15+ पति-पत्नी के आपस के झगड़े को सुलझाने के बेहतरीन टिप्स | Ways To Handle Husband Wife Quarrel In Hindi

15+ पति-पत्नी के आपस के झगड़े को सुलझाने के बेहतरीन टिप्स | Ways To Handle Husband Wife Quarrel In Hindi

Image: iStock

IN THIS ARTICLE

रूठना-मनाना हर रिश्ते में लगा रहता है, लेकिन कभी-कभी बात इतनी बढ़ती चली जाती है कि झगड़े का रूप ले लेती है। समय रहते अगर इन झगड़ों को न संभाला जाए, तो रिश्ता टूटने की कगार पर पहुंच जाता है। पति-पत्नी पर ये बातें विशेष रूप से लागू होती हैं। यही वजह है कि मॉमजंक्शन पति-पत्नी के झगड़े सुलझाने के लिए बेहतरीन टिप्स लेकर आया है। यहां हम यह भी समझाएंगे कि पति-पत्नी के बीच कलह किन वजहों से होती है।

सबसे पहले समझते हैं कि पति-पत्नी के बीच मनमुटाव क्यों होते हैं।

पति-पत्नी के बीच झगड़े क्यों होते हैं?

पति-पत्नी के बीच झगड़े होना आम बात है। इसके पीछे कई कारण हो सकते हैं। यहां हम क्रमवार कुछ आम कारणों का जिक्र कर रहे हैं, जो अधिकतर पति-पत्नी के रिश्ते में झगड़े की वजह बन जाते हैं (1)

  1. विश्वासघात या धोखेबाजी – पति-पत्नी से जुड़े शोध में माना गया है कि पति-पत्नी का एक दूसरे को धोखा देना उनके बीच संघर्ष का सबसे बड़ा कारण है। इसके अलावा, अगर पति-पत्नी एक दूसरे से झूठ बोलते हैं या फिर कुछ छुपाते हैं, तो भी उनके बीच के झगड़े का कारण बन सकता है। 
  1. आर्थिक स्थिति – पति-पत्नी के बीच झगड़े का एक और बड़ा कारण आर्थिक असमर्थता है। इस विषय से संबंधित एक शोध में भी इस बात का जिक्र मिलता है कि वित्तीय मुद्दे वैवाहिक झगड़े के कारणों में से एक है। रिसर्च में यह भी बताया गया है कि लगभग 70 प्रतिशत वैवाहिक जीवन आर्थिक परेशानियों के कारण विफल होती है।
  1. संवाद की कमी – आपसी संवाद को वैवाहिक जीवन का आधार माना जाता है। एक रिसर्च के मुताबिक, सफल विवाह में संचार सबसे महत्वपूर्ण होता है। पति-पत्नी के बीच बातचीत कई विषयों पर हो सकती है जैसे कि दैनिक जीवन से संबंधित, पारिवारिक योजना, विचारों का आदान-प्रदान, समस्याओं का हल निकालना आदि। अगर पति-पत्नी के बीच ये सारी बातें नहीं होती, तो मनमुटाव हो सकता है और फिर आगे चलकर झगड़ा।
  1. प्यार में कमी – प्यार अपनी भावनाओं को व्यक्त करने का एक जरिया है। पति-पत्नी इसके माध्यम से अपनी भावनाओं को एक दूसरे को व्यक्त कर सकते हैं। अगर इसमें कमी आती है, तो यह भी झगड़े का कारण बन सकता है। इससे जुड़े एक रिसर्च में इस बात का जिक्र मिलता है कि जब पति-पत्नी के बीच प्यार में कमी आती है, तो रिश्तों में खटास आ सकती है।

अब हम पति-पत्नी के आपस के झगड़े को सुलझाने के उपाय बता रहे हैं।

15+ पति-पत्नी के आपस के झगड़े को सुलझाने के बेहतरीन टिप्स | Ways To Handle Husband Wife Quarrel In Hindi

यहां 15 से भी अधिक ऐसे बेहतरीन टिप्स हैं, जिनकी मदद से पति-पत्नी के बीच के झगड़े को आसानी से सुलझाया जा सकता है। चलिए, अब उन टिप्स के बारे में जानते हैं।-

