15+ बेस्ट खुद से प्यार करने के तरीके | How To Love Yourself In Hindi

How To Love Yourself 1

Image: Shutterstock

IN THIS ARTICLE

‘किसी और से प्यार करने से पहले खुद से प्यार करना जरूरी है’, यह लाइन तो आपने कहीं ना कहीं पढ़ी या सुनी जरूर होगी। हालांकि, यह पढ़ने और सुनने में जितना आसान लगता है, असल जिंदगी में उतना आसान नहीं होता है। कई बार ऐसा होता है, जब लोग अपने आप से ज्यादा सफल, खूबसूरत और आत्मविश्वासी, दूसरों को समझने लगते हैं। कई लोग होंगे जिन्हें दूसरों से प्यार करने से ज्यादा मुश्किल खुद से प्यार करना लगता होगा। ऐसे में लोगों का खुद से प्यार करना कितना जरूरी है, हम मॉमजंक्शन के इस आर्टिकल में बताएंगे। साथ ही यहां हम खुद से प्यार करने का तरीका भी बताएंगे। तो खुद से कैसे प्यार करें, यह जानने के लिए लेख को अंत तक पढ़ें।

सबसे पहले लेख में जानेंगे, खुद से प्यार करना क्यों जरूरी है।

खुद से प्यार करना क्यों जरूरी है?

खुद से प्यार करना एक खुशहाल जिंदगी जीने का खूबसूरत रास्ता है। जो लोग खुद से प्यार करते हैं वे शारीरिक तौर पर तो स्वस्थ रहते ही हैं, साथ ही साथ उनका मन भी शांत रहता है। वे अपने स्वास्थ्य पर, अपने काम पर ज्यादा फोकस करते हैं। जब व्यक्ति को अपने आप से प्यार होता है, तो वह अपने आप के लिए पॉजिटिव महसूस कर सकता है। वह सकारात्मक सोच और ऊर्जा से भरा होता है। इसका असर उनके पर्सनल और प्रोफ्रेशनल लाइफ दोनों पर पड़ता है। उसे अपने आत्मसम्मान का भी ध्यान रहता है।

हालांकि, अपने आप से प्यार करने का यह मतलब बिल्कुल नहीं है कि व्यक्ति स्वार्थी बन जाए और हमेशा अपने हित के बारे में ही सोचे। हमेशा याद रखें खुद से प्यार करने और स्वार्थ रखने के बीच एक पतली रेखा होती है। अगर अपने हित के लिए किसी और को परेशानी हो तो इसका मतलब खुद से प्यार करना नहीं, बल्कि स्वार्थी बनना होता है। हां, अगर कोई आत्मसम्मान को ठेस पहुंचाने की कोशिश करे तो उस दौरान खुद के लिए कदम उठाने से पीछे न हटें। इसलिए, परिस्थिति का ध्यान हमेशा रखें।

अब जानते हैं, खुद से प्यार करने के तरीकों के बारे में

15 + खुद से प्यार करने के तरीके | How To Do Self Love In Hindi

नीचे हम कुछ ऐसे टिप्स के बारे में बताने जा रहे हैं, जिन्हें अपनाकर आप खुद से प्यार कर सकते हैं। तो खुद से प्यार करने के बेहतरीन तरीके कुछ इस प्रकार हैं:

1. खुद की देखभाल करें

खुद से प्यार आप तभी कर पाएंगे, जब आप खुद की सही तरीके से देखभाल कर पाएंगे, जैसे पूरी नींद लेना, हेल्दी खाना, आसपास के लोगों से मिलना और मन में क्या चल रहा है उस पर ध्यान देना। खुद से प्यार करना एक मेंटल स्टेट नहीं है, इसका मतलब ये है कि हर रोज छोटी-छोटी आदतों को दिनचर्या में लाना, जिससे आपकी जिंदगी थोड़ी बेहतर बन सके। जिंदगी में कई चीजें आएंगी और चली जाएंगी, लेकिन एक बार अगर आपको खुद से प्यार करना आ गया तो वो आपके साथ हमेशा रह जाएगा। हां, बस अगर आप थोड़ा सा ध्यान रखकर उसे मेनटेन रखते हैं तब।

2. अपनी कद्र करें

खुद से प्यार करने के लिए आपको पहले अपने अंदर मौजूद खूबियों को पहचानना व स्वीकार करना होगा। उनकी कद्र करनी होगी, क्योंकि हर किसी के अंदर ऐसी कई खूबियां होती हैं, जो उन्हें दूसरों से अलग बनाती हैं। आप जैसे भी हैं और आप जो भी कर सकते हैं, उसकी कद्र करें। अपने बीते समय को स्वीकारते हुए अपने सेल्फ कॉन्फिडेंस पर काम करें , जो आपको आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करेगा।

