गर्भावस्‍था में शरीर से बदबू आना : कारण व इलाज | Body Odor In Pregnancy In Hindi

Body Odor In Pregnancy In Hindi

Image: iStock

IN THIS ARTICLE

गर्भावस्था के दौरान महिलाओं के शरीर में तमाम तरह के बदलाव होते हैं। इन बदलाव के कारण महिलाओं को छोटी-बड़ी कुछ परेशानियों का सामना करना पड़ता है। शरीर में बदबू आना भी इन्हीं समस्या में से एक है। आइए, मॉमजंक्शन के इस लेख में जानते हैं कि ​गर्भावस्‍था में शरीर की दुर्गंध आने का कारण क्या हैं और इसका इलाज कैसे किया जा सकता है। चलिए, लेख में आगे बढ़ते हुए इस विषय पर विस्तार से जानने की कोशिश करते हैं।

सबसे पहले जानते हैं कि गर्भवती महिला के शरीर से बदबू आना आम है।

​​क्या प्रेगनेंसी में शरीर से बदबू आना सामान्य है? | pregnancy mein sarir se badbu aana

हां, ​गर्भावस्‍था के दौरान शरीर से बदबू आना सामान्य हो सकता है। दरअसल, गर्भावस्था के दौरान महिला के शरीर का बेसल मेटाबॉलिक रेट बढ़ जाता है (1)। इससे शरीर में खून का बहाव और शरीर के तामपान में वृद्धि हो सकती है। परिणामस्वरूप, गर्भवती महिला के शरीर में पसीने की मात्रा बढ़ सकती है (2)। वहीं, कुछ गर्भवती महिलाओं की सूंघने की शक्ति तेज हो सकती है, जिस वजह से उन्हें खुद के शरीर से गंध आ सकती है (3)।

अब समझिए, ​गर्भावस्‍था में शरीर से बदबू आने के कारण क्या हो सकते हैं

प्रेगनेंसी में शरीर से बदबू आने के कारण | Causes of Body Odour During Pregnancy in hindi

महिलाओं को कई कारणों से शरीर से गंध आने की शिकायत हो सकती है, जैसे कि:

1. हार्मोनल बदलाव : गर्भावस्था में शरीर से गंध आने का मुख्य कारण हार्मोन में बदलाव हो सकता है। इस दौरान प्रोजेस्टेरोन और एस्ट्राडियोल हार्मोन की मात्रा शरीर में बढ़ जाती है। इससे गर्भवती महिला की सूंघने की शक्ति तेज हो सकती है (4)। इन बदलावों से सबसे ज्यादा गुप्तांग और अंडरआर्म्स प्रभावित हो सकते हैं।

2. पसीने की मात्रा बढ़ना : गर्भावस्था के दौरान महिला के शरीर में पसीने की ग्रंथियों की गतिविधि पहले के मुकाबले बढ़ जाती है। इससे महिला द्वारा किए गए किसी भी शारीरिक कार्य के दौरान अधिक पसीना आ सकता है (5)। बेशक, पसीना गंधहीन होता है, लेकिन इसके चलते शरीर पर बैक्टीरिया पैदा हो सकते हैं। इस कारण शरीर से गंध उत्पन्न हो सकती है (6)।

3. आहार में बदलाव : गर्भावस्था के दौरान महिलाएं पौष्टिक पदार्थों का सेवन करती हैं। इन पौष्टिक पदार्थों में से कुछ शरीर की गंध में बदलाव का कारण बन सकते हैं। हालांकि, इसको लेकर अभी शोध में कमी पाई गई है। वहीं, एक अन्य रिसर्च पेपर के मुताबिक, गर्भावस्था के दौरान रेड मीट का सेवन, शरीर की गंध पर प्रभाव डाल सकता है (7)।

