20+ Poem On Parents In Hindi | माता-पिता पर कविताएं

Image: Shutterstock

IN THIS ARTICLE

इस दुनिया में माता-पिता से बढ़कर कुछ भी नहीं है। ईश्वर की बनाई सबसे नायाब रचनाओं में से एक, माता-पिता है। उनका प्यार, उनका साथ और उनके दिए जीवन का कर्ज, कोई भी संतान नहीं उतार सकती और इसलिए शायद हर बच्चा अपने माता-पिता के प्रति दिल में असीम प्रेम रखता है। ये प्रेम ही है जो कई बार शब्दों में उतर कर कागज पर आ जाता है। अगर आप भी अपने माता-पिता को अपना प्यार शब्दों के मोतियों में पिरो कर देना चाहते हैं, तो इस लेख में दी गई माता-पिता पर कविताएं पढ़े और उन्हें अपने हिसाब से चुनकर अपने माता-पिता को भेंट करें।

लेख की शुरुआत हम माता-पिता पर कविता से करेंगे।

20+ माता-पिता पर कविता इन हिंदी | Poem On Parents In Hindi

बच्चों के लिए माता-पिता सारी जिंदगी संघर्ष करते हैं और जब बच्चे उन्हें इसके बदले में अपना प्यार देते हैं, तो उन्हें अपने संघर्ष का फल मिल जाता है। अगर आप भी अपने मम्मी-पापा को प्यार और अपने लिए उनकी अहमियत बताना चाहते हैं, तो हम आपके लिए यहां माता-पिता पर कविताएं लाएं हैं। ये खास कविताएं आपके पेरेंट्स को भी उनके खास होने का एहसास दिलाएगी।

सबसे पहले लेख के इस भाग में पढ़ें माता पिता के लिए कविताएं।

माता-पिता पर कविता | Poems On Parents In Hindi

अपने माता-पिता के लिए नीचे दिए इन खूबसूरत कविताओं के जरिए बताएं कि आप उनसे कितना प्यार करते हैं। तो माता-पिता पर कविताएं कुछ इस प्रकार हैं:

  1. दुख, दर्द, और तकलीफों में,
    जिन्हें हम याद करते हैं,
    गिर कर, रो कर और उदासी में,
    जिनका हम साथ ढूंढते हैं।

दुनिया जब ठुकरा दे तब,
जो हमारा हाथ थाम लेते हैं,
वो कोई और नहीं, बल्कि
माता-पिता ही तो कहलाते हैं।

  1. मैं यादों को शब्दों में पिरो रही हूं,
    बचपन से अब तक,
    सब आंखों के सामने नजर आता है,
    कभी मां की गोद में,
    कभी पापा की उंगलियों को पकड़े हुए,
    खुद को मैं कहीं बैठे देख रही हूं।

देख रही हूं, जब खेलते हुए गिर गई थी,
तब पापा ने कैसे दौड़ कर बांहों में उठा लिया था,
मां ने, पापा ने लेकर सीने से लगा लिया था,
दोनों फिर घंटों मुझे बहलाते रहे थे,
कभी गुड़िया दिखा कर, तो कभी खुद पापा घोड़ा बनकर,
मेरे सोने तक उस दिन दोनों, न जाने क्या-क्या बन गए थे।

आज भी, जब गिर जाती हूं कभी,
जिंदगी की परेशानियों से थक कर तब भी,
दोनों मुझे बहलाने के लिए घंटों फोन पर रहते हैं,
फर्क सिर्फ इतना है कि अब मैं उनकी गोद में नहीं सोती,
लेकिन उनके होने से चैन से जरूर सोती हूं,
मां, पापा आप हो तो सब कुछ है,
आप दोनों हो तो सब ठीक है।
लव यू!

