लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप के फायदे, नुकसान व निभाने के टिप्स | Long Distance Relationship Tips In Hindi

IN THIS ARTICLE

कहते हैं, “लंबी दूरी के रिश्ते प्यार की अग्निपरीक्षा से कुछ कम नहीं होती है”, क्योंकि ये कई तरह के उतार-चढ़ाव को पार करते हैं। वहीं, जो कपल लंबी दूरी के रिश्ते यानी लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप को सही तरीके से निभा गए, वे अपने रिश्ते में हर मुश्किल का सामना कर सकते हैं। दिन-प्रतिदिन लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप का चलन और रिश्ते में चुनौतियां बढ़ती ही जा रही है। ऐसे में मॉमजंक्शन के इस खास लेख में हम लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप के फायदे व नुकसान तो लाए ही हैं, साथ ही साथ लंबी दूरी के रिश्ते को मजबूत बनाने के टिप्स भी बता रहे हैं। तो लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप की हर जानकारी के लिए लेख को अंत तक पढ़ें।

सबसे पहले पढ़ें कि लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप क्या है।

लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप क्या होता है? | what is long distance relationship in hindi

लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप से तात्पर्य है, प्यार का वह रिश्ता जिसमें कपल्स के बीच रोमांटिक रिश्ता तो होता है, लेकिन वह अपने साथी से दूर रहते हैं। इसका मतलब है दोनों ही साथी अलग-अलग शहर में रहते हों और वे किसी खास अवसर पर ही मिलते हों। एक तरह से ऐसे कपल्स एक-दूसरे से बहुत ही कम मिल पाते हैं। उनके बीच प्यार जताने का एक मात्र सहारा फोन कॉल, मैसेज या वीडियो कॉल होता है। आमतौर पर, अधिकतर लंबी दूरी के रिश्ते सोशल मीडिया के जरिए जुड़े रह सकते हैं। यहां तक कि सोशल मीडिया के जरिए भी लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप शुरू हो सकते हैं। दरअसल, सोशल मीडिया पर लोग दूर-दूर के शहरों के लोगों से आसानी से संपर्क में आ सकते हैं और लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप शुरू कर सकते हैं।

अब पढ़ते हैं, लंबी दूरी के रिश्ते के क्या लाभ हो सकते हैं।

लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप के क्या फायदे हैं?

लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप में प्यार कितना सच्चा है और भविष्य में इसके सफल होने की संभावना कितनी है, इसका अंदाजा कुछ ही समय में लग जाता है। यही वजह है कि अधकितर कपल्स लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप के ऐसे ही फायदे देखते हुए इस रिश्ते में रहना पसंद करते हैं। लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप के क्या फायदे हैं, यह जानने के लिए इस भाग को पढ़ें।

