Fact Checked

क्या प्रेगनेंसी में प्रेडनिसोन टैबलेट खाना सुरक्षित है? | Pregnancy Ke Dauran Prednisone Tablet

Pregnancy Ke Dauran Prednisone Tablet

Image: Shutterstock

IN THIS ARTICLE

गर्भावस्था में सेहत से जुड़ी कई समस्याओं से महिलाओं को जूझना पड़ता है। इनमें से कुछ समस्याएं पहले से ही चली आ रहीं, तो कुछ प्रेगनेंसी से संबंधित होती हैं। इनसे बचने के लिए महिलाएं कई बार खुद अपनी समझ से और कभी डॉक्टर की सलाह पर दवाओं का सेवन करती हैं। ऐसी ही एक दवाई प्रेडनिसोन भी है। मॉमजंक्शन इस दवाई से संबंधित हर पहलू को समझाने और प्रेगनेंसी में प्रेडनिसोन कितनी सुरक्षित है बताने के लिए जरूरी जानकारियां लेकर आया है। इस दवाई से जुड़े सभी सवालों के जवाब पाने के लिए इस लेख को अंत तक पढ़ें।

चलिए, आर्टिकल में सबसे पहले जानते हैं कि प्रेडनिसोन क्या है।

प्रेडनिसोन क्या है?

प्रेडनिसोन कॉर्टिकोस्टेरॉयड्स क्लास से संबंधित दवाओं में से एक है। इससे कॉर्टिकोस्टेरॉयड (Corticosteroid) हार्मोन की कमी के लक्षणों को कम किया जा सकता है। साथ ही प्रेडनिसोन व प्रेडनिसोलोन का उपयोग सूजन को कम करने, अर्थराइटिस, एलर्जिक रिएक्शन, मल्टीपल स्क्लेरोसिस (नसों से संबंधी समस्या) से राहत पाने के लिए किया जाता है।

इनके अलावा, ल्यूपस (ऑटोइम्यून बीमारी जिसमें शरीर अपने ही कई अंगों पर हमला करता है) और फेफड़े, त्वचा, आंख, थायराइड ग्रंथि, पेट व आंतों को प्रभावित करने वाली समस्याओं में भी प्रेडनिसोन व प्रेडनिसोलोन का उपयोग होता हैं (1)। गौर हो कि कॉर्टिकोस्टेरॉइड शरीर द्वारा बनाया जाने वाला ऐसा स्टेरॉयड हार्मोन है, जो शरीर की कार्य प्रणाली में अहम भूमिका निभाता है।

प्रेडनिसोन के बाद जानते हैं कि गर्भावस्था में इसका सेवन सुरक्षित है या नहीं।

क्या प्रेगनेंसी में प्रेडनिसोन टैबलेट खाना सुरक्षित है? | Pregnancy Ke Dauran Prednisone

हां, गर्भावस्था में डॉक्टर के दिए निर्देशानुसार प्रेडनिसोन का उपयोग करना सुरक्षित हो सकता है। इंफ्लेमेशन को कम करने और अन्य बीमारियों से बचने व उनके प्रभाव को कम करने के लिए डॉक्टर गर्भावस्था में दवाई के रूप में प्रेडनिसोन टैबलेट लेने को कह सकते हैं। एनसीबीआई में पब्लिश एक रिसर्च पेपर में भी इस बात का जिक्र मिलता है (2)। बस इसकी खुराक डॉक्टर के कहे अनुसार ही लें। अन्यथा इसकी अधिकता से भ्रूण को नुकसान हो सकता है।

यहां हम बता रहे हैं कि गर्भावस्था में प्रेडनिसोन का उपयोग क्यों किया जाता है।

प्रेगनेंसी में प्रेडनिसोन टैबलेट का उपयोग क्यों किया जाता है?

गर्भावस्था में  प्रेडनिसोन का उपयोग ऑटोइम्यून डिसऑर्डर को कम करने के लिए किया जाता है। दरअसल, इसमें मौजूद इम्यूनो सप्रेस्सिव और एंटीइंफ्लेमेटरी प्रभाव शरीर की अनियंत्रित इम्यूनिटी के कारण होने वाली समस्याओं को कम कर सकते हैं। इनमें रूमेटाइड गठिया, आंतों से संबंधित समस्याएं और सिस्टमेटिक ल्यूपस एरिथेमेटोसस (एसएलई) शामिल हैं (2)

एसएलई रोग में शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली स्वस्थ ऊतकों पर हमला करके त्वचा, जोड़ों, गुर्दे, मस्तिष्क और अन्य अंगों को प्रभावित करती है। इसके अलावा, प्रेडनिसोन का उपयोग गर्भावस्था के दौरान अन्य ऑटोइम्यून रोग और अस्थमा से बचाव के लिए किया जाता है (3)

प्रेडनिसोन के उपयोग के बाद जानते हैं कि इसके क्या-क्या नुकसान हो सकते हैं।

प्रेडनिसोन टैबलेट के साइड इफेक्ट्स | Prednisone Side Effects In Pregnancy In Hindi

