छात्रों के लिए 50+ नववर्ष के संकल्प | New Year Resolutions For Students In Hindi

Image: Shutterstock

माना जाता है कि किसी भी नए काम की शुरुआत करने का संकल्प लेने का सबसे अच्छा समय नया साल ही होता है। यही वजह है कि मॉमजंक्शन के इस लेख में हम 50 से भी अधिक न्यू ईयर रेज्युलेशन लेकर आये हैं। इनमें से कुछ संकल्प जहां बीती गलतियों को सुधारने के लिए प्रेरित करेंगे, तो वहीं कुछ संकल्प आने वाले भविष्य को बेहतर बनाने में मदद कर सकते हैं। तो चलिए बिना देर किए जानते हैं, छात्रों के लिए 50+ नववर्ष के संकल्प।

स्क्रॉल करें और पढ़ें नए साल 2022 पर छात्रों के लिए न्यू ईयर रेज्युलेशन।

छात्रों के लिए 50+ नववर्ष के संकल्प | New Year Resolutions for Teens in hindi

रातों-रात किसी को सफलता नहीं मिलती है। इसके लिए जरूरत होती है सालों-साल कड़ी मेहनत करने की जिसके लिए इरादों को मजबूत होना जरूरी है। यहां हम ऐसे ही कुछ संकल्प लेकर आये है, जो छात्रों के लिए मददगार साबित हो सकते हैं :

1. समय के पाबंद बनना

आज का काम कल के भरोसे छोड़ना कई छात्रों की आदत होती है। ऐसे छात्र आने वाले इस नए साल में अपनी इस आदत को बदलने का संकल्प ले सकते हैं। दरअसल, छात्र जीवन में समय का बहुत महत्व होता है। इसलिए छात्रों को इस नए साल में यह सुनिश्चित करना चाहिए कि वे समय पर अपने सारे काम को निपटाएं। ऐसा करने से उनके दिन का सही उपयोग होगा और काम के साथ-साथ खुद के निजी जीवन के लिए भी भरपूर समय निकल पाएगा।

2. पढ़ाई में ध्यान देना

साल भर छात्रों के लिए अगर सबसे ज्यादा जरूरी कुछ होता है, तो वो है पढ़ाई में उनका स्कोर। इसलिए छात्र चाहें तो अपने न्यू ईयर रेज्युलेशन में पढ़ाई में ध्यान लगाना भी शामिल कर सकते हैं। अगर छात्रों का पढ़ाई में मन लगेगा तो वे अपने एकेडमी में भी बेहतर प्रदर्शन कर पाएंगे। इसके अलावा, छात्र चाहें तो नए साल से पढ़ाई के लिए बेस्ट तरीकों की भी लिस्ट बनाकर उसे अपने रूटीन में शामिल कर सकते हैं।

3. हर काम के लिए समय तय करना

इसमें कोई दोराय नहीं कि छात्र जीवन में समय बहुत कीमती होता है। इसलिए छात्रों को नए साल में यह संकल्प लेना चाहिए कि वे अपने सभी काम को समय से पूरा करें। उन्हें पढ़ाई से लेकर, मौज-मस्ती व खेल-कूद तक सभी के लिए अपना समय निर्धारित करना चाहिए। उसके बाद विद्यार्थियों को अपने द्वारा बनाए गए टाइम टेबल का सही से पालन भी करना चाहिए।

ऐसा करने से छात्रों को न सिर्फ समय का सही उपयोग करना समझ में आएगा, बल्कि पढ़ाई के साथ-साथ अपनी पसंद के चीजों और शौकों को भी करने का पूरा करने का समय मिल पाएगा। हां, अगर छात्र कभी कभार अपने टाइम टेबल से बोर हो जाएं, तो इसमें जरूरत के अनुसार बदलाव भी कर सकते हैं।

4. नई चीजों को सीखना

आज कल तकनीकों का दौर है। ऐसे में विद्यार्थियों के लिए जरूरी है कि वह खुद को अपडेट रखें। वैसे भी छात्रों को अपने जीवन में कुछ नया सीखने के लिए ढेरों विकल्प मिलते रहते हैं, जैसे कोडिंग, इंस्ट्रूमेंट, डांस, पेंटिंग आदि।