  1. मां-पापा हर जगह हमेशा साथ होते हैं,
    हमें पता होता है कि वो हमेशा हमारा ख्याल रखते हैं,
    वो अंधेरों में रोशनी हैं,
    उजाला है हर सुबह की तरह।

वो किसी मुसीबत से नहीं डरते,
हमारे लिए बस मेहनत करते हैं,
वो हमें बुराइयों से बचाते हैं,
बुरे कामों से भी और विचारों से भी,
क्योंकि वो हमें प्यार बहुत करते हैं।

वो हमारे दोस्त बनकर, ईश्वर सा प्यार देते हैं,
गले लगाकर हमें हर बार माफ कर देते हैं,
इस दुनिया में सिर्फ माता-पिता ही हमें,
निस्वार्थ और सच्चा प्यार करते हैं।

  1. मेरे मां-पापा हैं मेरे लिए हीरो,
    उनकी हेल्प से हुए मेरे दुश्मन जीरो,
    उनके बिना मेरा जीवन है अधूरा,
    वो मेरे खट्टे दही में जैसे हैं बूरा।

उनके मार्गदर्शन से मिला मुझे जो खजाना,
उसको जीवन भर मुझे खुशी से है रखना,
हर वक्त उनका साथ है मुझे देना,
हर पल मझे उन्हें है खुश रखना।

मां-पापा की बेटी हूं निराली,
मुझे प्यार से वो कहते हैं लाली,
उनके बिना मेरा जीवन है बिल्कुल खाली।

उनके होने से मुझे नहीं लगता है किसी से डर,
पंगे लेती हूं मैं सबसे आगे बढ़कर,
मां-पापा ने इतना साहस है दिया,
मैं बन गई हूं उनकी निडर गुड़िया।

उनका प्यार है मेरे लिए सब कुछ,
उनके सिवा मुझे भाता नहीं अब कुछ,
वो हैं तो मुझे नहीं रहना पड़ता डरकर,
उनका होना ही तो है जीवन में सबसे बढ़कर।

  1. मां का दिल वो चाबी है,
    जो तुम्हे सफलता देती है,
    मां का दिल वो रिबन है,
    जो तुम्हारे भविष्य को इस चाबी संग बांधती है।

मां का दिल वो भोजन है,
जो तुम्हारी भूख को प्यार से शांत करता है,
मां का दिल रंगों से भरा है,
जो तुम्हारी लाइफ के इन्द्रधनुष में रंग भरता है।

पिता का दिल वो तकिया है,
जिस पर तुम अपनी थकान उतारते हो,
पिता का दिल वो दवा है,
जो तुम्हारी तबीयत ठीक करता है।

पिता का दिल वो पेन्सिल है,
जिससे तुम अपने प्लान्स बनाते हो,
पिता का दिल प्यार से भरा है,
जिससे तुम प्यार करना सीखते हो,
माता-पिता के होने से ही,
तुम निडर होकर आगे बढ़ते हो।

माता-पिता के लिए कविताओं के बाद अब लेख के इस भाग में पढ़ें मां के लिए कुछ खूबसूरत कविताएं।

मां के लिए कविता इन हिंदी | Poems On Mother In Hindi

किसी भी बच्चे के लिए मां को ‘लव यू’ कहना आसान होता है, लेकिन कई बार ऐसे मौके आते हैं जब आप अपनी मां से कुछ स्पेशल कहना चाहते हैं। ऐसे ही खास मौकों के लिए हम लाए हैं माता-पिता पर कविताएं। यहां हम खास मां के लिए कुछ कविताएं साझा कर रहे हैं, जिनमें से आप अपनी मां के लिए अपनी पसंद की कविता यहां से चुन सकते हैं। तो प्यारी मां के लिए कविताएं कुछ इस प्रकार हैं:

  1. मां क्या है?
    ये कोई नहीं बता सकता,
    वो बलिदान और संघर्ष से भरी हैं,
    वो निस्वार्थ, अंतहीन हैं,
    एक बच्चे के लिए वो सच्चा और निश्छल प्यार है।

उनके दिल में हमेशा प्रेम का दिया जलता है,
जिसे कोई आंधी या तूफान नहीं बुझा सकता है,
उनकी ममता के आंचल में हर बच्चे के लिए जगह है,
पूरी जगह, बराबरी की जगह।

मां सिर्फ शब्द नहीं है वो जवाब है,
हर मुश्किल का, दर्द का, अंधकार का,
निराशा का, अवसाद का और हार का,
वो गीत है, खुशी का, प्रेम का, अपनेपन का,
वो जीवन है हर परिवार का, बच्चे का और इस संसार का,
मां सिर्फ मां नहीं,
वो आरंभ है, इस दुनिया का।

  1. घुटनों पर चलते हुए,
    न जाने कब हम बड़े हुए,
    मां की इन बाहों से,
    जाने कब हम बाहर हुए,
    काला टीका, झबला और झुनझुना,
    अब भी तुमने रखा है,
    मेरे शौक बदल गए पर,
    याद तुमने ये भी रखा है।