  1. आपसी संवाद बढ़ाएं – जैसा कि हमने लेख में बताया है कि पति-पत्नी के बीच कलह का एक बड़ा कारण आपस में बातचीत न होना है। ऐसे में आपसी झगड़े से बचने के लिए बोलचाल बंद न करें। हमेशा याद रखें कि संवाद से ही बातें स्पष्ट होती हैं और किसी तरह की गलतफहमी नहीं होती। बातचीत एक ऐसा माध्यम है, जिससे बड़ी-से-बड़ी समस्याओं का हल निकाला जा सकता है। 
  1. समस्या की जड़ तक पहुंचे – आपसी झगड़े को सुलझाने के लिए जरूरी है कि उस कलह की जड़ तक पहुंचे। इससे उसका समाधान निकालने में मदद मिलेगी। इसके लिए खुद को सामने वाली की जगह रखकर सोचें। इसके जरिए यह समझ पाएंगे कि सामने वाला कैसा महसूस कर रहा है। फिर उसके हिसाब से ही प्रतिक्रिया दें, ताकि बात को आगे बढ़ने से रोका जा सके। 
  1. पार्टनर के व्यक्तित्व को समझें – अगर पति-पत्नी के बीच के झगड़े को रोकना है, तो अपने साथी के व्यक्तित्व, स्वभाव, पसंद और नापसंद को भी समझना जरूरी है। ऐसा करने से झगड़ों से बचा जा सकता है और रिश्ते में मिठास बनी रहती है। यही नहीं, कलह होने की आशंका भी कम होती है।
  1. अपने साथी को बदलने की कोशिश न करें – झगड़े से बचने के लिए जरूरी है कि अपने साथी को बदलने के बजाए वो जैसे हैं उन्हें वैसा ही अपनाएं। कई बार ऐसा होता है कि लोग अपनी इच्छानुसार सामने वाले को ढालने की कोशिश करते हैं, जिससे रिश्ते में खटास आ सकती है। ऐसे में बेहतर होगा कि इससे बचें, ताकि आपसी कलह न हो।
  1. एक दूसरे को प्राइवेसी दें – कुछ मामलों में आपसी झगड़े को सुलझाने के लिए जरूरी है कि एक दूसरे को स्पेस दें। इससे रिश्तों में संतुलन बना रहता है। कई बार एक दूसरे की जिंदगी में जरूरत से ज्यादा दखल देने से भी झगड़े हो सकता है। कुछ मामलों में अपने पार्टनर को प्राइवेसी दें, ताकि इस वजह से रिश्ते में किसी प्रकार का मनमुटाव न हो।
  1. माफी मांगना और माफ करना सीखें – माफी मांगने और माफ करने से हर तरह के झगड़े सुलझ सकते हैं। पति-पत्नी को भी आपसी झगड़े को सुलझाने के लिए इस तरीके को अपनाना चाहिए। इससे झगड़ा तुरंत खत्म हो जाएगा और बातें आगे नहीं बढ़ेंगी।
  1. नाइट डेट प्लान करें – अगर आपसी झगड़े के कारण पार्टनर नाराज है, तो उसे मनाने के लिए नाइट डेट प्लान कर सकते हैं। इसके लिए उनकी पसंद की जगह का चुनाव करें और पसंद का भोजन भी तैयार करवाएं। इससे सामने वाला स्पेशल महसूस करेगा और झगड़ा वहीं खत्म हो जाएगा। 
  1. एक दूसरे का आदर करें – ऐसा जरूरी नहीं कि पति-पत्नी के विचार एक जैसे हों। कभी-कभी किसी विषय पर दोनों के अलग-अलग मत हो सकते हैं। ऐसी स्थिति में एक दूसरे के फैसले का आदर करें। इससे सामने वाले को भी अच्छा महसूस होगा और आपस में झगड़े भी नहीं होंगे।
  1. संयम बरतें – पति-पत्नी के आपसी झगड़े को सुलझाने का एक और उपाय यह है कि दोनों को संयम बरतना आना चाहिए। यहां संयम का मतलब आत्म-नियंत्रण से है। संयम रखने से अपनी भावनाओं और गुस्सा दोनों को नियंत्रित किया जा सकता है। इससे आपसी मसले सुलझाने में मदद मिलेगी। साथ ही झगड़े होने की आशंका  भी कम होगी। 
  1. प्यार बढ़ाएं – पति-पत्नी के बीच झगड़े का एक कारण प्यार में कमी को भी माना गया है। दरअसल, कई बार ऐसा होता है कि पति या पत्नी अपने काम में व्यस्त होने के कारण एक दूसरे को समय नहीं दे पाते, जिस कारण आपसी कलह बढ़ जाती है। इसी वजह से जरूरी है कि एक दूसरे को समय दें और प्यार जताएं। इसकी मदद से बड़े-से-बड़े झगड़े को सुलझाया जा सकता है।
  1. सही शब्दों का चयन ठीक से करें – पति-पत्नी के बीच की अनबन को सुलझाने के लिए जरूरी है कि शब्दों का चयन ठीक तरीके से किया जाए। ऐसे में नरम और अच्छे शब्द गंभीर विवाद को भी सुलझा सकते हैं और कठोर शब्द तनाव व झगड़े को बढ़ा देते हैं। इसी वजह से जरूरी है कि आपसी झगड़े को सुलझाने के लिए शब्दों का चयन सही से किया जाए।
  1. बीच का रास्ता निकालें – आपसी कलह को सुलझाने का एक और तरीका है कि बीच का रास्ता निकालें। ऐसा हो सकता है कि पति-पत्नी की रुचि अलग-अलग चीजों में हो और कई बार यही चीज झगड़े का कारण बन जाती है। ऐसी स्थिति में बीच का रास्ता निकालना एकमात्र हल है।