3. खुद के लिए समय निकालें

अपने आप से प्यार करने के लिए अकेले वक्त गुजारना भी बहुत जरूरी है। ऐसे में अपने लिए वक्त निकालें। उस वक्त में अपनी पसंद की फिल्में देख सकते हैं। उन जगहों पर भी घूमने जा सकते हैं, जो आपको बेहद पसंद हो। अपनी मन की किताबें पढ़ सकते हैं, गाने सुन सकते हैं। अगर आपको शॉपिंग करना पसंद हैं तो आप अपनी पसंद की चीजें खरीद सकते हैं। ये सभी चीजें खुद से प्यार करने में आपका साथ देंगी, साथ ही आपको अच्छा महसूस भी करवाएंगी।

4. खुद की तुलना किसी से ना करें

जिसके पास पैसा है, पावर है, खूबसूरती है, लोग उन्हीं की कद्र करते हैं। कहीं आप तो इस झूठ पर यकीन नहीं करते हैं? इन बातों पर भरोसा करने वाला शख्स कभी खुद से प्रेम नहीं कर सकता। लोगों से खुद की तुलना करके हमेशा मन यही कहेगा, मेरे पास कुछ नहीं है, मैं कुछ भी ढंग का नहीं कर पाता, मैं किसी चीज के काबिल ही नहीं हूं। ऐसे विचार से मन में हमेशा एक खालीपन महसूस होगा, क्योंकि जैसे ही आप ईगो के साथ एक चीज को पूरा करोगे, वैसे ही आपका ईगो एक नया प्लान सेट कर लेगा। इसलिए किसके पास क्या है, किसने क्या किया, किसको क्या मिला इन बातों पर कतई ध्यान ना दें, बल्कि आपको कितना कुछ मिल चुका है, उन बातों पर ध्यान दें और खुश रहें। अपनी काबिलियत पर भरोसा करें।

5. खुद से प्रेम कीजिए

खुद से खुश ना रहना एक आदत की तरह है। जो लोग खुद से संतुष्ट नहीं है, उन्हें खुश रहने के लिए वजह की तलाश होती है। जबकि अगर आप खुश रहें तो खुशियां खुद-ब-खुद आपके पास आएंगी और आप खुलकर उनका मजा ले पाएंगे। जब कोई खुद से प्रेम करना सीख जाता है, तब वो दूसरों से भी प्रेम करने लगता है और उन्हें वो जैसे हैं वैसे ही स्वीकार लेता हैं। इसी तरह खुद को अपनी कमियों और खूबियों के साथ स्वीकारते हुए खुश रहिए।

6. खुद के लिए दयालु रहें

अक्सर लोग नकारात्मक सोच रखकर खुद से नफरत करने लगते हैं, जबकि ऐसा बिल्कुल नहीं करना चाहिए। अपने विचारों से खुद को पॉजिटिव रखें, ना कि उनका इस्तेमाल खुद को परेशान करने के लिए करें। अगर कुछ गलत भी हुआ हो, जो हमारे मन मुताबिक ना हो, तो इसके लिए हमें खुद को दोषी नहीं मानना चाहिए, बल्कि अपने इन्हीं अनुभवों से आगे के लिए सीख लेनी चाहिए। वहीं अगर आप खुद को लेकर बहुत ज्यादा परेशान फील कर रहे हैं, तो इस बारे में उस शख्स से बात करें जो आपके करीब हो, जिनसे बात करना आपको पसंद हो। हो सके तो परिवार के साथ टाइम स्पेंड करें। ऐसा करने से आप हल्का महसूस करेंगे।

7. खुद की सराहना करें

आलोचना हमारे अंदर की भावनाओं का गला घोट देती है। वहीं, खुद की सराहना करना मन में आत्मविश्वास को बढ़ावा देता है। इसलिए जब भी मौका मिले खुद की तारीफ करें। इसकी शुरुआत छोटी-छोटी बातों से कर सकते हैं, जैसे- खुद को ये बताते रहिए कि आप यूनिक हैं, लेकिन ऐसा एक बार करके अगर आप रुक जाते हैं तो यह बिल्कुल कारगर नहीं होगा। खुद को हमेशा नए काम करने के लिए प्रोत्साहित करें। अगर काम एक बार में न हो तो निराश होकर खुद को कोसे न, बल्कि प्रयास करने के लिए खुद को शाबाशी दें। ध्यान रहे, खुद की सराहना करने का यह मतलब बिल्कुल नहीं है कि अपनी गलती को भी सही माने।