  1. सहनशीलता बढ़ाए : लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप का सबसे बड़ा फायदा है कि यह व्यक्ति की सहनशीलता को बढ़ा सकता है। दरअसल, दूर के रिश्ते में कपल्स को एक-दूसरे से मिलने के लिए लंबा इंतजार करना पड़ता है। इस तरह की आदत से उनमें दूरी को बर्दाश्त करने की क्षमता आ जाती है। ऐसे में धीरे-धीरे उनमें अपने रिश्ते के प्रति धैर्य बढ़ता जाता है।
  1. पार्टनर को बेहतर तरीके से समझना: जब कपल्स साथ रहते हैं तो वे एकदूसरे को बेहतर तरीके से समझते हैं। वहीं, जब लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप की बात हो तो यह भी एक बेहतरीन वक्त होता है अपने पार्टनर को समझने का। इस दौरान कपल्स को मैसेज, वीडियो कॉल या फोन कॉल के जरिए अपने साथी को जानना और समझना होता है। ऐसे में वो बातों के जरिए अपने पार्टनर को समझने लगते हैं।
  1. विश्वास बढ़ाए : लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप में कपल्स अपने साथी के बारे में उतना ही जान सकते हैं, जितना साथी खुद से स्वंय के बारे में बताए। ऐसे में पार्टनर पर विश्वास करना इस तरह के रिश्ते की असली परीक्षा होती है। साथी एक-दूसरे के साथ पूरी तरह से कमिटेड होने की भावना रखने की ईमानदारी व्यक्ति पर होती है। यह कपल्स के लिए चुनौती की तरह होती है और यही उनके रिश्ते की परख होती है। इस दौरान अगर पार्टनर एक-दूसरे के लिए ईमानदार है और दोनों का एकदूसरे पर भरोसा है तो यह भरोसा जिंदगीभर रह सकता है।
  1. रिश्तों की अहमियत सिखाए : कहते हैं जब हम किसी से दूर जाते हैं, तभी हमें उस रिश्ते और और उस इंसान की अहमियत महसूस होती है। ऐसे में लंबी दूरी का रिश्ता व्यक्ति को जीवन में रिश्तों की अहमियत सिखा सकता है। इसके अलावा, लंबी दूरी के कपल्स में अपने साथी की छोटी-छोटी यादों व बातों को संभालकर रखने की आदत आ जाती है, जो उनके रिश्ते में प्यार व विश्वास के स्तर को और भी बढ़ाने में अहम भूमिका निभा सकता है।
  1. समय की कीमत समझाए : लंबी दूरी के रिश्तों में रह रहे कपल्स का दैनिक जीवन एक-दूसरे से काफी अलग हो सकता है। दोनों साथी एक-दूसरे के साथ फुर्सत के पलों में मैसेज या कॉल के जरिए कब बात करें, यह तभी संभव होता है जब दोनों एक ही समय में फ्री रहें। ऐसे में कपल्स साथी के साथ अपने व अन्य लोगों के लिए भी समय की अहमियत को समझना शुरू कर सकते हैं।
  1. प्यार की परिभाषा सिखाए : लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप की पूरी नींव एक तरह से विश्वास की डोर पर होती है। यही विश्वास उनके रिश्ते को मजबूत करने में मदद भी करता है। इसके अलावा, लंबी दूरी का रिश्ता सिर्फ शारीरिक आर्कषण न रहकर, बल्कि मन में प्रेम की भावना को भी बढ़ाता है। इस वजह से लॉन्ग डिसटेंश रिलेशनशिप में साथी एक-दूसरे को शारीरिक आकर्षक के बजाय उनके मन के विचार, व्यक्तिगत व्यवहार व हाव-भाव के आधार पर प्यार करते हैं। इसलिए, यह कहा जा सकता है कि लंबी दूरी का रिश्ता असल मायने में प्यार की परिभाषा सिखाने में मदद सकता है।
  1. उत्सुकता बढ़ाए : लंबे समय के बाद अपने किसी खास से मिलने की उत्सुकता हर किसी में होती है। ऐसे में कपल्स के मन में भी अपने पार्टनर से मिलने की खुशी होती है। उनके पास कई सारी बातें, सवाल और जिज्ञासा होती है। इससे वे रिश्ते को हर तरह से समझने के लिए खुद को तैयार कर सकते हैं।
  1. रिश्ते से जुड़ाव – कहते हैं अगर कोई कपल लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप को निभा ले तो आगे चलकर रिश्ते की हर मुश्किल को पार कर सकता है। ऐसे में यह रिश्ते की असली परीक्षा होती है। इससे मन में रिश्ते को लेकर जुड़ाव और पार्टनर खुद के प्रति और अपने रिश्ते के प्रति कितना ईमानदार है, इसकी परख होती है। यह सिर्फ व्यक्ति का पार्टनर के प्रति ही नहीं, बल्कि खुद के प्रति भी टेस्ट होता है।
  1. सम्मान बढ़ाए : जब कोई दूर रहता है, तो हमें उस इंसान की अच्छाईयां ही याद आती हैं। ऐसे में मन में दूर रह रहे हमसफर के प्रति सम्मान भी बढ़ सकता है। इस तरह का अनुभव कपल्स में साथी और उनकी परिस्थिति को अच्छे से समझने की क्षमता को विकसित कर सकता है। साथ ही आपसी तालमेल बैठाने में भी सहायक हो सकता है। जैसे अगर काम के वजह से पार्टनर के पास बात करने का वक्त न हो तो दूसरे को इस बात का सम्मान करना चाहिए और परिस्थिति को समझना चाहिए।
  1. बातचीत होगी आसान : लोग अक्सर सामने से किसी बात को कहने में झिझक महसूस कर सकते हैं। वहीं, लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप में वे मैसेज, कॉल या वीडियो के जरिए आसानी से अपने मन की बात साथी को बता सकते हैं। इस तरह की आदतों से उनके बीच का कम्युनिकेशन स्किल बेहतर हो सकता है। साथ ही अन्य लोगों से भी बात करने में उनका स्तर अच्छा हो सकता है।