उदाहरण के लिए, अगर पति-पत्नी में से एक को घर में टीवी देखना पसंद है और दूसरे को बाहर खाना खाना। ऐसे में बीच का रास्ता निकालते हुए हफ्ते में कुछ दिन बाहर जा सकते हैं और कुछ दिन घर में ही बैठकर क्वालिटी टाइम बिता सकते हैं।

  1. खुद को शांत रखें – अगर पार्टनर आप पर गुस्सा करता है, तो ऐसी स्थिति में खुद को शांत रखें। इससे बातों को बिगड़ने से रोका जा सकता है। दरअसल, बहस करने से विवाद और बढ़ता है। ऐसे में बेहतर होगा कि सामने वाला जब गुस्सा कर रहा है, तब बहस करने की जगह चुप रहें, ताकि विवाद को खत्म किया जा सके।
  1. पार्टनर की बातों को दिल पर न लें – पति-पत्नी के आपस के झगड़े को सुलझाने के लिए अपने पार्टनर की बातों को दिल पर न लें। ऐसा कई बार होता है कि पति या पत्नी का मूड ऑफिस में खराब हो गया हो, जिसका गुस्सा वो घर पर निकाल देते हैं। ऐसे में सामने वाले की परिस्थिति को समझते हुए उसे सहयोग करें। अगर गुस्से में पार्टनर कुछ कह देता है, तो उसकी बातों को दिल पर न लेते हुए उसे समझें और प्यार से परिस्थिति को संभालें।
  1. अहंकार को दूर रखें – अहंकार, अच्छे-से-अच्छे रिश्ते को खराब करने के लिए काफी है, इसलिए इससे दूरी बनाए रखें। अगर कपल के बीच आपस में किसी बात को लेकर छोटी-मोटी अनबन हो भी गई हो, तो अहंकारी न बनते हुए खुद जाकर सामने वाले को मनाएं। इससे झगड़ा तुरंत समाप्त हो जाएगा। 
  1.  सरप्राइज प्लान करें – सरप्राइज लगभग सभी को पसंद होता है और महिलाओं को इससे सबसे ज्यादा खुशी मिलती है। इसी वजह से आपस के झगड़े को खत्म करने के लिए पति-पत्नी एक दूसरे को सरप्राइज दे सकते हैं। इससे दोनों के बीच प्यार बढ़ेगा व रिश्ता और मजबूत होगा। 
  1. एक दूसरे पर भरोसा करें – रिश्ते में भरोसा न हो, तो वो कमजोर होता जाता है। ऐसे में जरूरी है कि पति-पत्नी एक दूसरे पर भरोसा बनाए रखें। जैसा कि हमने लेख में बताया कि पति-पत्नी के बीच झगड़े की एक बड़ी वजह विश्वासघात को माना गया है। ऐसे में जरूरी है कि अपने पार्टनर पर भरोसा बनाए रखें, ताकि रिश्ते में विश्वासघात जैसे शब्द को जगह न मिले।

पति-पत्नी का रिश्ता बड़ा ही अनोखा होता है। इनके बीच छोटी-मोटी तकरार होती ही रहती है, लेकिन उन तकरारों को सही समय पर संभालना ही समझदारी है। इससे खटपट आगे नहीं बढ़ती और रिश्ता मजबूत बना रहता है। बस इसके लिए लेख में बताए गए टिप्स को अपनाने की जरूरत है। याद रखें कि रिश्ते को तोड़ना का काम एक झटके में हो जाता है, लेकिन उसे बनाए रखने के लिए रोज छोटी-छोटी कोशिशें करनी पड़ती है।

References:

MomJunction's articles are written after analyzing the research works of expert authors and institutions. Our references consist of resources established by authorities in their respective fields. You can learn more about the authenticity of the information we present in our editorial policy.
The following two tabs change content below.