गर्भावस्था में प्रेडनिसोन के फायदे तो हैं, लेकिन अधिक मात्रा लेने पर या फिर जानकारी के अभाव में यह दवाई नुकसानदायक हो सकती है। यहां हम प्रेडनिसोन के नुकसान के बारे में जानकारी दे रहे हैं (2) (4) (5)

इनके अलावा, सामान्य अवस्था में प्रेडनिसोन के उपयोग से होने वाले साइड इफेक्ट्स कुछ इस प्रकार हैं (1):

आर्टिकल के इस हिस्से में हम बता रहे हैं कि गर्भावस्था में प्रेडनिसोन की कितनी खुराक ले सकते हैं।

प्रेगनेंसी में प्रेडनिसोन टैबलेट की कितनी खुराक जरूरी है और किस प्रकार लें?

गर्भावस्था में प्रेडनिसोन की खुराक समस्याओं के ऊपर निर्भर करती है। एक रिसर्च पेपर की मानें, तो गर्भावस्था में डॉक्टर महिला की स्थिति के हिसाब से उसे 5, 10 या 20 मिलीग्राम की खुराक दिन में एक से दो बार लेने की सलाह दे सकते हैं (3)। इस दवाई को पानी के साथ खाना खाने के बाद लिया जा सकता है। बस बिना डॉक्टर की सलाह के प्रेडनिसोन का सेवन बिल्कुल न करें।

प्रेडनिसोन की खुराक के बाद जानते हैं कि इस टैबलेट का गर्भाशय पर क्या असर हो सकता है।

प्रेडनिसोन का गर्भाशय पर क्या प्रभाव पड़ता है?

गर्भावस्था में प्रेडनिसोन का उपयोग डॉक्टर की सलाह पर ही करना चाहिए। अधिक मात्रा में या फिर बिना डॉक्टर की सलाह के इसका सेवन करने से यह दवाई गर्भाशय को संकुचित कर सकती है। इससे गर्भाशय का आकार छोटा हो सकता है और भ्रूण पर या उसके विकास पर बुरा प्रभाव पड़ सकता है (6)

सबसे आखिर में जानते हैं प्रेडनिसोन टैबलेट से जुड़ी किन-किन बातों को ध्यान में रखना चाहिए।

प्रेडनिसोन टैबलेट इस्तेमाल करने से पहले बरती जाने वाली सावधानियां

गर्भावस्था में प्रेडनिसोन का उपयोग करने पहले कुछ बातों को ध्यान में रखना जरूरी है। यहां हम प्रेगनेंसी में प्रेडनिसोन लेने से पहले गौर करने वाली बातें बता रहे हैं (1)

  • गर्भावस्था में प्रेडनिसोन टैबलेट लेने से पहले इसके बारे में पूरी जानकारी होना जरूरी है। इसके लिए डॉक्टर की सलाह पर ही प्रेडनिसोन का सेवन करें और उसकी खुराक समझ लें।
  • यदि पहले से ही किसी हर्बल या अन्य दवाई का उपयोग कर रही हैं, तो इसकी जानकारी डॉक्टर को जरूर दें।
  • दवा को लेते समय अपने हाथों को धो लें।
  • प्रेडनिसोन लेने का जो समय डॉक्टर ने बताया है उसपर ध्यान दें।
  • प्रेडनिसोन की एक्सपाइरी डेट भी चेक कर लें।
  • चिकन पॉक्स और खसरा से ग्रसित लोगों से दूरी बनाए रखें।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

क्या प्रेडनिसोन या प्रेडनिसोलोन लेने से गर्भपात की संभावना बढ़ जाती है?

हां, एक अध्ययन की मानें, तो इससे गर्भपात का खतरा बढ़ सकता है (5)। प्रेडनिसोन या प्रेडनिसोलोन की डॉक्टर द्वारा बताई गई खुराक नुकसानदायक नहीं होती है।

क्या मैं प्रेडनिसोन या प्रेडनिसोलोन लेते समय स्तनपान कर सकती हूं?

हां, प्रेडनिसोन या प्रेडनिसोलोन को स्तनपान कराने वाली महिलाओं के लिए सुरक्षित माना गया है (3)

गर्भावस्था में प्रेडनिसोन क्यों ली जाती है और इसके फायदे व नुकसान जैसी सभी बातों आप समझ ही गए होंगे। यूं तो गर्भावस्था में प्रेडनिसोन की सीमित खुराक बीमारियों से बचाव कर सकती है, लेकिन अधिकता के कारण गर्भस्थ शिशु को कई जोखिम हो सकते हैं। ऐसे में बिना डॉक्टर से पूछे प्रेगनेंसी में प्रेडनिसोन या किसी अन्य दवाई को लेने से बचें। सावधान रहें और गर्भस्थ शिशु को सुरक्षित रखें।

संदर्भ (References):

The following two tabs change content below.

Saral Jain