4. योनि स्राव : गर्भावस्था के दौरान शरीर में खून की आपूर्ति बढ़ने से योनि का पीएच स्तर प्रभावित हो सकता है। इसके कारण अलग-सी गंध आ सकती है। वहीं, अगर गंध के साथ असामान्य स्राव, जलन या खुजली होती है, तो यह योनि संक्रमण का संकेत हो सकता है (8)।

आगे हम कुछ ऐसे घरेलू टिप्स दे रहें हैं, जिनकी मदद से गर्भावस्था में शरीर की गंध को दूर किया जा सकता है।

गर्भावस्‍था में शरीर से बदबू दूर करने के घरेलू उपाय

गर्भवती महिलाएं इन निम्न तरीकों से शरीर की दुर्गंध को कुछ हद तक कम कर सकती हैं।

1. स्नान करें : शारीरिक दुर्गंध से परेशान गर्भवती महिलाओं को दिन में कम से कम दो बार स्नान करना चाहिए। इसके लिए वो एंटी-बैक्टीरियल साबुन का इस्तेमाल कर सकती हैं। यह साबुन शरीर में उत्पन्न करने वाले बैक्टीरिया को कुछ हद तक नष्ट करने में मदद कर सकता है। इसके अलावा, स्नान करने के बाद शरीर पोंछने के लिए साफ तौलिए का उपयोग कर सकते हैं।

2. ताजगी बनाए रखें : गर्भावस्था में गुनगुने पानी से नहाना सुरक्षित माना जा सकता है (9)। स्नान के दौरान पानी से भरी बाल्टी में नींबू को निचोड़ लें, फिर उस पानी से स्नान करें। इसके अलावा, एक डिब्बे में नींबू और शहद मिलाकर बनाए हुए मिश्रण से शरीर के अंगों को साफ कर सकती हैं। यह मिश्रण शरीर की दुर्गंध मिटाने के साथ ही त्वचा को मुलायम बनाए रखने में भी कारगर हो सकता है। इसके साथ ही पुदीने की पत्तियों का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। इसकी खुशबू से शरीर में ताजगी महसूस हो सकती है।

3. शैंपू का उपयोग : नियमित रूप से बालों की सफाई कर सकते हैं। इसके अलावा, बालों को संवारने के लिए उपयोग की जाने वाली कंघी में इत्र का छिड़काव कर सकते हैं। इससे जब भी बालों के लिए कंघी का इस्तेमाल करेंगे, तो ये बालों को सुगंधित करेगा। वहीं, कंघी को हमेशा साफ-सुथरा और सूखा रखें (10)।

4. अनचाहे बाल : गुप्तांग और अंडर आर्म्स के बाल ट्रिम कर सकते हैं। दरअसल, इन क्षेत्रों में उगे बालों में पसीना रह जाता है। इससे त्वचा पर जीवाणु जमा हो सकते हैं। इनको नियमित रूप से साफ करें, ताकि यहां पसीना जमा न हो, जो दुर्गंध का कारण बन सकता है। अमूमन डॉक्टर भी डिलीवरी से पहले गुप्तांग के बालों को ट्रिम करते हैं, ताकि शिशु को किसी तरह का इंफेक्शन न हो (11)।

5. सूती कपड़े पहने : गर्भावस्था के दौरान सूती और ढीले कपड़े पहनने चाहिए। ढीले कपड़ों से शरीर में हवा लगती है, जो पसीने को जल्दी सूखा देता है। ऐसे में गंध आने की समस्या को कुछ हद तक कम किया जा सकता है।

चलिए जानते हैं गर्भवती महिला के शरीर से गंध को दूर करने का क्या इलाज है।

गर्भावस्‍था में शरीर से बदबू दूर करने का इलाज

गर्भावस्था के दौरान शारीरिक गंध से बच्चे और गर्भवती महिला को किसी भी तरह की कोई हानि नहीं हो सकती है। इसलिए, इस समस्या से घबराने की जरूरत नहीं है। हालांकि, शारीरिक दुर्गंध को कुछ हद तक नियंत्रित करने के लिए डॉक्टर निम्न सुक्षाव दे सकते हैं।

