है।
  • कोल्ड ड्रिंक, बीयर व वाइन जैसे पेय पदार्थ पेट में कार्बन-डाई-ऑक्साइड पैदा करते हैं, जिससे गैस की समस्या हो सकती है।
  • जो फल फ्रक्टोज़ युक्त होते हैं, उनका सेवन करने से भी गैस की समस्या हो सकती है।

नीचे हम आपको गर्भावस्था में गैस और पेट फूलने से राहत पाने के लिए कुछ घरेलू उपाय बता रहे हैं, जो आपके काम आ सकते हैं।

वापस ऊपर जाएँ

गर्भावस्था में गैस और पेट फूलने के लिए घरेलू उपचार

हालांकि, गर्भावस्था में गैस से राहत पाने के लिए किसी इलाज की ज़रूरत नहीं होती, क्योंकि प्रसव के बाद यह समस्या खुद-ब-खुद ठीक हो जाती है। अगर फिर भी आपको यह समस्या ज्यादा परेशान कर रही है, तो आप घरेलू इलाज अपना सकती हैं। ज्यादातर लोग गैस जैसी समस्या के लिए घरेलू और देसी इलाज करना ही पसंद करते हैं। यकीन मानिए, आपके घर में ही ऐसी कई चीज़ें मौजूद हैं, जो गैस और पेट फूलने की समस्या से राहत दिला सकती हैं।

  • कैमोमाइल चाय गैस की समस्या में फायदा पहुंचा सकती है। खाना खाने के बाद एक कप कैमोमाइल चाय पीने से गैस की समस्या कम हो सकती है (6)
  • गैस से राहत दिलाने के लिए इलायची काफी कारगर साबित होती है। अगर आपको गैस या पेट फूलने जैसा महसूस हो रहा है, तो एक इलायची खा सकते हैं। इसके अलावा, इलायची की चाय भी राहत पहुंचा सकती है।
  • दालचीनी के सेवन से भी गैस की समस्या ठीक हो सकती है। इसके लिए आप एक कप उबलते हुए पानी में एक चम्मच दालचीनी पाउडर और शहद मिलाएं। जब पानी हल्का गुनगुना हो जाए, तो इसे पिएं। इससे गैस की समस्या से आपको राहत मिलेगी (7)
  • एक कप गर्म पानी में धनिये के बीजों को कूटकर डाल दें और कुछ देर के लिए रख दें। फिर इस पानी को छानकर पी लें। गैस की समस्या से राहत मिलेगी (8)
  • अदरक को गैस की समस्या के लिए रामबाण इलाज माना जाता है। एक चम्मच अदरक के रस में थोड़ा-सा शहद मिलाकर खाने से पेट फूलना की समस्या से राहत पाई जा सकती है (9)

वापस ऊपर जाएँ

गर्भावस्था के दौरान पेट फूलने की समस्या को कम करने के लिए टिप्स

गर्भावस्था में गैस और पेट फूलने से राहत पाने के लिए कई घरेलू उपाय के साथ-साथ अन्य टिप्स हैं, जिनसे इस समस्या को कम किया जा सकता है। नीचे हम आपको इन्हीं के बारे में बता रहे हैं :

