प्रेगनेंसी के दौरान वैक्सिंग करनी चाहिए या नहीं?  | Pregnancy Mein Waxing Kara Sakte Hai

Image: Shutterstock

IN THIS ARTICLE

कई शारीरिक और भावनात्मक बदलावों के साथ होने वाली गर्भावस्था को एक रोमांचक समय कह सकते हैं। नौ महीने के इस पूरे चरण के दौरान कई ऐसे काम हैं, जिन्हें करने व न करने को लेकर महिलाओं में दुविधा बनी रहती है। कुछ ऐसा ही वैक्सिंग के साथ भी है। इस समय कुछ महिलाएं पर्सनल हाइजीन के लिए, तो कुछ हार्मोन में बदलाव के कारण अनचाहे जगहों पर उगने वाले बालों को हटाने के लिए वैक्सिंग कराने की सोचती हैं। क्या ऐसा करना सुरक्षित है या नहीं, जानने के लिए मॉमजंक्शन के इस लेख को पढ़ें। यहां हमने गर्भावस्था में वैक्‍सिंग से संबंधित सभी जानकारी विस्तार से दी है।

आइए, सबसे पहले जानते हैं कि प्रेगनेंसी के समय वैक्सिंग करवाना सुरक्षित है या नहीं।

क्या गर्भावस्था में वैक्सिंग सुरक्षित है? | Pregnancy Mein Waxing Kara Sakte Hai

कुछ परिस्थितियों को छोड़ दिया जाए, तो गर्भावस्था में वैक्‍स करवाना सुरक्षित माना जाता है (1)। इन विशेष अवस्था के बारे हम लेख में आगे बताएंगे। इससे पहले यह जान लें कि गर्भावस्था के समय हमेशा ही अनुभवी ब्यूटीशियन से ही वैक्‍स करवाना चाहिए। अगर किसी की त्वचा संवेदनशील है, तो इस बारे में किसी हेल्थ एक्सपर्ट या डॉक्टर की सलाह पर ही वैक्सिंग करवाने या न करवाने का फैसला लें।

हम लेख में आगे बता रहे हैं कि प्रेगनेंसी में वैक्सिंग कब नहीं करवाई जानी चाहिए।

गर्भावस्था में वैक्सिंग कब नहीं करवानी चाहिए?

प्रेगनेंसी में वैक्सिंग किन स्थितियों में नहीं करवानी चाहिए, यह जानना भी जरूरी है। इसी वजह से हम आगे इस विषय पर जानकारी दे रहे हैं।

  1. गर्भावस्था में वैरिकोज वेन्स होने पर : प्रेगनेंसी के समय वैरिकोज वेन्स की समस्या (सूजी व मुड़ी हुई नसें) होने पर वैक्सिंग न करवाएं (2)। यह परेशानी शरीर के किसी भी हिस्से पर हो सकती है। अधिकतर यह पैरों में होती है (3)
  1. घाव होने पर : शरीर के किसी हिस्से में घाव हो, या स्किन कटी, जली या छिली हो, तो गर्भावस्था में वैक्सिंग नहीं कराना चाहिए। इससे दर्द होने व गर्भावस्था में संक्रमण होने का खतरा हो सकता है।
  1. भूरे धब्बे होने पर : गर्भावस्था के दौरान भूरे धब्बे यानी मेलास्मा होने पर वैक्सिंग करने से बचना चाहिए। इस दौरान वैक्सिंग से त्वचा में सूजन हो सकती है, जिससे मेलाज्मा की स्थिति खराब होने का जोखिम बढ़ सकता है (4)। ऐसी स्थिति में बालों को हटाने के बारे में त्वचा विशेषज्ञ की उचित सलाह ले सकते हैं।
  1. स्किन रैशेज होने पर : अगर किसी महिला को गर्भावस्था में बार-बार स्किन रैशेज होते हैं, तो उसे भी वैक्सिंग नहीं करवानी चाहिए। इस दौरान वैक्सिंग कराने से इंफेक्शन का जोखिम बढ़ सकता है।
  1. इंजेक्शन वाले हिस्से पर : गर्भावस्था के समय उस हिस्से पर वैक्सिंग करने से बचें, जहां पर प्रेगनेंसी में इंजेक्शन लगा हो।
  1. सनबर्न होने पर : प्रेगनेंसी के समय सनबर्न वाले हिस्से में भी वैक्सिंग नहीं करवानी चाहिए। ऐसा करने से त्वचा में जलन और दर्द का एहसास हो सकता है।
  1. मस्से या पिंपल्स होने पर : शरीर के किसी हिस्से में मस्से या मुंहासे हैं, तो प्रेगनेंसी के दौरान वहां वैक्सिंग नहीं करानी चाहिए (2)
  1. पहली बार वैक्सिंग कराने पर : अगर पहले कभी वैक्सिंग नहीं कराई है, तो गर्भावस्था के दौरान भी वैक्सिंग कराने से बचें। ऐसा इसलिए, क्योंकि पहली बार वैक्सिंग कराने पर ज्यादा दर्द हो सकता है।

अब जानिए कि गर्भावस्था में वैक्सिंग करना कितना दर्दनाक हो सकता है।

क्या प्रेगनेंसी में वैक्सिंग करना दर्दनाक है?

