ब्रेक्सटन हिक्स संकुचन क्या होता है व प्रसव के संकुचन से कैसे अलग है? | Braxton Hicks Meaning In Hindi

Image: Shutterstock

IN THIS ARTICLE

गर्भावस्था खुशियों के साथ-साथ महिला के लिए कुछ शारीरिक समस्याएं भी लेकर आती है। इनमें से कुछ जल्द ठीक हो जाती हैं, तो कुछ गंभीर रूप ले सकती हैं। ऐसी ही एक समस्या है “ब्रेक्सटन हिक्स संकुचन”। यह कहना गलत नहीं होगा कि अधिकतर गर्भवती महिलाओं को इस बारे में पता नहीं होता है। वो ब्रेक्सटन हिक्स संकुचन से होने वाले दर्द को अक्सर प्रसव पीड़ा समझने लेती हैं। मॉमजंक्शन के इस लेख में हम ब्रेक्सटन हिक्स संकुचन के बारे में विस्तार से बता रहे हैं। साथ ही जानेंगे इसके कारण, प्रकार और उपचार के बारे में।

लेख की शुरुआत हम ब्रेक्सटन हिक्स संकुचन की परिभाषा के साथ करते हैं।

ब्रेक्सटन हिक्स संकुचन क्या है? | braxton hicks contractions meaning in hindi

गर्भावस्था के दौरान ब्रेक्सटन हिक्स संकुचन को प्रोड्रोमल या फॉल्स लेबर पेन के रूप में जाना जाता है। ऐसा आमतौर पर गर्भावस्था की दूसरी या तीसरे तिमाही से महसूस किया जा सकता है। इस दौरान गर्भवती महिला गर्भ में संकुचन या कसाव को महसूस कर सकती है। यह कसाव 30 सेकंड से लेकर 1 मिनट तक का हो सकता है। ऐसा 1 घंटे में एक या दो बार हो सकता है। इस दौरान ऐसा लगता है कि प्रसव पीड़ा शुरू हो गई है, जबकि ऐसा नहीं होता। यह संकुचन गर्भाशय के ऊपरी हिस्से से शुरू होकर नीचे की ओर जाता है (1) (2)

यहां हम आपको बता रहे हैं कि ब्रेक्सटन हिक्स संकुचन का अहसास कैसे होता है।

ब्रेक्सटन हिक्स संकुचन कैसे महसूस होता है?

ब्रेक्सटन हिक्स संकुचन के दौरान गर्भ की मांसपेशियों में संकुचन या कसाव होता है, जिस कारण किसी-किसी महिला को दर्द भी हो सकता है। जैसा कि हमने बताया कि इसे प्रोड्रोमल या फॉल्स लेवर पेन के रूप में भी जाना जाता है। यह समस्या होने पर ऐसा महसूस होता है जैसा कि लेवर का शुरुआती दर्द होता है, जबकि ऐसा नहीं होता (2)

लेख के इस भाग में हम ब्रेक्सटन हिक्स के विभिन्न प्रकारों के बारे में बात करेंगे।

संकुचन के कितने प्रकार होते हैं?

संकुचन को पांच प्रकार से विभाजित किया गया है। यहां हम उन्हीं के बारे में बता रहे हैं (3):

  1. ब्रेक्सटन हिक्स संकुचन: इसे फाल्स संकुचन के नाम से भी जाना जाता है। इसके बारे में ऊपर लेख में विस्तार से बताया गया है।
  1. प्रीटर्म लेबर संकुचन: यह संकुचन गर्भावस्था की समयावधी यानी 37 सप्ताह होने से पहले होता है। कुछ मामलों में इसके कारण शिशु का समय से पहले जन्म हो सकता है (4)
  1. अरली लेबर संकुचन: यह संकुचन मासिक धर्म के ऐंठन की तरह महसूस होता है। इसमें गर्भाशय ग्रीवा यानी सर्विक्स लगभग 4 सेंटीमीटर तक फैल जाती है।
  1. एक्टिव लेबर संकुचन: यह संकुचन थोड़ा दर्दनाक होता है। इससे स्पष्ट हो जाता है कि प्रसव का समय पास आ रहा है। इस दौरान गर्भाशय ग्रीवा लगभग 4 से 10 सेंटीमीटर तक फैल जाती है।
  1. ट्रांसेसन संकुचन: इस संकुचन में लेबर की तरह सबसे ज्यादा दर्द होता है। यह दो से तीन मिनट के अंतराल में 60 से 80 सेकंड तक रह सकता है। इसमें गर्भाशय ग्रीवा लगभग 7 से 10 सेंटीमीटर तक फैल सकती है।

ब्रेक्सटन हिक्स संकुचन के प्रकार के बाद यहां बता रहे हैं कि ब्रेक्सटन हिक्स संकुचन के क्या कारण हो सकते हैं।

ब्रेक्सटन हिक्स संकुचन होने का कारण क्या है?