अगर किसी छात्र की रुचि ऐसी किसी भी चीज में है तो वे इस न्यू ईयर उसे पूरा करने का संकल्प ले सकते है। इसलिए लिए वे अपने माता-पिता की मदद ले सकते हैं, ताकि उन्हें अपने शौक को पूरा करने में आर्थिक व भावनात्मक रूप से मदद मिल सके।

5. लक्ष्य तय करना

यह हर किसी के लिए जरूरी है कि उन्हें उनके जीवन का लक्ष्य पता हो। लक्ष्य तय करने से उस तक पहुंचने के रास्ते आसान हो सकते हैं। ऐसे में छात्र न्यू ईयर रेज्युलेशन के तौर पर अपने जीवन के लक्ष्य को तय करने का संकल्प ले सकते हैं। लक्ष्य तय करने से उन्हें उसकी योजना बनाने में आसानी होगी। साथ ही अपने लक्ष्य को पाने में उन्हें किस तरह की कठिनाइयों का सामना करना पड़ेगा, इसे भी करीब से समझने में मदद मिलेगी।

6. खुद पर विश्वास बनाना

कई छात्र ऐसे होते हैं, जिनमें आत्मविश्वास की कमी होती है। इस कारण वे उस काम को भी करने से डरते हैं, जिनमें वो माहिर होते हैं। कई बार तो ऐसा भी होता है कि छात्र पूरी लगन के साथ पढ़ाई तो करते हैं, लेकिन फिर भी परीक्षा में उन्हें मनचाहा परिणाम नहीं मिल पाता है। ऐसे में वे धीरे-धीरे खुद पर भरोसा करना कम कर देते हैं।

अगर किसी छात्र के साथ ऐसी स्थिति है, तो उसे आने वाले इस नए साल में खुद पर विश्वास बनाए रखने का संकल्प करना चाहिए। अगर पूरी मेहनत के बाद भी मनचाहा परिणाम नहीं मिलता है, तो ऐसे में खुद पर भरोसा कम करने की बजाय ठंडे दिमाग से उन कमियों को पता करें, जिस वजह से मनचाहा परिणाम नहीं मिल पा रहा है।

7. अच्छे दोस्त बनाना

अगर जीवन में अच्छे दोस्तों का साथ हो, तो जीवन की राह अपने आप ही आसान और सुंदर लगने लगती है। इसलिए, इस नए साल के अवसर पर छात्र अच्छे दोस्त बनाने का संकल्प भी कर सकते हैं। वे ऐसे दोस्त बना सकते हैं, जिनके साथ अपने सुख-दुख को बिना किसी संकोच के बांट सकें।

साथ ही उनका वह दोस्त उन्हें जीवन में लक्ष्य के प्रति प्रेरित करने और पढ़ाई में उत्साह बढ़ाने में भी मदद करे। ऐसे दोस्तों के होने से जीवन की राह सकारात्मकता से भर सकती है।

8. स्वास्थ्य पर ध्यान देना

आजकल हर तरफ प्रतिस्पर्धा का दौर है। ऐसे में छात्र सफलता की चाह में दिन रात लगे रहते हैं। इस वजह से वे अपने स्वास्थ्य के प्रति ज्यादा सजग भी नहीं रह पाते हैं। दरअसल, वे भूल जाते हैं कि शरीर स्वस्थ रहेगा तभी उनका दिमाग भी तेजी से काम करेगा।

इसलिए छात्रों के पास एक न्यू ईयर रेज़ोल्यूशन यह भी है कि वे इस साल पढ़ाई के साथ-साथ अपने स्वास्थ्य पर भी ध्यान देंगे। ऐसा करने से न केवल उनका शरीर स्वस्थ रहेगा बल्कि उनकी याददाश्त भी बढ़ेगी। इससे वे आसानी से अपने लक्ष्य को पा सकेंगे।

9. फिजूलखर्ची कम करना

नए साल 2022 पर छात्रों के लिए न्यू ईयर रेज्युलेशन में उनके खर्चों को सीमित करना भी शामिल किया जा सकता है। कोशिश करें कि सिर्फ उतना ही खर्च करें जितनी की आवश्यकता है। अपने अधिकांश खर्च पढ़ाई-लिखाई से संबंधित चीजों पर ही करें। अगर फिजूलखर्ची में महंगे रेस्टोरेंट्स में जाना, क्लब में जाना या फैशन पर किए जाने वाले खर्च शामिल हैं, तो आने वाले नए साल से इसे बंद कर सकते हैं।

