बच्चों को मास्क पहनना चाहिए या नहीं? | Should Kids Wear Masks?

Should Kids Wear Masks

image: Shutterstock

IN THIS ARTICLE

“दो गज दूरी मास्क है जरूरी” आज के समय इस पंक्ति का पालन करना बहुत जरूरी हो गया है। हो भी क्यों न कोरोना के इस काल में एक मास्क ही है, जो इस वायरस से लोगों की रक्षा कर सकता है। इसका उपयोग बड़ों तक तो ठीक है, लेकिन क्या आपने कभी ये सोचा है कि बच्चों के लिए मास्क पहनना सुरक्षित है भी या नहीं। अगर यह सुरिक्षत है तो किस उम्र के बच्चों को मास्क पहनाना चाहिए। मॉमजंक्शन के इस लेख में हम ऐसे ही सवालों के जवाब लेकर आये हैं, ताकि माता-पिता को इसके बारे में उचित जानकारी मिल सके और वे अपने बच्चों को कोरोना और सांस की तकलीफ दोनों से बचा सकें।

लेख की शुरुआत में जानेंगे बच्चों के लिए मास्क कितना सुरक्षित है।

बच्चों को मास्क पहनना चाहिए या नहीं? | Should Children Wear A Mask In Hindi

हां, बच्चों को मास्क पहनना चाहिए। वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन (WHO) और यूनिसेफ (UNICEF) की तरफ से जारी गाइडलाइन के अनुसार, कोरोना वायरस से बचाव के लिए बच्चों का भी मास्क पहनना जरूरी है। हालांकि, मास्क को पहनाने को लेकर बच्चों की उम्र निर्धारित की गई है, जिसके बारे में लेख में आगे विस्तार से बताया गया है (1)

यहां जानें COVID-19 के संक्रमण को रोकने में मास्क क्या भूमिका निभाता है।

क्या मास्क बच्चों में COVID-19 के संक्रमण को रोक सकता है?

इस बात में कोई दो राय नहीं है कि मास्क बच्चों में कोविड-19 के संक्रमण को काफी हद तक रोक सकता है। दरअसल, कोरोना वायरस के खिलाफ मास्क एक कवक्ष का काम कर सकता है। इसे आसान भाषा में इस तरह समझा जा सकता है (2)

कोविड-19 मुख्य रूप से एक वायरस है, जो सांसों के माध्यम से निकलने वाली बूंदों के जरिए एक से दूसरे व्यक्ति में फैल सकता है। जब कोई संक्रमित व्यक्ति खांसता, छींकता, बात करता या फिर गाना गाता है तो मुंह या नाक से निकली छोटी-छोटी बूंदों में सूक्ष्म कणों के साथ वायरस हवा में फैल जाता है, जो नाक या मुंह के माध्यम से दूसरे व्यक्ति के शरीर में प्रवेश कर सकता है। वहीं, मास्क दूसरों के श्वसन प्रणाली में वायरस युक्त बूंदों के प्रवेश की संभावना को काफी हद तक कम कर सकता है।

यही वजह है कि हर किसी को मास्क पहनने की सलाह दी जाती है, चाहे वह बीमार हो या नहीं। ऐसा इसलिए, क्योंकि कई रिसर्च में यह पाया गया है कि कोविड-19 से संक्रमित लोगों में कई बार लक्षण सामने नजर नहीं आते हैं, जिन्हें एसिंप्टोमेटिक (Asymptomatic) कहा जाता है। ऐसे लोगों के माध्यम से भी यह वायरस फैल सकता है। इसलिए, कोविड-19 से बचाव के लिए मास्क को जरूरी माना गया है।

चलिए, अब जरा मास्क पहनाने के लिए बच्चों की सही उम्र के बारे में जान लीजिए।

किस उम्र के बच्चों के लिए मास्क जरूरी है?

वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन की ओर से जारी एडवाइजरी में कहा गया है कि 6 वर्ष से अधिक आयु के बच्चे कोरोना वायरस से बचाव के लिए मास्क का इस्तेमाल करें। साथ ही, बच्चों की सुरक्षा, रूचि और उचित रूप से मास्क का उपयोग करने की क्षमता के आधार पर मास्क पहनाने की सलाह दी गई है (1)। जबकि सीडीसी (Centers for Disease Control and Prevention) के मुताबिक, दो साल और उससे अधिक उम्र के बच्चों को मास्क पहनाया जा सकता है (3)

इसके बाद यह भी जान लीजिए कि किस उम्र के बच्चों को मास्क नहीं पहनाना चाहिए।

किस उम्र के बच्चों को मास्क नहीं पहनना चाहिए?

एनसीबीआई (National Center for Biotechnology Information) की वेबसाइट पर प्रकाशित एक शोध में बताया गया है कि दो साल से कम उम्र के बच्चों को किसी भी प्रकार का मास्क नहीं पहनाया जाना चाहिए। ऐसा इसलिए, क्योंकि शिशुओं की सांस नली काफी संकरी (small airways) होती हैं। इस वजह से शिशुओं को सांस लेने में कठिनाई हो सकती है। इसके अलावा, छोटे बच्चे खुद से मास्क हटाने में असमर्थ होते हैं। ऐसे में उनमें घुटन का खतरा बढ़ सकता है (4)

लेख के इस हिस्से में हम बताएंगे बच्चों के लिए कौन-सा मास्क सही है।

बच्चों को कौन सा मास्क पहनना चाहिए?