वैज्ञानिकों के लिए अभी ब्रेक्सटन हिक्स संकुचन के सटीक कारण के बारे में बताना मुश्किल है। फिर भी सीमित अध्ययनों से पता चलता है कि कुछ संभावित कारण हैं, जो ब्रेक्सटन हिक्स संकुचन को बढ़ावा देते हैं, जिनके बारे में हम नीचे बता रहे हैं (1)

  • डिहाइड्रेशन: शरीर में पानी की कमी होने से डिहाइड्रेशन की समस्या हो सकती है, जिससे ब्रेक्सटन हिक्स संकुचन की समस्या हो सकती है। इसलिए, गर्भवती महिलाओं को हर दिन 10 से 12 गिलास पानी जरूर पीना चाहिए।
  • शारीरिक गतिविधियां: ज्यादा देर तक खड़े रहने से या फिर अधिक थकावट वाला काम करने पर भी इसका अहसास हो सकता है।
  • यौन संबंध: ऐसा माना जाता है कि शारीरिक संबंध के बाद शरीर ऑक्सीटॉसिन नामक हार्मोन का उत्पादन करता है। इस हार्मोन के कारण गर्भाशय की मांसपेशियां सिकुड़ सकती हैं। इसके अलावा, वीर्य में मौजूद प्रोस्टाग्लैंडीन भी संकुचन का कारण बन सकता है।
  • मूत्राशय: मूत्र से भरा हुआ ब्लेडर यानी मूत्राशय फूलकर गर्भाशय पर दबाव डाल सकता है। इस दबाव से भी संकुचन या ऐंठन की समस्या हो सकती है।

आइए, अब ब्रेक्सटन हिक्स संकुचन और प्रसव संकुचन के अंतर को समझने का प्रयास करते हैं।

ब्रेक्सटन हिक्स संकुचन व प्रसव संकुचन में क्या अंतर है?

ब्रेक्सटन हिक्स संकुचन और प्रसव के संकुचनों को जानने के लिए निम्न बिंदुओं पर ध्यान दे सकते हैं।

अंतरब्रेक्सटन हिक्स संकुचनप्रसव का संकुचन
कब शुरू होता हैइसका अहसास दूसरी तिमाही की शुरुआत में होता है और तीसरी तिमाही में अधिक बार हो सकता है।यह गर्भावस्था के 37वें सप्ताह के बाद या फिर समय से पहले हो सकता है, जो कि प्रसव का संकेत हो सकता है।
अवधियह संकुचन समय-समय पर होता है, लेकिन बिना किसी नियमित पैटर्न के इसे महसूस किया जा सकता है।यह नियमित अंतराल पर होता है और जैसे-जैसे प्रसव का समय पास आता है, यह तेज होने लगता है।
कब तक रहता हैइसकी अवधि 30 सेकंड से लेकर 1 मिनट तक हो सकती है।इसकी अवधि लगभग 30 से लेकर 70 सेकंड तक हो सकती है।
कैसा महसूस होता हैइसमें पेट में मरोड़ व कसाव जैसा महसूस होता है, लेकिन पेट में दर्द कम ही महसूस होता है।यह तरंगों में आने वाली पेट की जकड़न या ऐंठन होती है, जो पीछे से शुरू होकर आगे की ओर बढ़ती है। साथ ही समय के साथ अधिक तेज और दर्दनाक होती जाती है।

आर्टिकल में आगे जानेंगे कि प्रेगनेंसी में गर्भाशय संकुचन होने पर क्या करना चाहिए।

ब्रेक्सटन हिक्स संकुचन के दर्द से राहत पाने के उपाय

डॉक्टरों की मानें, तो ब्रेक्सटन हिक्स संकुचन का कोई उपचार नहीं है। बस ब्रेक्सटन हिक्स संकुचन को ट्रिगर करने वाली स्थिति को बदलने और इसके कारण होने वाली समस्या को कम किया जा सकता है। यहां हम इसी बारे में बता रहे हैं (1)

  1. अधिक समय तक एक ही पोजीशन में नहीं बैठें।
  2. दर्द की स्थिति होने पर लेट जाएं।
  3. हल्के गुनगुने पानी से नहाएं
  4. मालिश करने पर भी आराम मिल सकता है।
  5. आराम करें और संगीत सुनें।
  6. खुद को हाइड्रेट रखने के लिए पानी पिएं।
  7. अगर फिर भी ब्रेक्सटन हिक्स संकुचन में कम न आए, तो डॉक्टर से संपर्क करें।

नीचे पढ़ें कि ब्रेक्सटन हिक्स संकुचन होने पर डॉक्टर के पास कब जाना चाहिए।

डॉक्टर से कब बात करनी चाहिए?

ब्रेक्सटन हिक्स संकुचन की स्थिति को कम करने के लिए ऊपर दिए गए उपायों को अपनाया जा सकता है। अगर उपरोक्त उपाय काम नहीं करते हैं और संकुचन जारी रहता है और ऐसा बार या तीव्र हो, तो डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। इसके अलावा निम्न लक्षण दिखाई देने पर भी डॉक्टर के पास जाना जरूरी है (1):

बेशक, कुछ महिलाओं के लिए संकुचन व लेबर पेन में अंतर तय करना मुश्किल भरा हो सकता है, लेकिन स्वास्थ्य को जरूर बेहतर रखा जा सकता है। इसलिए, हर गर्भवती महिला अपने खान-पान पर जरूर ध्यान दे, ताकि ब्रेक्सटन हिक्स संकुचन जैसी अवस्था को सामना न करना पड़े। आशा करते हैं कि लेख में दी गई जानकारी आपके लिए लाभदायक साबित होगी। साथ ही इस लेख को अपने परिचितों के साथ जरूर साझा करें।

References:

MomJunction's health articles are written after analyzing various scientific reports and assertions from expert authors and institutions. Our references (citations) consist of resources established by authorities in their respective fields. You can learn more about the authenticity of the information we present in our editorial policy.
1. Braxton Hicks Contractions By NCBI
2. Am I in labor? By MedlinePlus
3. Physiology, Pregnancy Contractions By NCBI
4. Preterm labor By MedlinePlus