10. बचत की प्लानिंग बनाना

सेविंग्स प्लान किसी भी उम्र में किसी भी मौके पर करना कभी भी गलत नहीं हो सकता है। सेविंग्स न सिर्फ भविष्य को सुरक्षित बना सकता है, बल्कि इमरजेंसी जैसी स्थितियों में भी काफी मदद कर सकती है। इसलिए, खुद को मिलने वाले पॉकेट मनी से हर महीने कुछ बचत करने की आदत बनाएं।

इसके लिए कोई लक्ष्य भी तय कर सकते हैं और हिसाब से हर महीने थोड़ा-थोड़ा पैसा बचा सकते हैं। यह संकल्प उन विद्यार्थियों के लिए खासकर फायदेमंद साबित हो सकता है तो पढ़ाई के लिए अपने घर से दूर रहते हैं।

11. नई व अच्छी किताबें पढ़ना

जरूरी नहीं कि छात्र सिर्फ अपने विषयों से संबंधित किताबें ही पढ़ें। एक बात का ध्यान रखें कि “किताबें ही मनुष्य की सबसे अच्छी मित्र होती हैं।” इसलिए नई-नई व अच्छी किताबें पढ़ने के लिए खुद को तैयार करें। इसके लिए आप प्रेरणादायक किताबें, कविताएं, प्राचीन जातक कथाएं आदि का चुनाव कर सकते हैं।

चाहें तो अपनी दिलचस्पी के अनुसार, किसी अन्य विषय से संबंधित ऐतिहासिक, वैज्ञानिक या अन्य किताबें भी पढ़कर अपने ज्ञान को बढ़ाने का संकल्प ले सकते हैं।

12. एक्सरसाइज करना

एक्सरसाइज करना अच्छी आदतों में से एक माना जाता है। खासकर छात्रों के लिए तो यह बेहद जरूरी है, क्योंकि एक्सरसाइज के जरिए ही शरीर की फुर्ती बनी रहती है। वहीं, छात्र जीवन में आलस की कोई जगह नहीं होती। इसलिए अगर विद्यार्थी चाहें तो आने नए साल 2022 पर वे रोजाना सुबह या फिर शाम किसी एक समय एक्सरसाइज करने का संकल्प कर सकते हैं।

अगर छात्र अपने बिजी शेड्यूल से एक्सरसाइज के लिए समय नहीं भी निकाल पाते हैं, तो रोज सुबह या शाम वे आधे घंटे वॉक से लेकर साइकिल चलाना या डांस करने जैसी अन्य शारीरिक गतिविधियों को भी कर सकते हैं।

13. नींद का समय निर्धारित करना

कई छात्रों को लेट नाइट स्टडी की आदत होती है और वह सुबह भी जल्दी उठ जाते हैं। इस वजह से उनकी नींद पूरी नहीं हो पाती है। जबकि छात्रों के लिए जरूरी है कि वे दिनभर में 7 से लेकर 10 घंटे तक की नींद पूरी करें। अच्छी नींद पूरे स्वास्थ्य के लिए लाभकारी होती है।

वहीं, नींद में कमी की वजह से थकान का अनुभव हो सकता है, जिसका असर उनके प्रदर्शन पर पड़ सकता है। साथ इस कारण मानसिक प्रदर्शन में कमी भी हो सकती है (1)। ऐसे में छात्रों को नए साल पर भरपूर नींद लेने का संकल्प बनाना चाहिए और सही समय पर सोने की आदत भी शुरू करनी चाहिए।

14. रेगुलर हेल्थ चेकअप कराना

आज के समय में बीमारियों की चपेट मे आना कोई बड़ी बात नहीं है। दरअसल, कई लोग भागदौड़ भरी जिंदगी में अपने सेहत का ख्याल नहीं रखते, जिनमें छात्र भी शामिल है। इस वजह से वे आसानी से बीमार पर सकते हैं। ऐसे में आने वाले नए साल में छात्र अपने न्यू ईयर रेज्युलेशन में रेगुलर हेल्थ चेकअप को शामिल कर सकते हैं ताकि वे बीमारियों की चपेट में आने से बच सकें।

इसके लिए 6 महीने में एक बार या फिर साल में एक बार अपना चेकअप करा सकते हैं। बता दें कि यह संकल्प केवल छात्र ही नहीं बल्कि बड़े लोग भी ले सकते हैं और खुद को जोखिम वाली बीमारियों से बचा सकते हैं।