  • थोड़ा-थोड़ा खाएं : चूंकि गर्भावस्था के दौरान आपको अपने साथ-साथ शिशु का भी ख्याल रखना होता है, इसलिए ज़रूरी है कि सही ख़ुराक ली जाए। ऐसे में गर्भवती को तीनों समय का भोजन ठीक से करने की सलाह दी जाती है। गर्भवती को खाना तीन बार में इकट्ठा न खाकर थोड़ी-थोड़ी देर के अंतराल में खाना चाहिए। ऐसा करने से न सिर्फ पेट फूलने की समस्या दूर रहती है, बल्कि शिशु को पर्याप्त पोषण भी मिलता है।
  • तरल पदार्थ लें : गैस और पेट फूलने से राहत पाने के लिए ज्यादा से ज्यादा तरल पदार्थ लें। खूब पानी पिएं। इसके अलावा जूस व नींबू पानी आपको राहत महसूस कराएंगे।
  • धीरे-धीरे खाएं : आप जो भी खाएं धीरे-धीरे और अच्छे से चबाकर खाएं। धीरे-धीरे खाने से आपका खाना अच्छे से पचेगा और आपको गैस की समस्या नहीं होगी।
  • फाइबर युक्त भोजन करें : आप ऐसा भोजन करें, जिसमें भरपूर मात्रा में फाइबर हो। फाइबर पाचन तंत्र से पानी को सोखता है, जिससे खाना आंतों तक आसानी से पहुंचता है। ऐसा होने से आपका पेट ठीक रहता है और पेट फूलने की समस्या से बचाव होता है। फाइबर के लिए आप गाजर, ओट्स या फिर सेब को अपने खानपान में शामिल कर सकती हैं।
  • तले हुए और गैस बनाने वाले खाने से दूर रहें : तला हुआ खाना कई तरह की शारीरिक समस्याओं को जन्म देता है। इनमें सबसे आम है गैस की समस्या। इसके अलावा, गैस पैदा करने वाली चीज़ों से परहेज करें। ब्रोकली, गोभी व बीन्स जैसी चीज़ें शरीर में गैस बनाती हैं, इनसे गर्भवती को परहेज करना चाहिए। आप एक डायरी बनाएं और जो खा रहे हैं उसमें लिख लें। फिर ध्यान दें कि आपको कौन सी चीज़ खाने के छह घंटे के बीच गैस की समस्या हो रही है। उस खाद्य पदार्थ को अपनी लिस्ट से हटा दें।
  • रिफाइन की गई शुगर से परहेज़ करें : गर्भावस्था में मीठा खाने का दिल करना सामान्य है, लेकिन आपको रिफाइन की गई शुगर से परहेज़ करना चाहिए। कार्बन युक्त पेय पदार्थ में ऐसी ही शुगर का इस्तेमाल किया जाता है। इसके अलावा पैकेट वाले जूस में उच्च स्तर पर फ्रक्टोज़ कॉर्न सिरप होता है, जिससे पेट फूलने की समस्या हो सकती है। इनकी जगह आप ताज़े फलों का जूस पी सकती हैं। आप च्विंगगम भी न खाएं, क्योंकि इसमें सोर्बिटोल होता है, जिससे गैस बनने लगती है (10)

वापस ऊपर जाएँ

गर्भावस्था में गैस से रोकथाम

जानिए, गर्भावस्था में गैस से रोकथाम के लिए और क्या-क्या करना चाहिए :

  • अगर आप धूम्रपान करती हैं, तो इसे तुरंत बंद कर दें। यह आपके साथ-साथ शिशु के लिए भी नुकसानदायक है। धूम्रपान करते समय आपके अंदर हवा भी चली जाती है, जिससे गैस की समस्या होने लगती है।
  • अगर आप कोई पेय पदार्थ पी रहे हैं तो उसके लिए स्ट्रॉ का इस्तेमाल न करें। ऐसा करने से स्ट्रॉ के ज़रिए हवा अंदर जा सकती है जिससे गैस की समस्या हो सकती है।
  • गर्म चीज़ खाने या पीने के तुरंत बाद ठंडा न खाएं। इससे गैस बनने लगती है।
  • कई बार तनाव के कारण भी गैस बनने लगती है (11)। इसके लिए आप योग करें और खुद को तनाव से दूर रखने की कोशिश करें।
  • खाना खाने के बाद अगर लेटना चाहती हैं, तो पैर को थोड़ा ऊपर उठाकर लेटें। आप पैरों के नीचे तकिया लगा सकती हैं। ऐसा करने से गर्भाशय का दबाव आंतों पर कम पड़ता है और गैस की समस्या नहीं होती।
  • नियमित रूप से व्यायाम करने से भी गैस से राहत मिलती है। आप प्रशिक्षक की निगरानी में रहकर व्यायाम करें।