आगे हम लंबी दूरी के रिश्ते के नुकसान भी बता रहे हैं।

लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप के साइड इफेक्ट्स

हर सिक्के के दो पहलू होते हैं। इसी तरह जहां लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप के फायदे होते हैं, वहीं इसके कुछ साइड इफेक्ट्स भी होते हैं। जिनके बारे में हम नीचे बता रहे हैं।

  • लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप में कपल्स हर दिन अपने साथी से नहीं मिल सकते हैं। ऐसे कपल्स लंबे अंतराल के बाद ही साथी से मिल पाते हैं। इस वजह से कभी-कभी कपल्स के मन में उदासी हो सकती है।
  • लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप के बीच बातचीत का एक एकमात्र जरिया उनका फोन होता है। ऐसे में उन्हें साथी के मैसेज या कॉल को चेक करने की आदत पड़ सकती है, जो स्वास्थ्य के लिए नुकसानदायक भी हो सकता है।
  • साथी का निजी या सामाजिक दैनिक जीवन कैसा है, इस बारे में वो जितना बताते हैं, सिर्फ उतना ही पता चल पाता है। यही वजह है कि कई बार लंबी दूरी के रिश्ते धोखे या गलतफहमी का भी शिकार हो सकते हैं, जिस वजह से रिश्ता टूट भी सकता है।
  • लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप में कपल्स एक्टिविटी, जैसे – साथ में घूमना-फिरना, लंच या डिनर पर जाना, या फिल्म देखने जाने जैसी गतिविधियां संभव नहीं होती हैं। ऐसे में कई बार कपल्स अपने रिश्ते के प्रति निराश भी हो सकते हैं।
  • लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप में कपल्स अपने साथी के साथ खास दिनों, जैसे – जन्मदिन, त्यौहार या अन्य विशेष दिनों को नहीं मना सकते हैं। ऐसे मौके पर कपल्स को अपने साथी की कमी काफी खल सकती है। कभी-कभी इस वजह से मन-मुटाव भी हो सकता है।

लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप में किन गलतियों को करने से बचना चाहिए, अब यह पढ़ें।

लम्बी दूरी के रिश्ते की गलतियों से कैसे बचें?

लंबी दूरी के रिश्ते नाजुक होते हैं। उन्हें बहुत ही संभालकर रखने की जरूरत होती है। कभी-कभी गलती से हुई गलती भी इस रिश्ते को खत्म कर सकती है। ऐसे में हम यहां पर आपको कुछ ऐसे पॉइंट्स बता रहे हैं, जो लॉग डिस्टेंस रिलेशनशिप में रह रहे कपल्स को नहीं करना चाहिए। ये कुछ इस प्रकार हैं:

