विद्यार्थियों के लिए 25 अच्छी आदतें (Good Habits) | Students Ke Liye 25 Achi Aadat

Image: Shutterstock

बच्चों को बेहतर कल की नींव माना जाता है। इसलिए, बच्चों को मानसिक व शारीरिक विकास और किताबी ज्ञान के साथ-साथ व्यावहारिक ज्ञान की भी जरूरत होती है। रोजमर्रा के जीवन में शामिल होने वाली छोटी-छोटी आदतें ऐसी हैं, जो उन्हें बेहतर युवा बनने में मदद करती हैं। साथ ही इन्हीं आदतों के कारण बच्चों को अच्छे भविष्य का निर्माण करने में भी सहायता मिलती है। इसलिए, विद्यार्थी जीवन में अच्छी आदतों का महत्व कई गुना बढ़ जाता है। यही वजह है कि मॉमजंक्शन के इस लेख में हम छात्रों के लिए 25 अच्छी आदतें बता रहे हैं।

आइए, लेख में आगे बढ़ते हैं और विद्यार्थियों के लिए अच्छी आदतें क्या हैं, इस बारे में विस्तार से जानते हैं।

छात्रों के लिए 25 अच्छी आदतें

1. सुबह समय से उठें

रोज सुबह जल्दी उठने का नियम बनाएं। ऐसा इसलिए, क्योंकि सुबह के वातावरण में गजब की ऊर्जा होती है। साथ ही उस समय दिमाग पूरी तरह से फ्रेश होता है, जिस कारण उस समय की गई पढ़ाई हमेशा याद रहती है। इतना ही नहीं, इस समय पढ़ते समय कठिन से कठिन सवालों को भी आसानी से हल किया जा सकता है। सुबह जल्दी उठने के लिए रात को समय पर सोना भी जरूरी है। साथ ही शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए 7-8 घंटे की नींद आवश्यक है (1) । अच्छा विद्यार्थी वही है, जो रोज रात को तय समय पर सोए और सुबह जल्दी उठ जाए।

2. नियमित स्कूल जाएं

रोज स्कूल जाने से आपको पता रहता है कि क्लास में टीचर क्या पढ़ा रहे हैं। इससे सिलेबस नहीं छूटता और आपको हर विषय की जानकारी रहती है।

3. नियमित पढ़ें

नियमित रूप से पढ़ने की आदत बनाएं और अपने सभी कामों को समय के साथ निपटाने का पूरा प्रयास करें। इससे ज्ञान तो बढ़ेगा ही, साथ ही आप एक अच्छे विद्यार्थी भी बन पाएंगे। विद्यार्थी जीवन में हासिल किया गया ज्ञान भविष्य में आने वाली कई बाधाओं को पार करने में काम आता है।

4. किताबें व्यवस्थित रखें

विद्यार्थी की अच्छी आदतों में से एक यह भी हैं कि वह अपनी किताबों को व्यवस्थित रखें। अगर किताबें ठीक से और निश्चित जगह पर रखी जाती हैं, तो समय पर उन्हें ढूंढने में अधिक समय नहीं लगता। यह आदत किताबें ढूंढने में नष्ट होने वाले समय को तो बचाती ही हैं, साथ ही इससे किताबों के प्रति विद्यार्थी में लगाव भी पैदा होता है।

5. अपने कमरे को साफ रखें

आपने कई बार गौर किया होगा कि साफ कमरे में पढ़ाई करने से मन अधिक लगता है। इसलिए, पढ़ाई करने के लिए इस्तेमाल में लाए जाने वाले कमरे को हमेशा साफ रखें। अगर पढ़ाई के कमरे में सामान अव्यवस्थित और बिखरा हुआ रहेगा, तो इससे पढ़ाई पर ध्यान केंद्रित करने में कठिनाई महसूस हो सकती है।