मेरी शरारतें याद कर मां,
आज भी खूब हंसती है,
बस फोन पर अब,
मुझको देख चुपके-चुपके रोती है।

मां तेरे आंचल से कब,
मैं निकल कर बाहर हुआ,
याद ही नहीं कितने वक्त से,
घर का खाना खाया हुआ,
तुम को याद कर लिख लेता हूं,
कुछ-कुछ यूं ही कभी-कभी,
तुम भी बस पढ़कर कह देना,
बेटा, बच्चा है तू मेरे लिए अभी भी।

मां तुम जब सामने से ओझल हो जाती हो,
मां, तुम तब बहुत याद आती हो।

  1. मां ने थामा, जब मैं दुनिया में आई,
    मां ने थामा, जब मैंने पहला कदम बढ़ाया,
    मां ने थामा जब मेरा पहला आंसू गिरा,
    मां ने थामा जब मेरा दिल दुखा।

उनके हाथ बढ़े मुझे साहस देने के लिए,
उनके हाथ बढ़े मुझे दर्द से छुटकारा दिलाने के लिए,
उनके हाथ बढ़े मुझे मोटीवेट करने के लिए,
उनके हाथ बढ़े मुझे उत्साहित करने के लिए।

उनके हाथ बेहद सुंदर है, किसी भी चीज से ज्यादा,
उनके हाथ ही मेरे होने का सबूत हैं,
उनके हाथ अब कमजोर होने लगे हैं,
उनके हाथ अब सहारा चाहने लगे हैं।

रहूंगा मैं उनके पास हमेशा,
क्योंकि अब उन्हें चाहिए मेरा साथ हमेशा,
मैं उनसे हूं, वो हैं तो मैं हूं,
चाहता हूं यही मां मिले मुझे हमेशा।

  1. मां का प्यार है जैसे स्पेशल केयर,
    जिसको तुम नहीं कर सकते किसी से कम्पेयर,
    मां का प्यार है प्योर जैसे ईश्वर की सोल,
    बनाया गया है उसे ऐसा जिसका नहीं लगा सकते मोल,
    मां का प्यार है सच्चा, जो कभी नहीं है मरता,
    बड़ा हो जाए भले ही बच्चा, वो कभी उनके लिए नहीं बदलता,
    मां होती है बच्चों की लाइफ, रहती है वो हमेशा अपने बच्चों की साइड,
    बच्चों को खुश रखने के लिए वो करती है अपने दुख हाईड,
    मां जैसी नहीं कोई इस यूनिवर्स में काइंड,
    उनके ख्याल नहीं जाते भले ही कितना बिजी रहे मेरा माइंड।
    मिस यू मां!
  1. मुझे हमेशा मेरी मां चाहिए,
    तब भी जब मैं बूढी हो जाउंगी,
    उन्होंने मुझे हंसाया, रुलाया,
    उनका प्यार कभी फीका नहीं पड़ा,
    उन्होंने मुझे जीतते और हारते देखा है,
    और ऐसा कुछ नहीं जो वो नहीं जानती,
    वो हमेशा मुझे खुश करने में लगी रहती हैं,
    वो मुझे रियल रहने देती है,
    वो मेरे कहे बिना मुझे सुन लेती हैं,
    आज भी, जब मैं उनके साथ नहीं हूं,
    तब भी वो मुझे सुनकर तसल्ली देती हैं,
    और मैं कभी नहीं समझ पाई,
    वो ऐसा कैसे कर लेती हैं,
    या शायद, मैं जानती हूं,
    वो मां है ना, इसलिए
    बिना कहे सबकुछ जान और समझ लेती है।
  1. हर दर्द की दवा है मां,
    कभी रुलाती, कभी हंसाती है मां,
    अपने मन की बात मन में रखती है मां,
    हमारे होठों पर मुस्कान लाती है मां,
    हमारी खुशियों में खुश होती है मां,
    हमें जो ठोकर लगे तो रो देती है मां,
    हमें अपने आंचल में छिपाकर रखती है मां,
    हमारे लिए एक पैर पर खड़ी रहती है मां,
    रिश्ते निभाना, बनाना सिखाती है मां,
    जो हम नहीं बयां कर सकते वैसी ममतामई है मां।
  1. जिसके दिल में बद्दुआ नहीं होती,
    वो मां है जिसके लिए औलाद कभी बड़ी नहीं होती,
    इस तरह से वो मुझे मना लेती है,
    बात कोई भी हो बस मुस्कुरा देती है,
    मैंने भी जब कभी उसको मनाया होगा,
    मुझे यकीन है उसने वो पल संजो कर रखा होगा,
    मैं जानता हूं मुझे कुछ नही होगा,
    मेरी मां दरवाजे पर मेरे इंतजार में जो रहती है,
    वो खुदा ही सच जानता होगा,
    जब मां को बना कर वो हैरान हुआ होगा,
    अपनी मूरत जब उसने मां जैसी बनाई होगी,
    उसे भी जरूर अपनी मां याद आई होगी,
    मैंने मां को पाया ये मेरा नसीब है,
    वो मां ही है जो मेरे सबसे करीब है।
  1. मां से बंधी है खुशियां मेरी,
    वो मेरी खुशियों की चाबी,
    उनके होने से घर-आंगन सुहाना,
    वो मेरी दुनिया है सारी,
    मां घर में न हो तो सब बेगाना,
    उनके बिना मुझे कही नहीं जाना,
    मां के होने से मिलती है खुशी,
    उनके होने से ही तो मुझे मिली जिंदगी,
    जब मिला दुख मां ने गले लगाया,
    बलाएं लेकर हमेशा सिर सहलाया,
    मां के आंचल में छुप कर जीना है,
    मां से दूर मुझे कभी नहीं रहना है,
    मां के दिल को जो है सबसे प्यारा,
    मैं वही हूं उनका राज दुलारा।
  1. मां तेरी खुशबू चाहती हूं,
    तुमसे लिपटकर फिर से मैं रोना चाहती हूं,
    तुमसे दूर होकर मेरी दुनिया खाली हो गई,
    तुम्हें याद कर फिर मैं तुमको पाना चाहती हूं।

