गर्भावस्था में बाल झड़ना : कारण व घरेलू उपाय | Pregnancy Me Baal Girna

Pregnancy Me Baal Girna

Image: Shutterstock

IN THIS ARTICLE

किसी भी महिला के लिए गर्भावस्था उसके जीवन के सबसे सुखद एहसासों में से एक है, लेकिन ढेर सारी खुशियों के साथ ये अवस्था कुछ शारीरिक बदलाव भी लाती है। इस दौरान जी मिचलाना, हाथ-पैरों में सूजन, थकान, त्वचा पर धब्बे बहुत आम हैं (1)। बालों का झड़ना भी ऐसी ही समस्या है, जिसका सामना गर्भवस्था के दौरान आपको करना पड़ सकता है। हालांकि, सबकी गर्भावस्था एक जैसी नहीं होती, इसलिए बाल झड़ने के कारण अलग-अलग हो सकते हैं।

मॉमजंक्शन के इस लेख में हम जानेंगे कि गर्भावस्था के दौरान बाल झड़ने के क्या-क्या कारण हो सकते हैं और उसके उपाय क्या हैं।

क्या गर्भावस्था के दौरान बालों का झड़ना आम है? | Pregnancy Me Baal Girna

अगर गर्भावस्था के बाद वाले समय से तुलना करें, तो गर्भावस्था के दौरान बालों का झड़ना आम नहीं है। शोध के अनुसार, तीसरी तिमाही में बाल ज्यादा झड़ते हैं (2)। इस दौरान, बालों का झड़ना गर्भवती के स्वास्थ और गर्भावस्था की प्रकृति पर भी निर्भर करता है। कई महिलाओं का कहना है, कि गर्भावस्था के दौरान उनके बाल झड़ने में कमी आई है (3)

इस अवस्था में बाल गुच्छे के रूप में झड़ सकते हैं या पैचेज के रूप में भी निकल सकते हैं जैसे सिर के बीच से या सामने से या सिर के किसी और भाग से। पैचेज के रूप में बाल झड़ने वाली इस समस्या को चिकित्सकीय भाषा में एलोपेसिया (alopecia) कहा जाता है। गर्भवती महिला को ऐसा होना आम है (4)

लेख के अगले हिस्से में हम गर्भावस्था में बाल झड़ने के कारणों के बारे में बात करेंगे।

गर्भावस्था में बालों के झड़ने के क्या कारण हैं?| Pregnancy Mein Baal Kyu Jate Hain

गर्भावस्था के दौरान बाल कई कारणों से झड़ सकते हैं। इस दौरान गर्भवती महिला शारीरिक, मानसिक और हार्मोनल बदलाव से गुजरती है, जो बालों के झड़ने की वजह हो सकती है। इनके अलावा और भी कुछ कारण हैं, जिनके बारे में हम आगे बात करेंगे :

  • हार्मोंस में बदलाव : गर्भावस्था के दौरान महिला के हार्मोंस में भी कई बदलाव आते हैं। हार्मोंस में बदलाव से (खासकर एस्ट्रोजन) बालों के विकास चक्र में परिवर्तन आ जाता है, जिससे बाल झड़ने की समस्या उत्पन्न हो सकती है (5)
  • पोषक तत्वों की कमी : गर्भावस्था के दौरान आयरन, जिंक और फोलिक एसिड जैसे तत्वों की कमी से भी, बालों का झड़ना बढ़ सकता है (6)
  • थायराइड की समस्या : हाइपोथाइरॉइडिज्म (Hypothyroidism) यानी शरीर में थायराइड हार्मोन की कमी। गर्भावस्था के दौरान यह बहुत आम है। बालों के उगने और उनके रखरखाव में थायराइड हार्मोन अहम भूमिका निभाता है। इसके कम होने से बाल झड़ने की समस्या बढ़ सकती है (7) (8)
  • पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम : यह एक तरह का हार्मोनल असंतुलन है। यह असंतुलन महिलाओं के अंडाशय (ovary) में होता है। पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम की वजह से अंडाशय में अंडे पूरी तरह विकसित नहीं हो पाते और महिलाओं को मासिक धर्म आने में समस्या होती है। इस दौरान शरीर में एण्ड्रोजन नामक हार्मोन का उत्पादन ज्यादा होता है, जो बाल झड़ने की एक वजह हो सकता है (9)
  • आनुवंशिक : गर्भावस्था के दौरान बालों का झड़ना आनुवंशिक भी हो सकता है। अगर आपके मां को यह समस्या थी, तो यह आपको भी हो सकती है (10)