  • लांग डिस्टेंस रिलेशनशिप में साथी से झूठ बोलने से बचें। जब भी उनसे बात करें, तो उन्हें सच ही बताएं।
  • साथी पर भरोसा रखें। अगर कभी उन पर किसी तरह का संदेह होता है, तो बेहतर होगा कि उस बारे में पार्टनर से सीधे बता करें।
  • साथी पर कभी भी बिना किसी कारण या ठोस सबूत के कोई आरोप न लगाएं।
  • पार्टनर धोखा दे सकता है या भविष्य में वह रिश्ते से मुंह फेर सकता है, इस तरह की कोई भी असुरक्षा की भावना अपने मन में न आने दें।
  • लम्बी दूरी के रिश्ते को सकारात्मक तरीके से अपनाएं। भौगोलिक रूप से साथी के दूर रहने की स्थिति को लेकर नकारात्मक न हों।
  • अगर साथी के पास आपके समयानुसार बात या मैसेज करने के लिए समय नहीं है, तो इस बात को लेकर नाराजगी जाहिर न करें।
  • दूसरे कपल्स के रिश्तों से अपने रिश्ते की तुलना न करें।
  • वर्चुअल डेट्स की योजना बिना साथी के रूटीन को जानें न बनाएं।

लेख केे आखिरी में आप पढ़ेंगे लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप्स को खास बनाने के टिप्स।

लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप को कारगर बनाने के 20+ टिप्स | Long Distance Relationship Tips In Hindi

हर रिश्ते की तरह लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप को भी संभाल कर रखने में कई बातों का ध्यान रखना पड़ता है। छोटी सी चूक भी लंबी दूरी के रिश्ते में दूरियां बढ़ा देती हैं। ऐसे में हम इस भाग में लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप के लिए 20 से अधिक टिप्स बता रहे हैं, जो आपके रिश्ते को मजबूत बनाने में आपकी मदद करेंगे। तो लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप टिप्स कुछ इस प्रकार हैं:

1. रिश्ते के प्रति रहें वफादार

लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप टिप्स के पहले उपाय में शामिल है साथी की वफादारी। ईमानदारी किसी भी रिश्ते के लिए जरूरी होती है। रिश्ते में दोनों साथी जितना ईमानदारी दिखाएंगे, उनका रिश्ता उतना ही मजबूत रहेगा। वहीं, ईमानदार न होने पर रिश्ते की डोर कमजोर हो सकती है, जो रिश्ते को खत्म भी कर सकती है। इसलिए, अपने साथी व रिश्ते के प्रति पूरी तरह से ईमानदार बने रहें।

2. बातें करते रहें

लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप में दोनों साथी को एक-दूसरे से जोड़ने में मोबाइल फोन का बड़ा योगदान होता है। भले ही दिन भर आप कितना भी वयस्त रहें, लेकिन पूरे दिन में एक बार समय निकालकर साथी से बातें जरूर करें। कॉल या मैसेज करके उनका हाल-चाल पूछें व उनका दिन कैसा रहा इस बारे में भी पूछना न भूलें। इसके अलावा, उनके साथ रचनात्मक तरीके से बात करें, जैसे उन्हें वीडियो क्लिप, इमोजी या अपनी कोई तस्वीर वाली मैसेज भेजें। इस तरह के व्यवाहर से साथी को स्पेशल होने का एहसास हो सकता है और उन्हें अपने रिश्ते पर अधिक भरोसा करने में भी मदद मिल सकती है।

3. स्पेस दें

बात करना लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप में जरूरी है, लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि पूरे दिन पार्टनर को फोन कर-करके परेशान करें। अपने पार्टनर को स्पेस दें, अगर किसी दिन किसी कारण से वो फोन पे बात नहीं कर पाते हैं तो उनसे लड़ने के बजाय उनकी परिस्थिति को समझें। वहीं, दूसरे पार्टनर को भी पहले से मैसेज के जरिए बता देना चाहिए कि वो बात नहीं कर पाएंगे। फिर जब भी मौका मिले तो अपने पार्टनर को मैसेज या एक फोन कर उनकी अहमियत महसूस करानी चाहिए।