मां तेरे हाथों का स्पर्श,
तेरे कांधे का झूला, गालों पर तेरी छुअन,
तेरी बाहों का सुकून सब याद आता है,
तेरे कपड़ों से मसाले और लहसुन की खुशबू के लिए,
अब मैं हर रोज तरस रही हूं।

तुम्हारे साथ थी तो बेपरवाह थी मैं मां,
अब परवाह करने वाला कोई नजर नहीं आता मुझे,
मां तुम बहुत याद आती हो, तुम्हारी खुशबू चाहती हूं,
तुमसे मिलने और तुम्हारे पास आने को तरस जाती हूं।

  1. आसान है मां को समझना,
    बस गले लग जाओ और सुन लो,
    सुन लो उनकी धड़कन जो कहती है,
    मैं तुम्हारे लिए ही हूं, मैं मां हूं।

आसान है मां को बहलाना,
बस मुस्कुरा दो और देख लो,
देख लो उसकी आंखों की नमी जो कहती है,
मैं तुमसे ही तो हूं, मैं मां हूं।

आसान है मां की चुप्पी समझना,
बस बाहों में भर लो और जान लो,
जान लो वो दर्द में हैं, जो वो बताती नहीं है,
तुम उससे पूछ लो,
पूछ लो क्योंकि वो मां है,
तुम्हारी मां जो अपने दुख बताती नहीं।

लेख के इस भाग में पढ़ें प्यारे पापा के लिए कुछ प्यारी-प्यारी कविताएं।

पिता के लिए कविता इन हिंदी | Poems On Father in hindi

पिता के साथ बच्चों का रिश्ता थोड़ा अलग सा होता है। बच्चे मां से जितनी आसानी से अपने मन की बात कह देते हैं, पिता से कहना उनके लिए थोड़ा मुश्किल होता है। तब चाहे पिता की तारीफ ही क्यों न हो। अब पिता का स्वभाव बाहर से सख्त और अंदर से नर्म जो होता है। ऐसे में पापा को अगर मन की बात कहनी है, तो यहां दी गई कविताएं आपकी मदद कर सकती है। तो पिता के लिए खूबसूरत कविताएं कुछ इस प्रकार हैं:

  1. मैं जब भी गिरा,
    उन्होंने मुझे थामे रखा,
    वो हमेशा मेरे लिए आगे रहें,
    वो मेरा एक मजबूत सहारा बने।