हां, गर्भावस्था में कराई जाने वाली वैक्सिंग अन्य समय के मुकाबले थोड़ी दर्दनाक हो सकती है। इस दौरान गर्भवती महिला का शरीर कई तरह के हार्मोनल बदलाव से गुजरता है, जिसमें त्वचा और बालों का अन्य समय के मुकाबले मोटा होना भी शामिल है। एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित एक रिसर्च के अनुसार, गर्भावस्था में महिलाओं के ऊपरी होंठ, गालों व ठोडी पर सामान्य से मोटे और घने बाल उग सकते हैं (5)। बालों के मोटे और घने होने की वजह से इस दौरान वैक्सिंग करते हुए दर्द का एहसास हो सकता है।

आगे जानते हैं कि प्रेगनेंसी में बिकनी एरिया को वैक्स करना चाहिए या नहीं।

क्या गर्भावस्था में आप बिकनी वैक्स करा सकती हैं?

प्रेगनेंसी के समय बिकनी एरिया की वैक्सिंग करने से बचना चाहिए (2)। जैसे हम पहले ही बता चुके हैं कि गर्भावस्था के समय त्वचा संवेदनशील हो जाती है। ऐसे में बिकनी की वैक्सिंग की जगह अन्य विकल्प पर गौर किया जा सकता है, क्योंकि बिकनी एरिया पहले से ही काफी संवेदनशील होता है। बिकनी वैक्सिंग की जगह पर्सनल हाइजीन के लिए कौन से अन्य तरीके अपना सकते हैं, जानने के लिए लेख को आगे पढ़ते रहें।

वैक्सिंग के विकल्प से पहले पढ़ें कि गर्भावस्था में वैक्‍स कराने के कोई दुष्प्रभाव होते हैं या नहीं।

प्रेगनेंसी में वैक्‍सिंग कराने के साइड इफेक्ट्स | Pregnancy Me Wax Karane ke Side Effects

सामान्य अवस्था में वैक्सिंग कराने के जो साइड इफेक्ट्स होते हैं, वो गर्भावस्था के दौरान भी देखे जा सकते हैं, जैसे –

  • त्वचा पर ज्यादा गर्म वैक्स लगाने से त्वचा जल सकती है।
  • संवेदनशील जगह पर वैक्स लगाने से त्वचा छिल सकती है।
  • वैक्सिंग कराने के कुछ घंटों तक त्वचा में हल्की सूजन और लालिमा दिख सकती है।

लेख में अब जानेंगे गर्भावस्था में वैक्सिंग कराते समय किन जरूरी बातों का ख्याल रखना चाहिए।

गर्भावस्था में वैक्सिंग कराते समय ध्यान रखने वाली बातें व जरूरी टिप्स

गर्भावस्था के दौरान वैक्सिंग कराते समय कुछ खास सावधानियां भी बरती जानी चाहिए। आइए इनके बारे में जान लेते हैं।

  • पैच टेस्ट करें : भले ही गर्भावस्था से पहले कितनी ही बार वैक्सिंग कराई हो, लेकिन इस अवस्था में वैक्सिंग कराने से पहले स्किन के किसी छोटे हिस्से पर पैच टेस्ट जरूर कर लें। पैच टेस्ट से यह समझने में मदद मिलेगी कि वैक्सिंग से कोई एलर्जी या रिएक्शन तो नहीं होगा।
  • स्वच्छता व हाइजीन का ध्यान रखें : घर या सैलून में वैक्सिंग कराते समय स्वच्छता और हाइजीन का पूरा ध्यान रखना चाहिए। हमेशा ब्यूटीशियन को वैक्सिंग की फ्रेश स्ट्रिप्स का ही इस्तेमाल करने को कहें। साथ ही एक साफ तौलिया भी जरूर पास रखें।
  • अनुभवी की मदद लें : गर्भावस्था के दौरान हमेशा किसी अनुभवी ब्यूटीशियन से ही वैक्सिंग करानी चाहिए। साथ ही अगर कोई हेल्थ कॉम्प्लिकेशन है, तो इसकी जानकारी ब्यूटीशियन के साथ जरूर शेयर करें।
  • एक्सपायरी डेट की जांच करें : पार्लर या घर पर वैक्सिंग करते समय वैक्स की एक्सपायरी डेट की जांच करें। अगर यह एक्सपायर हो गया हो, तो उसका इस्तेमाल न करें।

नोट : अगर वैक्सिंग कराने के बाद त्वचा में इंफेक्शन या कुछ असमान्य लक्षण नजर आने लगें, तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।