आइए, अब गर्भावस्था के दौरान बाल झड़ने की समस्या के लिए घरेलू नुस्खों की बात करते हैं।

गर्भावस्था के दौरान बाल गिरने के घरेलू उपचार

गर्भवस्था के दौरान गर्भवती को बालों पर केमिकल पदार्थों का प्रयोग करने से बचना चाहिए। यह महिला के बालों के लिए अच्छा नहीं होता है। नीचे दिए गए घरेलू नुस्खों की मदद से गर्भावस्था के दौरान बाल झड़ने की समस्या से राहत मिल सकती है।

1. गुनगुने तेल से मालिश

सामग्री:

नारियल तेल (आवश्यकतानुसार)

विधि:

तेल को गुनगुना करें और उससे बालों की 15-20 मिनट तक मसाज करें।

कैसे काम करता है :

नारियल के तेल में लोरिक एसिड होता है, जो बालों को प्रोटीन प्रदान करता है और बालों को बढ़ने में मदद करता है। इससे मालिश करने से बालों को भरपूर पोषण मिलेगा और उनके टूटकर झड़ने में कमी आ सकती है (11)

2. एलोवेरा जेल

साम्रग्री:

  • 1 कप एलोवेरा जेल

विधि

  • एलोवेरा जेल को स्कैल्प पर लगा कर, 10 मिनट मसाज करें और 15 मिनट के लिए छोड़ दें।
  • इसके बाद पानी से धो कर शैम्पू कर लें।

यह काम कैसे करता है :

एलोवेरा जेल में मौजूद एंजाइम स्कैल्प को किसी भी तरह के संक्रमण से बचा कर, बालों को झड़ने से रोकते हैं (12)

3. आंवला पाउडर

सामग्री:

  • 2 छोटे चम्मच आंवला पाउडर
  • 2 बड़े चम्मच नारियल/ऑलिव ऑयल

विधि:

  • एक पैन में तेल गरम करके उसमें आंवला पाउडर मिलाएं।
  • इसे भूरा होने तक गरम करें।
  • जब पाउडर अच्छी तरह से तेल में मिल जाए, तो इसे एक बाउल में निकल लें।
  • जब मिश्रण थोड़ा ठंडा हो जाए, तो उससे 15 मिनट तक स्कैल्प की मसाज करें।
  • मसाज करने के बाद इसे 30 मिनट के लिए बालों में छोड़ दें और फिर गुनगुने पानी से शैम्पू कर लें।

कैसे काम करता है :

आंवला को सदियों से एक आयुर्वेदिक औषधि के रूप में इस्तेमाल किया जा रहा है। यह शरीर को कैल्शियम का पूरी तरह से उपयोग करने में मदद करता है। साथ ही यह बालों को मजबूती देता है और सफेद होने से बचाता है। नारियल तेल से साथ मिल कर आंवला के गुण बढ़ जाते हैं (13)

4. नारियल का दूध

सामग्री:

  • आधा कप ताजा नारियल का दूध

विधि:

  • नारियल के दूध को हल्का-सा गरम कर लें।
  • दूध से स्कैल्प की 15 मिनट तक मसाज करें।
  • इसे 45 मिनट तक बालों में लगा रहने दें।
  • अब बालों को शैम्पू से धो लें।

कैसे काम करता है:

नारियल के दूध में मौजूद औषधीय गुण आपके बालों को पोषण प्रदान करते हैं। इससे बालों का झड़ना कम हो सकता है (14)