8. नकारात्मक सोच से दूर रहें

खुद को प्यार करने के लिए सबसे पहले अपनी लाइफ से नकारात्मक सोच और लोगों को दूर करें। ऐसे लोग जो आपको हर समय निराश करते हैं, आपकी कमी निकालते हैं, उनसे दूरी बनाएं। ऐसी सोच और लोगों के वजह से एक समय के बाद आप भी खुद की सेल्फ रिस्पेक्ट और सेल्फ लव दोनों ही खो देंगे। इसलिए सिर्फ उन्हीं से दोस्ती कीजिए, जो आपको मोटिवेट करते हैं, आपकी गलती पर आपको सही रास्ता दिखाएं और असल में आपका अच्छा चाहते हैं।

9. खुद को सहारा दें

अपने दोस्तों से मिलिए, अगर आपको किसी की मदद की जरूरत है तो उनसे मदद मांगिए। जरूरत पड़ने पर मदद मांगकर आप स्ट्रॉन्ग फील करते हैं। अक्सर कुछ लोगों के साथ ऐसा होता है कि वो सोचते हैं कि वो किसी से हेल्प नहीं ले सकते, क्योंकि उनका ईगो इसकी इजाजत नहीं देता है। यह बिल्कुल सही नहीं है, किसी की मदद या राय लेना गलत नहीं है। जरूरी नहीं हर बार सबकुछ खुद से करना सही ही हो। इसलिए सब कुछ खुद से करना और खुद पर गुस्सा करने के बदले अगली बार से अपने करीबियों से हेल्प लेने की कोशिशि कीजिए।

10. परफेक्शन जैसा कुछ नहीं है

कई बार लोग यह सोचने की गलती कर बैठते हैं कि वे परफेक्ट नहीं हैं या उनका किया हुआ काम अन्य लोगों की तुलना में परफेक्ट नहीं है। ऐसे में हम बता दें कि इस तरह की सोच रखना गलत है। हमेशा याद रखें कि परफेक्ट कुछ भी नहीं होता है। हर किसी में अच्छाई-बुराई दोनों हैं। हर कोई गलती करता है, लेकिन उन गलतियों से सीख लेना ही खुद को बेहतर करने के तरफ कदम बढ़ाना होता है। इसलिए परफेक्शन की दौड़ में हिस्सा लेने से बचें, इससे सिर्फ निराशा ही हाथ लगेगी और अपने प्रति नाकारत्मक सोच ही पैदा होगी। हमेशा खुद को बेहतर करने की कोशिश करें, परफेक्ट बनाने की नहीं।

11. खुद की आलोचना न करें

हर दिन एक नया दिन होता है, और जिस दिन हम अच्छा महसूस नहीं करते उस दिन खुद को दुखी रखने का कोई ना कोई कारण ढूंढ ही लेते हैं। ऐसे में हम उन सभी चीजों से अलग सोचने लगते हैं, जो हमारे लिए लाभकारी होते हैं। इस दुनिया में हर कोई अपनी किसी ना किसी भूमिका को निभाने के लिए आया है और जब हम खुद के प्रति आलोचनात्मक रवैया अपनाते हैं तो हम अपनी भूमिका की उपेक्षा करते हैं। अगर कभी किसी कार्य में असफलता मिले तो खुद की आलोचना करने के बजाय, उस कार्य को न कर पाने के पीछे की वजह को जानने की कोशिश करें। फिर दोबारा नए तरीके से उस कार्य को करने की कोशिश करें।

12. खुश रहने की कोशिश करें

जिंदगी में खुश रहना भी अपने प्रति प्यार दिखाने जैसा ही एक अहम हिस्सा होता है। खुद को खुश रखने के लिए ऐसी चीजें करें जो मन एवं भावनाओं को अच्छा महसूस करा पाएं। हालांकि, ज्यादा खुशियां, लाइफ को पॉजिटिव बनाने के लिए किए गए प्रयासों पर निर्भर होता है। ऐसे में आप अपनी कोई हॉबी कर सकते हैं या पेंटिंग, हाईकिंग या किसी से ढेर सारी बातें, वो सभी काम जिससे आपके चेहरे पर मुस्कान आ जाए। ध्यान रहे, खुद को खुश करने का यह मतलब बिल्कुल नहीं है कि आप किसी और को दुख दें। खुद की खुशी के चक्कर में किसी और को दुखी बिल्कुल न करें।