6. अच्छी सोच रखें और खुद को प्रेरित करें

हमेशा अपनी सोच अच्छी रखें और खुद को आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करते रहें। अच्छी सोच से मन में सकारात्मक ऊर्जा बढ़ती है, जो विद्यार्थी जीवन में बहुत जरूरी है। वहीं, दूसरी ओर अगर कोई काम करने में कठिनाई महसूस हो रही हैं, तो ऐसे में बिल्कुल भी निराश नहीं होना चाहिए। ऐसे वक्त में जरूरत होती है खुद को प्रेरित करने की। खुद को प्रेरित करें कि कोई भी काम असंभव नहीं है और उस कार्य को करने का प्रयास करें।

7. अच्छे दोस्तों की संगत

अगर साथ अच्छा हो, तो हर तरफ सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह होता रहता है। इसका मतलब यह है कि विद्यार्थी जीवन में हमेशा अच्छे दोस्तों की संगत में ही रहना चाहिए। इससे आपका पढ़ाई में और अच्छी तरह से मन लगता है और अगर आप अनजाने में अपने लक्ष्य से भटक जाएं, तो अच्छा दोस्त आपको सही राह दिखाएगा।

8. हमेशा प्रसन्न रहें

विद्यार्थी जीवन में हमेशा खुश रहने का प्रयास करें। खुश रहने से आप न केवल अच्छी तरह से स्टडी कर पाएंगे, बल्कि दूसरों के साथ आपके संबंध भी अच्छे बने रहेंगे। दरअसल, जो भी लोग हमेशा मुंह लटकाए रहते हैं, उनसे कोई भी बात नहीं करना चाहता है। वहीं, एक मुस्कान के साथ अगर आप दूसरों से मिलते हैं, तो उन पर इसका सकारात्मक असर पड़ता है।

9. पढ़ाई का समय निर्धारित करें

एक विद्यार्थी के लिए जरूरी है कि वह अपनी पढ़ाई का समय निर्धारित करे, ताकि खेल और मनोरंजन के साथ-साथ पढ़ाई की जा सके। ऐसा करने से नियमित पढ़ाई करने की आदत बनेगी। साथ ही पढ़ाई में एक विशेष रुचि भी बनेगी।

10. खाने-पीने पर विशेष ध्यान दें

एक विद्यार्थी के लिए जितनी अन्य बातें जरूरी हैं, उतना ही जरूरी है स्वस्थ और पौष्टिक आहार। साथ ही इस बात का भी ध्यान रखना चाहिए कि आहार सीमित मात्रा में ही लिया जाए, ताकि पढ़ते समय आलस न आए। ऐसे में एक विद्यार्थी को अपने खाने-पीने पर विशेष ध्यान देना चाहिए। नियमित पौष्टिक आहार लेने से दिमाग तो तेज होता ही है, साथ ही पढ़ाई में मन भी लगता है।

11. स्वयं की परीक्षा

किसी भी परीक्षा को लिए खुद को तैयार करने के लिए, जरूरी है कि आप समय-समय पर खुद की परीक्षा लेते रहें। इसके लिए आप उस विषय के सवालों को हल करने का प्रयास करें, जो आपको कठिन लगते हैं। बेशक, यह बात कहने में आसान लगती है और करने में मुश्किल, लेकिन प्रयास से इस पर जीत पाई जा सकती है। साथ ही स्वयं की परीक्षा से आप खुद को भविष्य में होने वाले एग्जाम के लिए पहले से तैयार कर पाएंगे।

12. हमेशा विनम्र रहें

हर छात्र को हमेशा विनम्र रहना चाहिए। इससे शिक्षक के साथ-साथ अन्य छात्रों और परिवारजनों से भी आपका अच्छा तालमेल बना रहेगा। वहीं, विद्यार्थी जीवन में अपनाई गई विनम्रता की यह आदत भविष्य में सभी के दिलों में आपकी जगह बनाने का अवसर दिलाएगी।