उनका कठोर दिखने वाला चेहरा,
सिर्फ मेरे लिए बदल गया,
उनका वो कोमल हृदय और उनका प्यार
सिर्फ मेरे लिए ही बना था।

मैं नहीं भूल सकता,
अपने पिता का वो प्यार,
जिसने मुझे इंसान बनना सिखाया।

सिखाया कि मुझे हारना नहीं है,
मुश्किलों से, संघर्षों से और हार के चेहरे से,
उन्होंने मुझे रोना, मांफी मांगना और बेहतर होना सिखाया।

मेरे पिता ने मुझे वो बनाया,
जो वो हमेशा से मुझे बनाना चाहते थे,
उन्होंने मुझे एक बेहतर इंसान बनना सिखाया,
मैं उनकी छाया हूं,
मुझे गर्व है कि मैं मेरे पिता जैसा हूं।
लव यू पापा!

  1. पापा मुस्कुराते नहीं थे,
    मुझे याद है,
    लेकिन वो मुझे चूम लिया करते थे,
    उनका सख्त हाथ,
    कभी कोमल नहीं रहा,
    लेकिन, वो हमेशा मेरे सर पर रहा।

उनकी आंखों में,
कभी मैंने नमी नहीं देखी,
हां, कभी-कभी  मुझसे नजरें चुराते देखा।

पापा ने कभी मुझे डांटा नहीं, लेकिन,
गलती करने पर समझाते और सिखाते,
मेरे गुस्सा हो जाने पर,
पापा मुझे पास पकड़ कर बैठा लिया करते।

मेरे फोन न उठाने पर अब वो कुछ नहीं कहते,
लेकिन, हर कॉल के बाद ‘ठीक हो’ लिखकर भेजना नहीं भूलते,
मैं पापा के अब पास नहीं रहता हूं, लेकिन उनको हर दिन
‘मिस यू’ जरूर लिखता हूं।

  1. पापा मेरे मेरी जान है,
    उन्हीं से तो मेरी पहचान है,
    उनसे मेरे सपनों की उड़ान है,
    उनसे ही तो मिली मेरे पंखों को जान है,
    वो मेरे जीवन की खुशियां और सुनहरा आसमान हैं,
    पापा मेरे सबसे निराले,
    उनके होने से ही तो परिवार की शान है,
    जीवन भर मेहनत करते रहे,
    यही तो उनकी पहचान है,
    दिल में सबके लिए रखते हैं प्यार,
    नहीं करते कभी किसी का अपमान हैं,
    मेरे पापा को मिलता है सभी से प्यार,
    यही तो उनका सबसे बड़ा सम्मान है।
  1. जिम्मेदारियों के तले,
    जो जीवन गुजार देता है,
    वो पिता है जो अपनी मेहनत से,
    परिवार संवार देता है।

अपने सपनों को छोड़ कर,
करता है बच्चों के ख्वाब पूरे,
वो पिता ही है जो अपनों के लिए,
इच्छाएं त्याग देता है,
खुद को जला कर,
बच्चों के लिए घरोंदा बना देता है।

हारता नहीं कभी वो,
रूठी किस्मत से भी लड़ जाता है,
अपने बच्चों की एक हंसी के लिए,
हर पिता अपने आंसू शौक से पी जाता है,
कहते हैं जिसे हम,
ईश्वर इस दुनिया का,
वो हम सबके हिस्से में,
पिता बनकर आता है।

  1. उन्होंने कभी अपने लिए खुशी नहीं मांगी,
    न कभी अपने सपनों के पीछे भागे,
    उन्होंने हमेशा अपनों के लिए काम किया,
    कभी अपने लिए कोई इच्छा नहीं रखी,
    उन्होंने एक मजबूत सहारा बनकर परिवार को खड़ा रखा,
    उनकी बातों ने सभी को उत्साहित किया,
    उन्होंने अपने लिए कभी कुछ बचा कर नहीं रखा,
    तब भी नहीं जब उन्हें जरूरत थी,
    वो किसी चट्टान की तरह हमेशा दुखों के आगे तने रहे,
    उन्हें हमने बस गले लगाया,
    और वो फिर से अपनी जिम्मेदारियों के लिए तैयार हो जाते रहें,
    हमेशा की तरह, वो थकते नहीं, रुकते नहीं,
    वो दोस्त, वो साथी और कोई नहीं हमारे पिता हैं,
    जो मुश्किलों से भी डरते नहीं।
  1. मैं कल को याद करती हूं,
    पापा हमेशा साथ नजर आते हैं,
    साथ भी, पास भी और आस-पास भी,
    पापा ने कभी मुझे अकेला नहीं छोड़ा,
    तब भी नहीं जब मैं जाना चाहती थी।