13. नजरिया बदलें

कभी भी किसी और की जॉब या रहन-सहन को देखकर खुद की जिंदगी में कमी न निकालें, बल्कि खुद के पास जो है उसमें खुशी ढूंढें। अपने आप को बेहतर करने की कोशिश करें। कई बार लोग अपने पास जो है उसको भूलकर दूसरों जैसी जिंदगी की इच्छा रखते हैं, लेकिन इसमें वो यह भूल जाते हैं कि उनके पास जो है, हो सकता है कोई और उसके लिए तरस रहा हो। इसके अलावा, आप जिस व्यक्ति की तरह अपनी जिंदगी चाह रहे हैं, हो सकता है उसकी जिंदगी में भी कुछ कमी हो जिसके बारे में आप न जानते हों। इसलिए हमेशा याद रखें कि किसी की भी लाइफ परफेक्ट नहीं होती है, कमियां और सुख-दुख हर किसी की जिंदगी में हैं। आप बस अपने पास जो है उसकी कद्र करें और हर बार कुछ नया सीखने की कोशिश करें।

14. आभार प्रकट करें

अक्सर ऐसा होता है कि जो हमारे पास मौजूद होता है, उसकी कद्र हमें नहीं होती है, लेकिन ऐसा नहीं होना चाहिए। अपने आसपास मौजूद हर उस चीज के प्रति आभार जताएं जिनकी वजह से आप हैं, खासकर उन्हें, जिनके लिए आप हैं। इसके अलावा, अपनी ऐसी खासियत के बारे में सोचें, जिन्हें आप काफी पसंद करते हों। उदाहरण के तौर पर, आप किसी नई चीज को आसानी से सीख लेते हों, अच्छे लिस्नर हों, इमोशन या आपके अंदर मौजूद हर वो चीज जो आपको बेहद पसंद हो। उनका आभार प्रकट करें। ऐसा करने से खुद के प्रति एक पॉजिटिव एनर्जी उत्पन्न होगी, जो आपको खुद से प्यार करने के लिए प्रेरित करेगी। हालांकि, कभी अपनी खूबियों पर घमंड न करें, बल्कि सबके साथ विनम्र रहें।

15. स्वास्थ्य का ख्याल रखें

स्वास्थ्य हमारे जीवन का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा है। कहते हैं ना कि एक अच्छा स्वास्थ्य ही आपकी सबसे बड़ी पूंजी है। यही पूंजी खुद से प्यार करने के लिए जरूरी है। जब स्वास्थ्य अच्छा रहता है तो शरीर में अंदर से एक चमक आती है, इसके अलावा, व्यक्ति खुद में कॉन्फिडेंट महसूस करता है। कई प्रकार की बीमारियों से आप दूर रहते हैं। इसके लिए आपको संतुलित डाइट और सही दिनचर्या को अपनाना चाहिए। इसलिए अपने आप से प्यार करने के लिए आप खुद की सेहत का ख्याल रखने का वादा जरूर करें।

16.खुद को अपडेट करें

खुद के विकास के लिए खुद को अपडेट करना बेहद जरूरी है। आप खुद को अपडेट करने के लिए यू-ट्यूब से कुछ नई चीजें सीख सकते हैं। आप मोटिवेशनल चीजों के बारे पढ़ या सुन सकते हैं। आप नए कोर्सेज करें टेक्नोलॉजी की भी नई बातें जानकर खुद को अपडेटेड रख सकते हैं। इसके अलावा, देश-दुनिया की खबरों से जुड़े रहें, ये सारी चीजें आपको अपडेट करने में मदद करेंगी। हमेशा याद रखें सीखने की कोई उम्र नहीं होती, व्यक्ति पूरी जिंदगी कुछ न कुछ नया सीखता है।

वास्तविकता में सेल्फ लव प्यार की पहली सीढ़ी है। इसके माध्यम से हम प्यार क्या है, यह जान पाते हैं। सही मायने में जब आप खुद से प्यार करना सीख जाते हैं, तब ही किसी दूसरे को प्यार कर पाते हैं। इस लेख के माध्यम से आपने खुद से प्यार करने के तरीकों के बारे में जाना। हम उम्मीद करते हैं लेख में बताई गई सभी टिप्स आपके लिए लाभकारी साबित होंगी। अगर आपको ये लेख पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों और करीबियों के साथ शेयर करें। ऐसे ही अन्य लेख पढ़ने के लिए मॉमजंक्शन से जुड़े रहें।