13. गलती करने से कभी न डरें

गलती किसी से भी हो सकती है और हर व्यक्ति गलती से ही सीखता है, इसलिए गलती करने से कभी नहीं डरना चाहिए। वहीं, अगर आपके मन में कुछ गलत करने का डर बना रहेगा, तो आप जीवन में कुछ नया नहीं सीख पाएंगे। किसी काम में की गई गलती आपको उस काम को ठीक से करने का रास्ता बताएगी। इससे आपकी समझ और निर्णय लेने की क्षमता मजबूत होगी।

14. अपने ज्ञान को इस्तेमाल करें

एक विद्यार्थी को अपने ज्ञान को इस्तेमाल करने का अवसर नहीं छोड़ना चाहिए। ऐसा करने से न केवल आपके ज्ञान की परख होगी, बल्कि आपके ज्ञान का विस्तार भी होता रहेगा। वहीं, विद्यार्थी को अपने ज्ञान को इस्तेमाल कर खुद में मौजूद कमियों को जानने और समझने का मौका भी मिलता है। इसलिए, एक विद्यार्थी को हमेशा अपने ज्ञान को इस्तेमाल करने के अवसर तलाशते रहना चाहिए। इस काम की शुरुआत अपने साथियों की पढ़ाई में मदद करके भी की जा सकती है।

15. हमेशा प्रयास करते रहें

किसी भी काम को करने का हमेशा दृढ़ निश्चय रखना चाहिए और उसे पूरा करने के लिए हमेशा प्रयास करते रहना चाहिए, क्योंकि कोई काम मुश्किल हो सकता है, लेकिन असंभव नहीं। इसलिए, मन में इस सोच को विकसित करें कि अगर कोई दूसरा उस काम को कर सकता है, तो उसे आप भी जरूर कर सकते हैं। जरूरत होती है, तो बस दृढ़ता के साथ प्रयास करने की।

16. पढ़ते समय ध्यान केंद्रित रखें

पढ़ते समय एक विद्यार्थी को अपने ध्यान को केंद्रित रखना चाहिए। अगर ध्यान केंद्रित रहेगा, तो आप अच्छे से पढ़ पाएंगे। साथ ही चीजों को आसानी से सीख पाएंगे और याद रख पाएंगे। इससे मन केंद्रित रखने के कौशल का विकास होगा। वहीं, आप अपनी इन्द्रियों और इच्छाओं को नियंत्रित करने में भी सफल हो पाएंगे।

17. दूसरों के काम में दखल न दें

आदर्श छात्र का एक मूल मंत्र यह भी है कि आप सिर्फ अपने काम पर ध्यान दें, दूसरों के काम में दखल न दें। कारण यह है कि अगर आप आसपास के माहौल और करीबियों या पड़ोसियों के झगड़ों पर ध्यान देंगे, तो आप पढ़ाई पर ध्यान केंद्रित नहीं कर पाएंगे। नतीजा यह होगा कि आप पढ़ाई में धीरे-धीरे पिछड़ते चले जाएंगे। इसलिए, जरूरी है कि विद्यार्थी दूसरों के काम में बिल्कुल भी दखल न दें।

18. शारीरिक स्वास्थ्य पर विशेष ध्यान दें

विद्यार्थियों के लिए जरूरी है कि वह अपने शारीरिक स्वास्थ्य का ध्यान रखें। इसके लिए पढ़ाई के साथ थोड़ा वक्त खेलने, टहलने व व्यायाम के लिए भी निकालें, ताकि शरीर मजबूत और स्वस्थ बना रहे। शरीर स्वस्थ रहेगा, तो आप बिना किसी परेशानी के पढ़ाई में मन लगा पाएंगे और स्कूल में आपका प्रदर्शन भी अच्छा रहेगा।

19. पर्यावरण सुधार के लिए खुद को प्रेरित करें

पर्यावरण सुधार कार्यक्रम में भाग लेना और इस काम में शामिल होना भी अच्छी आदत है। दरअसल, बेहतर जीवन के लिए अच्छे पर्यावरण की आवश्यकता होती हैं। ऐसे में विद्यार्थी जीवन से ही पर्यावरण के प्रति लगाव भविष्य में पर्यावरण की रक्षा के लिए जागरूक नागरिक बनने में मदद मिलती है। साथ ही यह भी संभव है कि पर्यावरण के प्रति लगाव आपको पर्यावरण विशेषज्ञ या फिर साइंटिस्ट बनने के लिए प्रेरित कर दे।