डब्लूएचओ के मुताबिक, जो बच्चे स्वस्थ हैं, उन्हें नॉन-मेडिकल मास्क (Non-Medical Mask) या कपड़े का मास्क (Fabric Mask) पहनाया जाना चाहिए। यह वायरस के फैलाव पर रोक लगा सकता है। जिसका अर्थ है, अगर कोई संक्रमित है और उसे इस बात की जानकारी नहीं है कि वह संक्रमित है, तो ऐसे में यह मास्क वायरस को दूसरों तक फैलने से रोकने में मदद कर सकता है। वहीं, बच्चों को कपड़े का मास्क पहनाते समय इसके आकार के साथ इस बात का ध्यान रखना जरूरी है कि क्या यह बच्चे की नाक, मुंह और ठुड्डी को अच्छी तरह से ढकता है (1)

इसके अलावा, अगर बच्चा सिस्टिक फाइब्रोसिस (Cystic fibrosis – फेफड़े और पाचन तंत्र से जुड़ी समस्या), इम्यूनोसप्रेशन (immunosuppression – इम्यून सिस्टम से जुड़ी समस्या) या कैंसर जैसी किसी गंभीर बीमारी से जूझ रहा हो तो ऐसी स्थिति में उसे केवल डॉक्टरी सलाह पर ही मेडिकल मास्क (Medical Mask) पहनाया जाना चाहिए। बताया जाता है कि मेडिकल मास्क वायरस के फैलाव को रोकने के साथ-साथ पहनने वाले को सुरक्षा भी प्रदान करा सकता है। साथ ही यह केवल ऐसे ही व्यक्ति को पहनने की सलाह दी जाती है, जिसे कोविड-19 की चपेट में आने का सबसे अधिक जोखिम होता है (1)

अब उन टिप्स को जानेंगे जिसकी मदद से बच्चों को मास्क पहनने की आदत डाल सकते हैं।

बच्चों को मास्क पहनने की आदत कैसे डाले ?

यहां हम कुछ टिप्स का जिक्र कर रहे हैं, जिनकी मदद से बच्चों को मास्क पहनने की आदत डाल सकते हैं।

5 साल से छोटे बच्चों के लिए टिप्स

अगर बच्चा पांच साल से कम उम्र का है, उनमें मास्क पहनने की आदत डालने के लिए निम्न उपायों को अपनाया जा सकता है –

  • पहले खुद मास्क पहनें – छोटे बच्चे किसी भी चीज को देखकर ही उसे अपनी आदत बनाते हैं। इसलिए, अगर माता-पिता या फिर घर में रहने वाले अन्य सदस्य मास्क पहनेंगे तो इसे देखकर छोटे बच्चे भी मास्क पहनने के लिए आकर्षित होंगे।
  • शुरुआत में थोड़े-थोड़े समय के लिए मास्क पहनाएं- अगर छोटे बच्चों को लंबे समय तक मास्क पहनाया जाए तो इससे वह असहज महसूस कर सकते हैं। इसके लिए जरूरी है कि छोटे बच्चों में मास्क पहनने की आदत डालने के लिए शुरुआत में उन्हें थोड़े-थोड़े समय के लिए मास्क पहनाएं।
  • आरामदायक मास्क का चुनाव करें – छोटे बच्चे मास्क पहनना तभी पसंद करेंगे जब उन्हें आरामदायक मास्क मिलेगा। अगर मास्क पहनने से उन्हें किसी प्रकार की तकलीफ महसूस होगी तो वो मास्क को बार-बार हटाने की जिद करेंगे। इसलिए, छोटे बच्चों को मास्क पहनने की आदत डालने के लिए जरूरी है कि उन्हें आरामदायक मास्क पहनाया जाए।
  • खिलौनों को भी मास्क पहनाएं – छोटे बच्चों को खिलौने बहुत पसंद होते हैं। इसलिए, बच्चों के खिलौनों (जैसे डॉल, टेडी बियर आदि) को भी मास्क पहनाएं। इससे बच्चे मास्क पहनने के लिए प्रोत्साहित होंगे।

5 साल से बड़ी उम्र के बच्चों के लिए टिप्स

अगर बच्चा पांच साल से बड़ी उम्र का है तो उनमें नीचे बताए गए टिप्स के माध्यम से मास्क पहनने की आदत डाली जा सकती है –