वापस ऊपर जाएँ

गैस और पेट फूलने का इलाज करने के लिए दवाएं

घरेलू इलाज और कुछ रोकथाम के अलावा डॉक्टर आपको गैस और पेट फूलने से राहत पाने के लिए नीचे बताई गई दवाइयां दे सकते हैं :

  • गैस से तुरंत राहत पाने के लिए ओटीसी सीमेथिकोन (Mylicon, Gas-X)।
  • पेट फूलने से राहत पाने के लिए Antacids।

नोट : अपनी मर्ज़ी से कोई भी दवाई न लें। हमेशा डॉक्टर की सलाह से ही दवाई लें।

वापस ऊपर जाएँ

डॉक्टर को कब कॉल करें?

यूं तो गर्भावस्था में गैस और पेट फूलने की समस्या आम है लेकिन, अगर आपको नीचे बताए गए लक्षण नज़र आएं, तो डॉक्टर से संपर्क करने में देरी न करें :

  • पेट में तेज़ दर्द और ऐंठन होने पर।
  • मल में रक्त आने पर।
  • गर्भावस्था के 36वें सप्ताह से पहले संकुचन होने पर।
  • कब्ज़ या दस्त की समस्या ज़्यादा होने पर।
  • लगातार जी-मिचलाने या उल्टी आने पर।

अगर आपको ऐसे कुछ लक्षण दिखाई देते हैं, तो डॉक्टर से संपर्क करना बेहतर रहेगा। ऐसे में आपकी शारीरिक स्थिति देखते हुए डॉक्टर आपको ज़रूरी दवाई दे सकते हैं।

वापस ऊपर जाएँ

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

क्या गर्भावस्था में जुड़वां भ्रूण होने पर गैस के लक्षण बढ़ जाते हैं?

हां, जुड़वा गर्भावस्था में गर्भाशय के विकास और ज्यादा हार्मोन निकलने के कारण गैस और पेट फूलने की समस्या बढ़ सकती है।

दूसरी और तीसरी तिमाही के दौरान गैस क्यों होती है?

गर्भावस्था की दूसरी और तीसरी तिमाही में गर्भाशय का आकार बढ़ने लगता है, जिससे पेट पर दबाव बढ़ जाता है (12)। इस कारण गर्भवती को हर्टबर्न, पेट फूलने और गैस की समस्या होने लगती है।

क्या पेट फूलना गर्भावस्था का संकेत है?

गर्भावस्था के शुरुआती दौर में पेट फूलना होना आम लक्षण है, लेकिन कभी-कभी आप मासिक धर्म से पहले होने वाली पेट फूलने की परेशानी और गर्भावस्था के शुरुआती दौर वाली पेट फूलने में अंतर करना मुश्किल हो जाता है। पेट में भारीपन सिर्फ गर्भ में बच्चे के कारण ही नहीं होता, बल्कि यह प्रोजेस्ट्रोन हार्मोन बढ़ने के कारण भी होता है।

गर्भावस्था में एक नहीं बल्कि तमाम तरह की शारीरिक परेशानियां होती हैं, जिसमें गैस और पेट फूलने की समस्या काफी चरम पर रहती है। हम उम्मीद करते हैं कि इस लेख में आपको गर्भावस्था में होने वाली गैस और पेट फूलने की समस्या से जुड़ी ज़रूरी जानकारियां मिल गई होंगी।

वापस ऊपर जाएँ

उम्मीद है कि ऊपर दिए गए टिप्स इस समस्या को कम करने में आपकी मदद करेंगे। अगर फिर भी इसके अलावा, अापको इस समस्या से जुड़े किसी अन्य सवाल का जवाब जानना है, तो नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में हमसे पूछ सकते हैं। इसके अलावा, यह ज़रूरी जानकारी उन सभी परिचित महिलाओं के साथ शेयर करना न भूलें, जो गर्भवती हैं और गैस व पेट फूलने की समस्या से परेशान रहती हैं।

संदर्भ (References) :

 

Click
The following two tabs change content below.
Profile photo of shivani verma

Latest posts by shivani verma (see all)

Profile photo of shivani verma

shivani verma

Featured Image