20. कैलैंडर को अपडेट करें

साप्ताहिक टेस्ट, मासिक परीक्षा और किसी विशेष दिन या तारीख को कैलैंडर पर अपडेट करने की आदत बनाएं। इससे आप उन जरूरी दिनों को आसानी से याद रख पाएंगे। साथ ही उस खास दिन के लिए खुद को समय रहते अच्छी तरह से तैयार भी कर पाएंगे।

21. सुविचार पढ़ने की आदत बनाएं

प्रतिदिन एक सुविचार पढ़ने की आदत बनाएं और उससे मिलने वाली सीख को जीवन में शामिल करने का प्रयास करें। इससे दिमाग में अच्छे विचारों का प्रसार होगा और आपके अंदर सकारात्मक भाव भी पैदा होंगे, जो सफलता के मार्ग पर आगे बढ़ने में आपकी मदद करेंगे।

22. डर का सामना करने का प्रयास करें

अगर किसी विशेष काम या विषय को लेकर मन में डर का भाव है, तो उससे भागें नहीं, डटकर सामना करें। ऐसा कर न केवल आपको अपने डर पर जीत हासिल होगी, बल्कि आप उस काम में खुद को पहले से बेहतर बना पाएंगे। साथ ही आप में एक विश्वास भाव पैदा होगा, जिससे भविष्य में सफलता की राह में आने वाली सभी बाधाओं को आप आसानी से पार कर पाएंगे।

23. गैजेट्स से दूरी

पढ़ाई के समय सिर्फ पढ़ाई होनी चाहिए। इस दौरान मोबाइल, लैपटॉप आदि गैजेट्स को खुद से दूर रखें। हां, अगर इनका इस्तेमाल करना ही है, तो पढ़ाई के संबंध में ही करें।

24. आठ गिलास पानी प्रतिदिन पिएं

आठ गिलास पानी प्रतिदिन पीने की आदत स्वास्थ्य को बनाए रखने में मददगार साबित हो सकती हैं। इस आदत को शामिल कर शरीर में मौजूद विषैले पदार्थों को दूर करने में मदद मिलती हैं। साथ ही कई गंभीर शारीरिक समस्याओं को भी आप खुद से दूर रख सकते हैं (2)

25. नशीले पदार्थों से दूर रहें

जैसा कि सभी जानते हैं कि नशीले पदार्थों का सेवन स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होता है और इससे कैंसर जैसी हानिकारक बीमारी भी हो सकती हैं। वहीं, इसका सीधा असर मानसिक स्वास्थ्य पर पड़ता है। इसलिए, विद्यार्थी जीवन से ही इस बात के प्रति आपको जागरूक रहना चाहिए। यह न केवल विद्यार्थी जीवन में काम आएगा, बल्कि भविष्य में भी इन नशीले पदार्थों से दूर रहने की आपको प्रेरणा मिलेगी।

बच्चों, अच्छा विद्यार्थी बनने से न सिर्फ आपका विकास होता है, बल्कि आप आदर्श समाज के निर्माण में भी योगदान देते हैं। इन आदतों से छात्रों के व्यक्तित्व में भी सुधार होता है, जो आपके भविष्य को बेहतर बनाने में मदद करता है। इसलिए, जरूरी है कि आज से ही इन बातों को अपने जीवन में शामिल किया जाए, ताकि एक अच्छे विद्यार्थी के साथ ही एक जिम्मेदार युवा बनने की ओर एक सार्थक कदम बढ़ाया जा सके। यह लेख आपको कैसा लगा नीचे दिए कमेंट बॉक्स के माध्यम से इस बारे में हमें जरूर बताएं।

संदर्भ (References):

Was this information helpful?