  • मास्क का महत्व समझाएं – अगर बच्चा पांच साल से अधिक उम्र का है तो उनमें मास्क की आदत डालने के लिए सबसे जरूरी है कि उन्हें मास्क के महत्व के बारे में समझाया जाए। उन्हें बताएं कि अगर उन्हें बीमार पड़ने से बचना है तो इसके लिए मास्क पहनना जरूरी है। अगर वे मास्क नहीं पहनेंगे तो उन्हें कड़वी दवा खाने के साथ इंजेक्शन लगवाना होगा। इससे बच्चे मास्क पहनने की आदत जरूर डालेंगे, क्योंकि अक्सर देखा गया है कि बच्चों को सुई लगवाना या फिर दवा खाना पसंद नहीं होता।
  • कहानियों का सहारा लें – बच्चों को कहानियां बहुत पसंद होती हैं। इसलिए उन्हें मास्क पहनने के लिए प्रोत्साहित करने के टिप्स में कहानियों को भी शामिल किया जा सकता है। इसके लिए बच्चों को ऐसी कहानियां सुनाएं, जिसमें मास्क के महत्व को बताया गया हो। इससे बच्चे मास्क पहनने के लिए प्रोत्साहित होंगे।
  • पसंदीदा मास्क दिलाएं – बच्चों को मास्क पहनने की आदत डालने के लिए उन्हें उनकी पसंद का ही मास्क दें। अगर मास्क बच्चों की पसंद का होगा तो वो उसे अपने से दूर नहीं करेंगे। इससे उन्हें मास्क पहनाने में काफी मदद मिलेगी।
  • मास्क पहनने पह बच्चों को तोहफा दें – अगर बच्चे मास्क अच्छी तरह से पहनते हैं तो उन्हें इसके लिए प्रोत्साहित करें और तोहफा दें। इसके लिए माता-पिता उन्हें उनकी पसंद की चॉकलेट या खिलौना दे सकते हैं। इससे बच्चों में मास्क पहनने की आदत को बढ़ाने में काफी मदद मिल सकती है।

लेख के इस भाग में बच्चों को मास्क पहनाते समय ध्यान रखने योग्य बातें जानिए।

बच्चों को मास्क पहनाने से जुड़ी सावधानियां

बच्चों को मास्क पहनाते समय कुछ बातों का ध्यान रखना जरूरी है, जो इस प्रकार हैं (5)

  • बच्चों को मास्क पहनाने से पहले अपने हाथों को अच्छे से धोएं या हैंड सैनिटाइजर का इस्तेमाल करें।
  • मास्क हमेशा बच्चों की नाक और मुंह पर लगाएं। साथ ही सुनिश्चित करें की मास्क ठुड्डी के नीचे हो।
  • मास्क को बच्चे के चेहरे पर अच्छी तरह से फिट करें। साथ ही ध्यान रखें कि मास्क पहनने से बच्चों के कानों में दर्द न हो
  • अगर बच्चा मास्क पहनने में असहज महसूस कर रहा हो तो तुरंत मास्क को हटा दें।
  • बच्चों के लिए हमेशा अच्छी ब्रांड और अच्छा क्वालिटी का मास्क की खरीदें।
  • बच्चों को मास्क पहनाने के बाद यह भी सुनिश्चित करें कि वह ठीक से सांस ले पा रहा है या नहीं।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

क्या मास्क पहनने से ऑक्सीजन का स्तर कम हो सकता है?

नहीं, मास्क पहनने से ऑक्सीजन का स्तर कम नहीं हो सकता है। इस बात की पुष्टि मास्क पहनने के प्रभावों पर किए गए शोध से होती है, जिसमें बताया गया है कि आराम करते और व्यायाम करते समय कपड़े और सर्जिकल मास्क पहनने से ऑक्सीजन या कार्बन डाइऑक्साइड के स्तर में कोई बदलाव नहीं होता है ((5)

क्या बच्चों के लिए मास्क के अलावा कुछ अन्य विकल्प भी हैं?

हां, बच्चों के लिए मास्क के अलावा कुछ अन्य विकल्प भी हैं। डब्ल्यूएचओ के मुताबिक, अगर कोई बच्चा मास्क पहनने में सक्षम नहीं हो तो ऐसी स्थिति में उसे फेस शील्ड पहनाया जा सकता है। हालांकि, फेस शील्ड को वायरस को दूसरों तक फैलने से रोकने के लिए मास्क के समान सुरक्षा प्रदान कराने में सक्षम नहीं माना जाता है (1)

इस लेख को पढ़ने के बाद बच्चों के लिए मास्क सुरक्षित है या नहीं, इसकी जानकारी तो मिल ही गई होगी। साथ ही यहां हमने यह भी बताया है कि कौन-सी उम्र के बाद बच्चों को मास्क पहनाना सही है। वहीं, कोरोना वायरस से बचाव के लिए मास्क के साथ-साथ नियमित रूप से हाथ धोना और सोशल डिस्टेंसिंग बरकरार रखना भी जरूरी है। इसलिए इन बातों का भी ध्यान जरूर रखें, तभी इस महामारी से बचा जा सकता है। हम उम्मीद करते हैं कि हमारा यह लेख बच्चों को मास्क पहनाने से जुड़ी शंकाओं को दूर करने में आपके लिए मददगार साबित रहा होगा।

References:

MomJunction's health articles are written after analyzing various scientific reports and assertions from expert authors and institutions. Our references (citations) consist of resources established by authorities in their respective fields. You can learn more about the authenticity of the information we present in our editorial policy.