15. पानी पीने की आदत डालना

हमारे शरीर का एक तिहाई हिस्सा पानी से भरा होता है। दरअसल, पानी शरीर के विभिन्न अंगों को सही से कार्य करने में मदद करती है। साथ ही डिहाइड्रेशन की समस्या को भी दूर रखती है। इसके लिए दिनभर में 2.7 से 3.7 लीटर यानी 8 से 12 ग्लास पानी पीने की सलाह दी जाती है (2)।

इसलिए, यह छात्रों के लिए भी जरूरी है कि वे भरपूर मात्रा में पानी पिएं। अगर उन्हें पानी पीना याद नहीं रहता है, तो इसे याद रखने का संकल्प वे इस नए साल पर कर सकते हैं।

16. खुद को तनाव से दूर रखना

तनाव भावनात्मक या शारीरिक दोनों ही रूपों में हो सकती है। इसकी वजह से मन में निराशा, गुस्सा या नर्वसनेस हो सकती है (3)। खासकर छात्र जीवन के लिए तो यह बिलकुल भी सही नहीं है, लेकिन कई छात्र हमेशा अपनी प्रदर्शन को लेकर तनाव में रहते हैं। इसलिए ऐसे छात्रों को आने वाले न्यू ईयर पर खुद को तनाव से दूर रखने का संकल्प लेना चाहिए। अगर वह खुद को तनाव से दूर रखेंगे तो वे ज्यादा खुश रहेंगे और अपनी पढ़ाई पर पूरा ध्यान लगा सकेंगे।

17. अच्छा खाना खाना

शायद ही किसी छात्र को फास्ट फूड या स्ट्रीट फूड खाना पसंद नहीं होगा। दरअसल, वे अपने चटपटे स्वाद के चक्कर में बाहर का कुछ भी खाने को तैयार रहते है और फिर बीमार पड़ जाते हैं। इसलिए उन्हें आने वाले इस नए साल में इस बात का संकल्प लेना चाहिए कि वे अपने जीवन में केवल हाइजेनिक खाद्य पदार्थों की ही सेवन करेंगे।

वैसे भी बेहतर स्वास्थ्य के लिए एक्सरसाइज जितनी जरूरी है उतना ही जरूरी स्वस्थ और संतुलित आहार का सेवन भी है। इसलिए इस नए साल पर छात्र हेल्दी डाइट फॉलो करने का संकल्प ले सकते हैं।

18. नशे से दूरी बनाना

अगर अल्कोहल व धूम्रपान जैसी कोई भी आदत है, तो इस नव वर्ष के संकल्प के तौर पर उस आदत को छोड़ने का प्रण ले सकते हैं। इस नए साल की शुरुआत फलों से ताजे रसीले जूस के साथ कर सकते हैं। नशीले व मादक पदार्थ न सिर्फ मानसिक स्तर को प्रभावित करते हैं, बल्कि यह धीरे-धीरे शरीर के अंगों को भी कमजोर व खराब कर सकते हैं (4)।

ऐसे में एक स्वस्थ शरीर के लिए नशीली चीजों की लत को बदलने का पूरा प्रयास करें। अगर स्वयं से इस आदत को छोड़ने में परेशानी होती है, तो इसके लिए नशा मुक्ति केंद्र व अन्य सपोर्ट ग्रुप से जुड़कर उनकी मदद भी ले सकते हैं।

19. स्वस्थ वजन बनाना

अगर शरीर बहुत वजनदार है या फिर बहुत दुबला-पतला है, तो अपने शरीर का उचित बनाने का विचार कर सकते हैं। छात्रों के लिए अधिक या फिर कम वजन दोनों ही शारीरिक स्वास्थ्य के लिए दुष्प्रभावकारी हो सकते हैं। स्वस्थ वजन बनाने के लिए छात्र अच्छी डाइड से लेकर उचित शारीरिक गतिविधियों को अपनी दिनचर्या में शामिल कर सकते हैं (5)।

इसके लिए एक टाइम शेड्यूल बनाएं और अपनी जरूरत के अनुसार उसमें डाइट प्लान और फिजिकल एक्सरसाइज को ऐड करें। ऐसा करने के वजन नियंत्रण में रहेगा और शरीर भी बीमारियों से मुक्त होगा।