4. लड़ाई-झगड़े जल्दी सुलझाएं

लड़ाई-झगड़े हर रिश्ते में होते हैं। कभी-कभी छोटी-मोटी बात पर तकरार होना वाजिब भी है, लेकिन अगर किसी गंभीर मुद्दे पर साथी के साथ बहस हो जाए, तो कोशिश करें कि जल्द से जल्द उसे सुलझा लें। वहीं, कई कपल्स लड़ाई-झड़गा होने पर बातचीत बंद कर देते हैं और साथी से आशा भी रखते हैं कि वही पहले माफी मांगे और बात करने की पहल शुरू करे। जबकि, ऐसा करने से रिलेशनशिप खत्म हो सकता है, इसलिए लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप में कपल्स को ऐसे व्यवहार से बचना चाहिए। ऐसे में अपने अंदर अहंकार न रखते हुए कोई भी बहस होने पर उन्हें जल्द से जल्द सुलझाने का प्रयास करना चाहिए। याद रखें रिश्ते में सॉरी कहने में कोई बुराई नहीं है।

5. साथी पर भरोसा रखें

विश्वास व भरोसा किसी भी रिश्ते की नींव होती है। रिश्ते में जितना भरोसा होगा, वह उतना ही मजबूत हो सकता है। इसलिए लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप में एक-दूसरे के प्रति विश्वास बनाए रखें। छोटी से लेकर बड़ी बात भी साथी के साथ साझा करें। अगर साथी अपने निजी जीवन से जुड़ी कोई बात आपको बतातें है, तो बिना शक के उनकी बातों पर भरोसा करना सीखें। ऐसा करने से रिश्ते में न सिर्फ विश्वास बना रहेगा, बल्कि कपल्स एक-दूसरे के प्रति ईमानदारी भी निभा सकते हैं।

6. बात करते समय धैर्य रखें

अगर साथी बहुत बातूनी है, तो धैर्य के साथ उनकी बातों को सुनें। जब साथी अपनी बात पूरी कर लें, तभी दूसरे साथी को अपनी बात शुरू करनी चाहिए। हालांकि, इसका यह मतलब नहीं कि दूसरा साथी भी जबरन उतनी ही बात करे। वहीं, अगर कोई पार्टनर ऐसा नहीं करता है, तो उन्हें अपनी इस आदत को बदलना चाहिए और धैर्य रखते हुए साथी की पूरी बात सुननी चाहिए। ऐसा करने से साथी को यह एहसास होगा कि आप उनकी बातों को नजरअंदाज नहीं करते हैं और उनकी बातें आपके लिए मायने रखती हैं। धैर्य भी लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप का अहम हिस्सा है।

7. प्राइवेसी का रखें ध्यान

रिश्ता चाहे प्यार का हो या दोस्ती का, हर रिश्ते में पर्सनल स्पेस का होना बेहद जरूरी होता है। इसी वजह से अपनी प्राइवेसी के साथ ही अपने साथी की प्राइवेसी का भी ध्यान रखें। जबरन उनके दोस्तों या पारिवारिक मामलों में हस्तक्षेप न करें। अगर वो किसी बात को नहीं बताना चाहते हैं, तो इसके लिए उन्हें फोर्स भी न करें। ऐसा करने से रिश्ते में रहते हुए खुद की आजादी तो महसूस करेंगे ही, साथ ही रिश्ते में भी मजबूती आएगी।

8. बेवजह साथी पर शक न करें

शक से जितना दूर रहा जाए, यह रिश्ते के लिए उतना ही अच्छा होता है। शक की सुई एक दीमक की तरह होती है, जो समय के साथ-साथ रिश्ते को खोखला करके उसे खत्म कर सकती हैं। इसलिए, लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप टिप्स का ध्यान रखते हुए पार्टनर पर बेवजह संदेह न करें। अगर पार्टनर की किसी बात या व्यवहार पर शक होता है, तो इस बारे में इनसे साफ तौर पर बात करें।