  • डॉक्टर सबसे पहले गर्भवती महिला के शरीर से आने वाली दुर्गंध की जांच करेगा कि ये गंध किसी शारीरिक बीमारी के कारण तो नहीं आ रही है।
  • शरीर की दुर्गंध से छुटकारा पाने के लिए डॉक्टर दवा-युक्त साबुत का उपयोग करने की सलाह दे सकते हैं।
  • गर्भावस्था के दौरान कुछ महिलाओं को दवाइयों का सेवन कर पड़ सकता है। इसमें से कुछ दवाइयां दुर्गंध का कारण बन सकती है। ऐसे में डॉक्टर वर्तमान दवाओं को बदलने के लिए कह सकते हैं।

लेख के अंतिम भाग में कुछ जानकारी दी गई है, जिसे आप जरूर पढ़ें।

डॉक्टर से कब संपर्क करें

गर्भावस्था के दौरान साफ-सफाई का ध्यान देने और सही भोजन का सेवन करने के बावजूद निम्न लक्षण नजर आने पर तुरंत डॉक्टर के पास जाना चाहिए।

  • शरीर की गंध में बदलाव का अनुभव होने पर।
  • अगर अचानक अधिक पसीना आने की समस्या हो।
  • जब शारीरिक गंध असहनीय लगने लगे।
  • अगर विभिन्न घरेलू उपायों के बाद भी शरीर की बदबू नहीं जाती है।

गर्भधारण के बाद से ही महिलाओं के शरीर से बदबू आना आम है। ऐसे में इसको लेकर घबराएं नहीं, बल्कि लेख में बताए गए तरीकों के माध्यम से इससे निजात पाने का प्रयास करें। वहीं, अगर किसी महिला को घरेलू उपायों से शरीर की बदबू से राहत मिलने में तकलीफ होती है, तो बिना देर किए डॉक्टर की सलाह जरूर लें। गर्भावस्था के दौरान महिलाएं जितनी ज्यादा सजग होंगी, उतना ही स्वस्थ्य उनका शरीर रहेगा। हम उम्मीद करते हैं कि ये लेख आपके लिए लाभदायक रहा होगा। गर्भावस्था से जुड़ी अन्य जानकारी के लिए पढ़ते रहें मॉमजंक्शन।

References:

MomJunction's articles are written after analyzing the research works of expert authors and institutions. Our references consist of resources established by authorities in their respective fields. You can learn more about the authenticity of the information we present in our editorial policy.
  1. Changes in basal metabolic rate during pregnancy in relation to changes in body weight and composition cardiac output insulin-like growth factor I and thyroid hormones and in relation to fetal growth
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/15755839/
  2. Physiology of sweat gland function: The roles of sweating and sweat composition in human health
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6773238/
  3. Pregnancy and olfaction: a review
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3915141/#__ffn_sectitle
  4. Olfactory Receptor Neurons
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4975405/#__ffn_sectitle
  5. Antenatal Care Module: 7. Physiological Changes During Pregnancy
    https://www.open.edu/openlearncreate/mod/oucontent/view.php?id=37&printable=1
  6. Understanding the microbial basis of body odor in pre-pubescent children and teenagers
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6267001/
  7. The effect of meat consumption on body odor attractiveness
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/16891352/
  8. Pathological Vaginal Discharge among Pregnant Women: Pattern of Occurrence and Association in a Population-Based Survey
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3703429/#sec1title
  9. Heat stress and fetal risk. Environmental limits for exercise and passive heat stress during pregnancy: a systematic review with best evidence synthesis
    https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/29496695/
  10. Safety of Topical Medications for Scabies and Lice in Pregnancy
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5122270/
  11. Routine perineal shaving on admission in labour
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC7076285/#CD001236-sec1-0007title