20. करियर प्लानिंग

हर छात्र के जीवन का एक लक्ष्य होता है, जिसे पूरा करने के लिए एक प्लानिंग की आवश्यकता होती है। इसलिए, यह जरूरी है कि वे भविष्य में जिस भी रोजगार को नौकरीपेशा जीवन के रूप में चुनना चाहते हैं, उसके लिए अपनी योजना अभी से बनाना शुरू कर दें।

ऐसा भी हो सकता है कि उम्र व समय के साथ-साथ छात्रों के करियर के रुझान में बदलाव हो जाए, इसलिए छात्रों को अभी से अपने करियर के प्रति सचेत होना चाहिए। ताकि समय रहते वे अपने लिए न सिर्फ अच्छे रोजगार का रास्ता बना सकते हैं, बल्कि उसी नौकरी की राह को अपनाएं, जिसे करने में उन्हें भरपूर आनंद भी मिले।

21. सीखने पर फोकस करना

अक्सर छात्रों पर पेरेंट्स परीक्षा में अच्छे ग्रेड व नंबर लाने का दबाव बनाकर रखते हैं, जो बच्चे के मानसिक स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं होता है। हालांकि, इसमें जरा भी संदेह नहीं कि भविष्य के लिए अच्छे ग्रेड काफी अहम होते हैं,

लेकिन यह भी सच है कि अच्छे ग्रेड और स्कूली ज्ञान अच्छी नौकरी में अहम होते हैं, लेकिन किताबी दुनिया से बाहर का ज्ञान यह सिखाता है कि छात्र अपने हुनर को और बेहतर कैसे बनाएं।

इसलिए इस आने वाले इस साल से छात्रों को यह संकल्प लेना चाहिए कि वे किताबी ज्ञान के साथ-साथ जीवन के अन्य महत्वपूर्ण पहलुओं के बारे में सीखेंगे। साथ ही नई जिम्मेदारियों को भी निभाने का प्रयास करेंगे।

22. हेल्थ इंश्योरेंस लेना

किसी भी बीमारी या एक्सीडेंट में आर्थिक मदद की आवश्यकता सबसे जरूरी होती है। इनके खर्च को संतुलित बनाए रखने के लिए छात्र खुद के लिए हेल्थ इंश्योरेंस ले सकते हैं। छात्रों के लिए कई तरह के हेल्थ इंश्योरेंस प्लान भी उपलब्ध हैं, जिनके बारे में वो इससे संबंधित बीमा कंपनी से बात भी कर सकते हैं।

साथ ही इस बारे में पेरेंट्स से भी बात करें, ताकि वो इसमें आर्थिक रूप से मदद कर सकें। हेल्थ प्लान लेने से पहले उसका प्रीमियम, कवर होने वाली बीमारियां और घटनाएं, क्लेम का समय, हॉस्पिटल की डिटेल्स आदि के बारे में पूरी जानकारी भी जरूर एकत्रित कर लें।

23. सुबह उठने की आदत डालना

सुबह-सुबह उठने की आदत हमें शुरू से ही सिखाई जाती है, लेकिन हममें से ऐसे बहुत ही कम है, जो नियमित रूप से सुबह उठते हैं। वो बात अलग है कि कुछ लोग स्कूल, ऑफिस या अन्य कार्यों की वजह से सुबह-सुबह उठ जाते हैं, लेकिन अगर आप छुट्टी वाले दिन देर तक सोते हैं या सुबह स्कूल जाने की आदत से परेशान हो जाते हैं, तो अपनी इस आदत में इस साल से सुधार लाएं।

इस साल सुबह उठने का संकल्प लें। फिर चाहे स्कूल जाना हो या छुट्टी का दिन ही क्यों न हो, हर दिन सुबह उठने के नियम को फॉलो करें। ऐसा करने से न केवल सुबह की ताजगी महसूस होगी बल्कि दिन का पूरा समय भी मिल सकेगा।

24. सोशल मीडिया का सही उपयोग

आज के समय में सोशल मीडिया का इस्तेमाल बहुत बढ़ गया है। बड़े तो बड़े बच्चे में दिन भर इसी में लगे रहते हैं।

दरअसल, इंटरनेट व सोशल मीडिया जैसी सुविधाओं ने बहुत से काम को आसान बना दिया है, लेकिन सोशल मीडिया के फायदे तभी तक है, जब तक इसकी लत न लगे। खासकर छात्रों के लिए तो यह बहुत महत्वपूर्ण है।