9. बातों का दायरा बढाएं

लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप में पार्टनर के साथ रहने का एक मात्र सहारा कॉल व मैसेज ही होते हैं। ऐसे में हर बार साथी से एक ही विषय में बात न करें। इससे रिश्ते में बोरियत आ सकती है। ऐसी स्थिति की नौबत न आए, इसलिए साथी से उनके और अपने निजी जीवन के साथ ही, दोस्तों व परिवारजनों या ऑफिस से जुड़े मुद्दों पर भी बात करें। मन में कोई परेशानी हो तो उसे भी साझा करें। ऐसा करने से न सिर्फ साथी को अच्छे से जानने का मौका मिलेगा, बल्कि रिश्ता और मजबूत हो सकता है।

10. मन में न रखें असुरक्षा का भाव

लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप में साथी एक दूसरे से शारीरिक व भौगोलिक रूप से दूर रहते हैं। कभी-कभी किसी काम में उलझने की वजह से पार्टनर्स को कॉल या मैसेज करने का समय भी नहीं मिल पाता है। ऐसे में कई बार कपल्स इस विचार में पड़ जाते हैं कि उनका साथी अब उनसे बात नहीं करना चाहता है। अगर ऐसी स्थित कभी होती है, तो मन में इस तरह की असुरक्षा की भावना न होने दें। साथी पर भरोसा बनाए रखें व उनकी स्थिति का सम्मान करें।

11. कुछ बातों को नजरअंदार भी करें

कई बार स्थितियां अनुकूल भी हो सकती हैं। दिन खराब होने या कोई काम बिगड़ने से उस दिन साथी का मिजाज चिड़चिड़ा हो सकता है। इसके अलावा, कई बार लंबी दूरी का रिश्ता और साथी को न देख पाने या उसे अपने पास न पाकर भी मन उदास या चिड़चिड़ा हो सकता है। ऐसा होने पर कई बार पार्टनर बात करते समय बेवजह गुस्सा भी दिखा सकते हैं। ऐसी स्थिति में दूसरे साथी को इन बातों का ध्यान रखना चाहिए। उन्हें पार्टनर के इस तरह के व्यवहार को नजरअंदाज करना चाहिए। हो सके तो उस समय चुपचाप साथी की सारी बातें सुन लें और फिर जब उनका मूड अच्छा हो तो उनसे परेशानी और उनके मिजाज का कारण पूछें।

12. बातों को इग्नोर ना करें

अगर चाहते हैं कि लंबी दूरी का रिश्ता भविष्य में शादी के बंधन में बंधे, तो अपने साथी की बातों को महत्व देना सीखें। पार्टनर की बातों को धैर्य से सुनें और समझें। अगर बातों से बोर होकर उनकी बातों को नजरअंदाज करने लगेंगे, तो इससे साथी अपनी हर बात बताना बंद कर सकता है। इस तरह धीरे-धीरे रिश्ता भी खत्म होने के कारगर पर आ सकता है। इसलिए, अपने पार्टनर की हर बात को ध्यान से सुनें और समझें।

13. एक अवसर के रूप में देखें

कहते हैं सोने को अपनी गुणवत्ता बताने से लिए आग में जलना पड़ता है। इसी तरह प्यार के रिश्ते में कितनी सच्चाई है और यह कितना मजबूत है, इसे बताने के लिए लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप एक जरिया हो सकता है। लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप को अपना सच्चा प्यार साबित करने का एक अवसर माना जा सकता है। लंबी दूरी का रिश्ता न सिर्फ साथी के मन में भावनात्मक प्रेम को बढ़ाता है, बल्कि शारीरिक आकर्षण व दिखावे की भावना को भी दूर करने में मदद कर सकता है।