अब जानते हैं कि वैक्सिंग के बाद त्वचा का ध्यान किस तरह से करना चाहिए।

वैक्सिंग करने के बाद त्वचा की देखभाल

वैक्सिंग के बाद त्वचा का ख्याल रखना भी जरूरी है। किस तरह से स्किन की देखभाल करना चाहिए, यह जानने के लिए लेख को आगे पढ़ें।

  1. मॉइस्चराइजर या बॉडी लोशन लगाएं : वैक्सिंग कराने के तुरंत बाद शरीर पर मॉइस्चराइजर या बॉडी लोशन लगा लें। ऐसा करने से स्किन इरिटेशन से बचा जा सकता है। साथ ही मॉइस्चराइजर से त्वचा को नमी भी मिलेगी।
  1. मुलायम तौलिए का इस्तेमाल करें : वैक्सिंग के बाद त्वचा को साफ करने के लिए सिर्फ सूती कपड़े या मुलायम तौलिए का ही इस्तेमाल करें। सख्त तौलिए से स्किन में खरोंच लग सकती है।
  1. परफ्यूम का इस्तेमाल करें : वैक्सिंग कराने के तुरंत बाद उस हिस्से पर परफ्यूम या डियो का इस्तेमाल न करें। ऐसा करने से उस जगह पर जलन का एहसास हो सकता है।
  1. धूप में जाने से बचें : वैक्सिंग कराने के बाद धूप में जाने से बचना चाहिए। अगर बहुत जरूरी हो, तो वैक्सिंग किए हुए हिस्से को कवर करके ही बाहर जाएं।
  1. एलोवेरा का इस्तेमाल करें : वैक्सिंग के बाद त्वचा में एलोवेरा लगा सकते हैं। इसमें स्किन केयरिंग प्रॉपर्टीज होती हैं। साथ ही यह त्वचा को मॉइस्चराइज और हाइड्रेट रखने में भी मदद कर सकता है। इसके अलावा, एलोवेरा में एंटीसेप्टिक प्रभाव भी होता है, जो स्किन को इंफेक्शन से बचा सकता है (6)

लेख में आगे बढ़ते हुए पढ़िए कि प्रेगनेंसी में वैक्सिंग के अन्य विकल्प क्या-क्या हो सकता है।

गर्भावस्था में वैक्सिंग करने के अन्य सुरक्षित विकल्प क्या हैं?

अगर प्रेगनेंसी के दौरान अनचाहे बालों की समस्या से निजात पाने का मन बना ही लिया है, तो वैक्सिंग की जगह दूसरे सुरक्षित विकल्पों के बारे में भी विचार कर सकती हैं। ये विकल्प कुछ इस प्रकार है।

  1. शेविंग : अनचाहे बालों को हटाने के लिए वैक्सिंग के अलावा शेविंग को भी विकल्प के तौर पर चुना जा सकता है। एक रिसर्च पेपर में भी इस बात का जिक्र मिलता है (1)। इस दौरान नए रेजर का ही इस्तेमाल करें और वो भी ध्यानपूर्वक।
  1. ट्विजर (चिमटी) : ब्रेस्ट के आस-पास, अपर लिप्स और आइब्रो के बालों को हटाने के लिए चिमटी या थ्रेड (धागे) का भी उपयोग किया जा सकता है (2)। इसे सुरक्षित और आसान विकल्प माना जाता है।
  1. एपिलेटर : एपिलेटर एक इलेक्ट्रिक शेवर की तरह होता है, जो बिजली या बैटरी से चलता है। यह भी वैक्सिंग की ही तरह बालों को जड़ से निकाल सकता है। इसके कई तरह के मॉडल्स मार्केट में उपलब्ध हैं। अस्थायी एपिलेशन (शरीर के बालों को हटाना) को एनसीबीआई की वेबसाइट में पब्लिश एक रिसर्च पेपर ने गर्भावस्था के दौरान सुरक्षित बताया है (1)
  1. हेयर रिमूवल क्रीम : गर्भावस्था में बाल हटाने का एक तरीका हेयर रिमूवल क्रीम भी है। इस दौरान सिर्फ ऐसी हर्बल क्रीम का इस्तेमाल करें, जो संवेदनशील त्वचा के लिए उपयुक्त हो। वैसे हेयर रिमूवल क्रीम का इस्तेमाल करने से पहले एक बार त्वचा विशेषज्ञ की सलाह लेना बेहतर होगा।

महिला के लिए गर्भावस्था सबसे खूबसूरत अनुभवों में से एक होता है। इस दौर में महिला को कई पड़ावों से गुजरना होता है, जिसके लिए सतर्कता जरूरी है। कुछ ऐसा ही इस दौरान करवाने वाली वैक्सिंग के साथ भी है। अगर प्रेगनेंसी में अनचाहे बालों से परेशान होकर आपने वैक्सिंग करने का फैसला ले लिया है या लेने की सोच रही हैं, तो इस लेख में दी गई सावधानियों और टिप्स को जरूर पढ़ें। इन बातों को ध्यान में रखकर आप वैक्सिंग करेंगी, तो इसके साइड इफेक्ट्स से बचने में मिल सकती है।

संदर्भ (References) :