5. विभिन्न तेलों का मिश्रण

सामग्री:

  • 6 चम्मच अरंडी का तेल
  • एक चौथाई चम्मच लैवेंडर एसेंशियल ऑयल

विधि:

  • दोनों तेलों को मिला कर बालों में हल्के हाथों से मसाज करें।
  • एक घंटा रखने के बाद शैम्पू से धो लें।

कैसे काम करता है :

अरंडी का तेल 90 प्रतिशत फैटी एसिड से बना होता है, जो बालों को बढ़ने में मदद करता है और बालों का झड़ना भी रोकता है (14) (15)

6. नींबू का रस

सामग्री:

  • 1 अंडा
  • 1 चम्मच नींबू का रस

विधि:

  • एक बाउल में एक अंडे को फेंट लें।
  • फिर इसमें एक चम्मच नींबू का रस मिलाएं।
  • इस मिश्रण से स्कैल्प की मसाज करें।
  • 30 मिनट बाद अपने शैम्पू से धो लें।

कैसे काम करता है :

नींबू के रस में भरपूर मात्रा में विटामिन-सी होता है। यह बालों को बढ़ने में सहायता करता है (16)

7. झड़ते बालों के लिए मेथीदाना

सामग्री:

  • आधा कप मेथीदाना

विधि:

  • आधा कप मेथी के बीजों को रातभर पानी में भिगोकर कर रखें।
  • सुबह उठ कर मेथी के बीजों को पीसकर पेस्ट बना लें।
  • अब इस पेस्ट से स्कैल्प की मसाज करें और पूरे बालों में लगाएं।
  • पेस्ट को तीन से चार घंटे के लिए बालों में लगा रहने दें।

कैसे काम करता है:

मेथी के बीजों में विटामिन-बी और एंटीऑक्सीडेंट तत्व होते हैं, जो बालों को न सिर्फ बढ़ाने में बल्कि उन्हें घना बनाने में भी मदद करते हैं (17)

8. अंडा-दही मास्क:

सामग्री:

  • 1 अंडा
  • 2 चम्मच दही

विधि:

  • एक बाउल में एक अंडे को अच्छे से फेंट लें।
  • अब इसमें 2 चम्मच दही मिलाएं।
  • इस मिश्रण को बालों की जड़ों से लेकर सिरे तक अच्छी तरह से लगाएं।
  • मास्क को 20-30 मिनट तक बालों में लगा रहने दें।
  • अब शैम्पू से अच्छी तरह बालों को धो लें।

कैसे काम करता है:

अंडे में आयरन, विटामिन-डी और बायोटिन जैसे तत्व होते हैं, जो बालों को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं और बालों का झड़ना कम करते हैं। साथ ही, ये बालों को मुलायम और चमकदार भी बनाते हैं। वहीं, दही बालों को पोषण देता है और बढ़ने में मदद करता है (16) (18)

इन सारे घरेलू नुस्खों के साथ आप कुछ सतर्कता भी बरतें। लेख के अगले भाग में हम इसी बारे में बात करेंगे।

गर्भावस्था के दौरान बालों का झड़ना कैसे रोकें?

कहा जाता है कि बचाव, उपचार से बेहतर है। गर्भावस्था के दौरान बाल झड़ना रोकने के लिए आप नीचे बताए गए सुझावों का पालन कर सकती हैं:

  • अपने बालों में बहुत ज्यादा कंघी न करें। इससे बाल और ज्यादा खराब हो सकते हैं।
  • अपने बालों को ज्यादा कस कर न बांधें। इससे बाल टूट सकते हैं।
  • अपने बालों पर कोई भी केमिकल इस्तेमाल करने से बचें, जैसे हेयर कलर, स्ट्रेटटिंग, रिबॉन्डिंग आदि। इससे बालों की नमी खत्म होने लगती है।
  • आप जो भी शैम्पू या कंडीशनर उपयोग करें, ध्यान रखें कि वो आपके बालों के अनुसार हो।
  • बालों की मालिश करने से रक्त संचार बेहतर रहता है, जिससे बाल स्वस्थ रहते हैं।
  • बालों पर केमिकल डाई का प्रयोग करने से बचें।
  • अपने आहार में हरी पत्तेदार सब्जियों की मात्रा बढ़ाएं। इनमें भरपूर मात्रा में आयरन होता है, जो बालों का झड़ना कम करने के लिए मददगार साबित हो सकते हैं (16)
  • फलों का सेवन करें। इनमें मौजूद पोषक तत्व बालों को बढ़ने में मदद करते हैं (16)

गर्भावस्था के दौरान बाल न झड़ने के लिए आप कुछ उपचार भी कर सकती हैं, जिनके बारे में हम आगे बात करेंगे।

गर्भावस्था के दौरान बालों के झड़ने के लिए उपचार

गर्भावस्था के दौरान बाल सिर्फ कुछ समय के लिए झड़ते हैं और समय के साथ ठीक भी हो जाते हैं। इसके लिए कोई उपचार करने से बेहतर होगा कि घरेलू नुस्खे आजमाएं। साथ ही सावधानियों को ध्यान में रखकर गर्भावस्था के दौरान बाल झड़ने की समस्या से राहत पाई जा सकती हैं। अगर समस्या बहुत गंभीर है, तो आप चिकित्सक से परामर्श करके विटामिन और मिनरल्स के सप्लीमेंट्स ले सकती हैं, जैसे (16):

  • बायोटिन
  • विटामिन -ए/बी/सी/डी
  • जिंक
  • आयरन

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

क्या गर्भावस्था के दौरान बाल डाई करना सुरक्षित है?

शोध के अनुसार, गर्भावस्था के दौरान बाल डाई करना सुरक्षित है, लेकिन इसे बहुत ही सुरक्षित तरीके से इस्तेमाल करना चाहिए जैसे (19):

  • पहली तिमाही में बाल को कलर करने से बचें।
  • कोशिश करें कि डाई आपकी स्कैल्प या त्वचा पर न लगे।
  • डाई करते समय हाथों में दस्ताने पहन लें।
  • डाई को बहुत लम्बे समय तक बालों में लगाकर न छोड़ें।

क्या गर्भावस्था में बालों में मेंहदी लगाना सुरक्षित है?

यह इस बात पर निर्भर करता है कि आप किस तरह की मेंहदी का इस्तेमाल करती हैं। प्राकृतिक मेंहदी का उपयोग करना सुरक्षित है, क्योंकि इसमें किसी प्रकार के केमिकल नहीं होते। हालांकि, काली मेंहदी का प्रयोग करने से बचें। इसमें पैरा-फेनिलिडेनमाइन (पीपीडी) नामक एक रसायन शामिल होता है, जो एलर्जी का कारण बन सकता है (20)

गर्भावस्था के दौरान बाल झड़ने के कारण बहुत हैं और उनके उपाय भी। इसके अलावा, अगर बच्चे के जन्म के बाद आपके बालों के झड़ने की समस्या बढ़ गयी है, तो घबराइए नहीं। यह आम है और किसी भी महिला के साथ हो सकता है (21)। उम्मीद करते हैं कि इस लेख से आपकी समस्या का हल ढूंढने में सहायता मिली होगी। अगर आपके बाल बहुत ज्यादा झड़ रहे हैं, तो बिना अपने डॉक्टर से परामर्श के कोई दवा न लें। अगर आपके पास भी बाल झड़ने की समस्या से निजात पाने के लिए घरेलू उपाय हैं, तो उस बारे में हमें नीचे दिए कमेंट बॉक्स में बता सकती हैं।

संदर्भ (References) :

 

Was this information helpful?

Comments are moderated by MomJunction editorial team to remove any personal, abusive, promotional, provocative or irrelevant observations. We may also remove the hyperlinks within comments.
The following two tabs change content below.

Latest posts by Soumya Vyas (see all)

Soumya Vyas