14. मिलते भी रहें

 लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप में हर सप्ताह या माह में मिलना हर कपल्स के लिए संभव नहीं हो सकता है, लेकिन लंबे समय तक दूर रहना भी रिश्ते के लिए अच्छा नहीं माना जा सकता है। ऐसे में मौका मिलते ही साथी से मिलने की योजना जरूर बनाएं। अगर फिर भी ऐसा कोई मौका हाथ नहीं आ रहा है, तो वर्ष में एक बार या पार्टनर के जन्मदिन या किसी अन्य खास दिन के अवसर पर उनसे मिलने की योजना जरूर बनाएं। ऐसा करने से साथी को स्पेशल होने का एहसास हो सकता है।

15. तुलना न करें

लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप में अपने पार्टनर से बार-बार या किसी खास दिन में मिलने की उम्मीद न रखें। हो सकता है किसी परिस्थिति के कारण मिलना न हो पाए। ऐसे में अन्य कपल्स के साथ तुलना करके अपने रिश्ते को खराब न करें। यह समझें कि हर रिश्ता खास होता है और हर रिश्ते में कुछ कमी भी होती है। इसलिए तुलना करके अपने रिश्ते को ठेस न पहुंचाए।

16. एक-दूसरे को जानें-समझें

पार्टनर की अच्छाईयों व बुराईयों को जानना, कपल्स के लिए एक मुश्किल पड़ाव हो सकता है। सिर्फ फोन पर बातें करने, वीडियो कॉल करने या मैसेज करने से हम किसी को बहुत अच्छे से नहीं समझ सकते हैं। ऐसे में, लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप में कपल्स को बातों के जरिए ही सही अपने साथी के करीब रहने का प्रयास करना चाहिए। पार्टनर को किस बात से खुशी मिलती है या वो किस बात से उदास होते हैं, ऐसी विभिन्न बातों को नोट करें। ऐसा करने से एक-दूसरे को बेहतर तरीके से जानने में मदद मिल सकती है।

17. सोच-समझकर शब्द बोलें

साथी के साथ चाहें कितना भी दोस्ताना या फ्रैंकली व्यवहार हो, उनके सामने शब्दों को सोच-समझकर ही बोलें। कई बार हंसी-मजाक या लड़ाई-झगड़े में कुछ ऐसी बातें भी हो जाती हैं, जिसे सुनकर पार्टनर को बुरा लग सकता है। इससे साथी के मन में रिश्ते का नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है। इसलिए, बातों-बातों में कोई ऐसा शब्द न बोलें जिससे साथी को अपने सम्मान में कमी महसूस हो। अगर गुस्से में हैं, तो बेहतर होगा कि गुस्सा शांत होने पर पार्टनर से बात करें, ताकि गुस्से में उन्हें कोई गलत बात बोलने से बच सकें।

18. प्यार भरा नाम दें

हम अपने जीवन में शामिल हर खास शख्स को एक प्यार भरा नाम या निकनेम देना पसंद करते हैं। ऐसे में आपको भी अपने  पार्टनर को प्यार भरा एक निकनेम देना चाहिए। यह निकनेम उन्हें स्पेशल फील करा सकता है। इससे लंबी दूरी के रिश्ते में न सिर्फ प्यार की भावना बढ़ेगी, बल्कि दूरियों का एहसास भी कम हो सकता है।

19. पार्टनर को स्पेशल फील करवाएं

लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप में रिश्ते को मजबूत बनाने के लिए ऐसे मौकों की तलाश में रहें, जहां पर साथी को स्पेशल फील करा सकें। ऐसा करने से इस रिश्ते में मजबूती आएगी। साथी को स्पेशल फील करवाने के लिए उन्हें सरप्राइज विजिट या तोहफे दे सकते हैं।  उनके लिए लंच व डिनर भी ऑर्डर कर सकते हैं। ऐसा करने से न सिर्फ पार्टनर स्पेशल फील करेंगे, बल्कि लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप के रिश्ते मे ताजगी भी बनी रहेगी।