इसलिए विद्यार्थियों को आने नए साल 2022 के शुभ अवसर पर यह संकल्प लेना चाहिए कि वे सोशल मीडिया का सही उपयोग करेंगे। पढ़ाई से संबंधित जानकारी के लिए उनका अधिक इस्तेमाल करेंगे। इसके लिए यूट्यूब के ऐसे चैनल्स को फॉलो कर सकते हैं, जो स्किल डेवलपमेंट के अलावा, महत्वपूर्ण विषयों के बारे में जानकारी देते हैं। साथ ही उन एप्स का भी इस्तेमाल कर कर सकते है, जो उनके विषय के बारे में पढ़ाते हैं।

25. संगीत को रूटीन में शामिल करना

अपने नववर्ष के संकल्प में छात्र संगीत सुनने की आदत को भी शामिल कर सकते हैं। रिसर्च बताते हैं कि संगीत सुनने से आत्म जागरूकता के साथ ही सामाजिक संबंधों व मनोदशा को संतुलित करने में भी काफी मदद मिलती है। रिसर्च में शामिल लोगों के अनुसार, संगीत उन्हें खुद के बारे में सोचने, भावनाएं व्यक्त करने और मुश्किल से मुश्किल परिस्थितियों से बाहर निकलने के लिए भरोसा दिलाने में मदद करता है (6)।

यही वजह है कि छात्रों को संगीत जरूर सुनना चाहिए। संगीत न सिर्फ उनकी आत्म जागरूकता को बढ़ा सकती है, बल्कि उनके लक्ष्य को हासिल करने में भी मदद करती है। इसके परिणाम स्वरूप उनका मन शांत रहेगा और वे शांति से पढ़ाई में ध्यान लगा सकेंगे।

26. खुद को शांत रखना

देखा गया है कि कुछ छात्र बहुत जल्दी ही उग्र हो जाते हैं। इसलिए ऐसे छात्र इस नए साल पर अपने मन में यह संकल्प लें सकते हैं कि वे खुद को शांत रखेंगे और मन में धैर्य बनाए रखेंगे। मन में धैर्य बनाए रखना मुश्किल कामों में से एक होता है।

इसलिए, किसी भी कार्य को करने से पहले खुद को शांत रखें। साथ ही किसी की बातों का जवाब धैर्य के साथ दें। घबराकर या जल्दबाजी में कोई भी फैसला न लें, न ही किसी को जल्दबाजी में जवाब दें। ऐसी आदत को बनाए रखने में मन को शांत रखने का संकल्प मदद करेगा।

27. नए अवसरों का भरपूर उपयोग करना

जीवन में हर कदम पर नए अवसर मिलते हैं। इसलिए इस नये साल पर संकल्प करें कि इस साल मिलने वाले सभी नए अवसरों का भरपूर उपयोग करेंगे। साथ ही जीवन में नए अवसरों की तलाश भी करेंगे। अपनी क्षमता व दक्षता के अनुसार, अपने लिए नए अवसरों की खोज करें। इससे संबंधित अगर किसी विकल्प के बारे में पता चलता है, तो उसका भी लाभ जरूर उठाएं।

28. खुद से प्यार करना

अगर आपको ऐसा लगता है कि समय की कमी व बहुत सारे काम की वजह से आप खुद का ख्याल नहीं रख पाते हैं, तो इस नए साल से आप खुद के लिए थोड़ा समय निकालने की योजना बनाएं। फिर उस समय केवल वही उन्हीं कार्यों को करें जिससे आपको खुशी मिलती हो।

उदाहरण के लिए, अगर आपको खाना बनाना, अच्छी किताबें पढ़ना, कोई विशेष खेल खेलना या घूमने का शौक है, तो खुद की खुशी के लिए इनके लिए थोड़ा समय जरूर निकालें। ऐसा करने से आपको अच्छा महसूस होगा और दिमाग भी फ्रेश रहेगा, जिससे आप पढ़ाई में अच्छी तरह से मन लगा सकेंगे।

29. बजट बनाना

छात्रों के लिए उनका पॉकेट मनी ही सब कुछ होता है, लेकिन सही प्लानिंग न होने के कारण कभी-कभी पर्याप्त पैसे भी उनके लिए कम पड़ जाते हैं। फिर वे दूसरे से कर्ज लेने को मजबूर हो जाते हैं, जो उनके लिए बिल्कुल भी अच्छा नहीं है। इसलिए आने वाले नए साल में छात्र एक संकल्प यह भी ले सकते हैं कि वे अपना बजट निर्धारण करेंगे और फिर उसी के अनुसार अपने पैसे खर्च करेंगे।