पापा ने मुझे बेहतर बनाया,
उतना बेहतर बनाया जितना मैं बन सकती थी,
पापा का प्यार हमेशा मुझे मजबूत बनाता रहा है,
तब भी जब मैं उनके साथ नहीं थी।

मैं हमेशा आपकी प्यारी बेटी रहूंगी,
और आप मेरे पापा, मेरे हीरो रहेंगे,
मैं जानती हूं मैं लकी हूं,
क्योंकि मैं आपकी बेटी हूं।

पापा मैं आपको प्यार करती हूं,
जितना मैं कह सकती हूं उससे कहीं ज्यादा,
आप मेरी दुनिया, मेरा सबकुछ हो,
मैं आपका सबसे ज्यादा सम्मान करती हूं।

  1. पिता का होना आशीर्वाद है,
    परिवार का गौरव और बच्चों का अभिमान है,
    पिता है घने बरगद का पेड़ सा,
    परिवार उसकी छांव में सुस्ताता गांव है।

पिता है मेरा सम्मान,
उनके होने से ये जहां गुलिस्तान है,
पिता कुदरत का वरदान है,
मेरे और परिवार के लिए वो महान हैं,
पापा आप हमारी जान हैं।

  1. मुश्किलों में जो मेरे संग रहा,
    आगे बढ़कर जो हर जंग लड़ा,
    मेरी नाराजगी पर जिसने,
    खुद भी खाना नहीं खाया,
    वो पापा आप ही तो थे।

जिसने गणित के सवालों को समझाया,
हिंदी की मात्राओं को बताया,
मेरे हाथों को पकड़कर,
जिसने लिखना था सिखाया,
पापा वो आप ही तो थे।

मां के बाद जिसने प्यार लुटाया,
उनकी जगह घर को सजाया,
हम बच्चों की हर कमी को,
जिसने कर दिया था पूरा,
वो पापा, आप ही तो थे।
लव यू पापा!

  1. उनको मां की तरह,
    रोता तो नहीं देखा, लेकिन
    जब वो मुस्कुराते हैं तो
    अच्छा लगता है।

उनको कभी परेशान,
तो नहीं देखा, लेकिन
वो जब सिर सहलाते हैं, तो
अच्छा लगता है।

उनको लव यू कहते,
नहीं सुना कभी, लेकिन
वो जब गले लगा लेते हैं,
तो अच्छा लगता है।

वो मां जैसे नहीं हैं,
लेकिन उनका हमें प्यार देना,
उतना ही अच्छा लगता है।
वो कोई और नहीं पापा ही तो हैं,
और पापा आप को इतना प्यार देना
अच्छा लगता है।

  1. मैं आपको प्यार करती हूं पापा,
    और ये आपको आज बताना है,
    मैं कहीं भी रही, मैंने हमेशा,
    आपका प्यार महसूस किया है,
    आपने मेरी बिना कहे मदद की है,
    आपका मेरी परवाह करना सबसे अलग रहा है,
    आप मेरे लिए कितने जरूरी हो,
    ये मैंने आपसे दूर जा कर जाना है,
    मेरी इस छोटी सी दुनिया का आप,
    एक चमकता सितारा हो,
    पापा मैं आपसे प्यार करती हूं,
    यही आपको आज बताना है।
    लव यू पापा!

अपने मम्मी-पापा को स्पेशल फील कराने के लिए आप इन कविताओं में से अपनी पसंद की कोई भी कविता चुन सकते हैं। इन कविताओं के जरिए आप अपने माता-पिता को बता सकते हैं कि आप उनसे कितना प्यार करते हैं। हम उम्मीद करते हैं कि इन कविताओं के जरिए हम आपके दिल की बात कहने में सफल रहें होंगे। यदि आप आगे भी इसी तरह के लेख/कविताएं पढ़ना चाहते हैं तो हमारी वेबसाइट विजिट करते रहें। साथ ही अगर आप अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को भी इस बारे में बताना चाहें तो हमारे लेख दूसरों के साथ भी जरूर शेयर करें

The following two tabs change content below.

Priyanka Trivedi