20. कुछ चीजें साथ में करें

अगर कपल्स को ऑनलाइन गेम्स खेलना पसंद है, तो दोनों साथ में मिलकर गेम्स खेल सकते हैं। इससे दूरियों का अनुभव कम हो सकता है। साथ ही अगर कोई खास किताब पढ़ने या कोई फिल्म देखने का प्लान है, तो इसकी योजना भी साथ में मिलकर बना सकते हैं। इसके आलाव, मार्निंग वॉक से लेकर सुबह जागने, सोने व खाना खाने का समय भी एक साथ तय कर सकते हैं। ऐसा करने से कपल्स अपने-अपने शहर में अकेले समय गुजारते हुए भी अपने साथी को अपने करीब महसूस कर सकते हैं।

21. वीडियो कॉल करें

डिजिटल युग और स्मार्ट फोन्स को लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप के लिए किसी वरदान से कम नहीं आंका जा सकता है। दरअसल, स्मार्ट फोन्स के आने से वो किसी भी दूर शहर में रह रहे अपने साथी से न सिर्फ बात कर सकते हैं, बल्कि उनका चेहरा भी देख सकते हैं। इसलिए, जब भी साथी की आवाज या उनके चेहरे की हंसी मिस करें, तो तुंरत उन्हें वीडियो कॉल करें। एक वीडियो कॉल भी इस रिश्ते को मजबूत बनाने में एक अहम किरदार निभा सकता है। अगर पार्टनर वीडियो कॉल उस वक्त न उठाए तो उनके पीछे न पड़ें, बल्कि उनकी स्थिति को समझें और वक्त मिलने पर कॉल बैक करने का मैसेज भेजें।

22. बातें बंद न करें

ध्यान दें कि लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप में दूरियां कम करने का एक मात्र उपाय बात करना ही है। पार्टनर किस परिस्थिति में है या कैसा है, इसकी जानकारी बातचीत के जरिए ही हो सकती है। ऐसे में चाहे कितने भी झगड़े हों, साथी से बात करना बंद नहीं करना चाहिए

23. सम्मान करें

हर रिश्ते में प्यार व विश्वास के साथ ही सम्मान का होना भी जरूरी होता है। अपने साथी का सम्मान करें। उन्हें कोई ऐसी बात या शब्द न कहें, जिससे उनके आत्मसम्मान को ठेस लगे। इतना ही नहीं, अपने फैसले में अपने पार्टनर को भी शामिल करें व उनकी भी राय लें। फोन पे बात करने का वक्त हो या मिलने की योजना, साथ मिलकर आपसी सहमति से इन फैसलों को लें।

24. सकारात्मक सोच रखें

लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप निभाना आसान नहीं होता और जो इस रिश्ते को निभा गया उसके लिए कुछ मुश्किल नहीं होता।  इस दौरान कई तरह के उतार-चढ़ाव व खुशी और गम के पल आ सकते हैं। ऐसे में अपनी सोच को सकारात्मक रखना जरूरी है, इसलिए अपनी परिस्थितियों से डरे ना, बल्कि लड़ें। अपने रिश्ते के लिए लड़कर आगे बढ़ें और यह सोचें कि मुश्किल वक्त भी निकल जाएगा। खुद को और पार्टनर को पॉजिटिव सोच रखने के लिए कहें।

इस लेख में आपने न सिर्फ यह जाना कि लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप क्या है, बल्कि लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप टिप्स भी पढ़ें हैं। ये टिप्स लंबी दूरी के रिश्ते को मजबूत बना सकते हैं। अगर आप भी लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप शुरू करने वाले हैं या शुरू कर चुके हैं, तो इस लेख में बताई गई बातों का ध्यान रखते हुए आप अपने रिश्ते को मजबूत बना सकते हैं। साथ ही एक बात का ध्यान रखें कि रिश्ता चाहे पास का हो या दूर का, हर रिश्ते में प्यार की भावना के साथ ही सम्मानजनक व्यवहार, विश्वास और उसे बनाए रखने की लगन होनी भी जरूरी है।