चाहे तो वे इसके लिए एक डायरी बना सकते हैं, जिसमें वे अपने हर खर्च का हिसाब रख सकते हैं। कॉपी-किताब से लेकर खाने-पीने, घूमने व शौकिया चीजों में खर्च होने वाली लागत को नोट कर सकते हैं। ऐसा करने से वे अपनी जरूरत के खर्चों व फीजूलखर्यों का पता लगा सकते हैं और उसी के अनुसार अपने बजट को भी संतुलित कर सकते हैं।

30. सपनों को सच बनाना

अगर अभी तक परिवार के दबाव में आकर अपने लिए नौकरी का चुनाव कर रहे हैं, तो इस बारे में एक बार फिर से विचार करें। यह नौकरी आपको कितना खुश रखेगी, इसमें आर्थिक स्थिति कितनी मजबूत हो सकती है या भविष्य के लिए यह कितना सुरक्षित है।

इसके साथ ही उस नौकरी के आप खुद कितना तैयार हैं, इसका भी आंकलन करें। अगर अभी तक नौकरी के बारे में कोई योजना नहीं बनाई है, तो अपने ड्रीम जॉब के लिए खुद को तैयार करें। जिस भी विषय में खुद की रुचि है, उससे संबंधित नौकरी के बारे में जानकारी एकत्रित करें। फिर उस रास्ते पर चल कर अपने सपने को सच करें।

31. खुश रहना सीखें

कहते हैं अगन मन खुश रहता है तो शरीर भी स्वस्थ रहता है। इसलिए न्यू ईयर रेज्यूलेशन के तौर पर छात्र यह संकल्प ले सकते हैं कि वे हमेशा खुश रहने की कोशिश करेंगे। किसी भी परिस्थिति का सामना वे डट कर करेंगे और खुद को हमेशा प्रसन्न रखने की कोशिश करेंगे। ऐसा करने से उनका मन पढ़ाई में अच्छी तरह से लग सकेगा और जीवन सकारात्मक विचार के साथ वे आगे बढ़ सकेंगे।

32. गुस्सा कम करना

गुस्सा किसी को भी आ सकता है, फिर चाहे वो कोई छोटा बच्चा हो या कोई बड़ा बुजुर्ग। वर्क लोड के साथ बढ़ती जिम्मेदारियां व आर्थिक तंगी जैसे कई कारक हैं, जो स्वभाव को गुस्सैल बना सकती हैं। जिसका एक समय के बाद रिश्तों से लेकर स्वास्थ्य तक बुरा प्रभाव देखा जा सकता है। खासकर छात्र बहुत जल्दी इसकी चपेट में आ जाते हैं।

इसलिए छात्र इस साल गुस्सा कम करने का संकल्प ले सकते है, ताकि वे अपने स्वभाव को शांत बना सकें और सेहत को भी दुरुस्त रख सकें। अपने गुस्से को कंट्रोल करने के लिए छात्र कई तरीकों को आजमा सकते हैं। इनमें से सबसे आसान तरीका है जब भी गुस्सा आए, तो 10 से लेकर 1 की उल्टी गिनती गिनें या फिर गहरी सांस भरें (7)। ऐसा करने से गुस्सा कम किया जा सकता है।

33. रिश्तेदारों का आदर

ऐसे कई रिश्तेदार होते हैं, जिसे बच्चे पसंद नहीं करते। दरअसल, वे बार-बार उनके उनके प्रदर्शन के बारे में उनसे पूछते हैं, जो विशेष रूप से छात्रों को पसंद नहीं होते। इसलिए वे उन्हें देखना पसंद नहीं करते, लेकिन ऐसा करना गलत है। बच्चों को हमेशा बड़ों का सम्मान करना चाहिए। इसलिए छात्रों को यह भी संकल्प लेना चाहिए कि वे अपने रिश्तेदारों का सम्मान करेंगे।

34. सच्चे दोस्त बनाना

जीवन में अच्छा दोस्त तो हर कोई पा लेता है, लेकिन सच्चा दोस्त शायद ही किसी को मिलता है। इसलिए छात्र नए साल में सच्चे दोस्त बनाने का संकल्प भी ले सकते हैं। दरअसल, अच्छे दोस्त जहां जीवन को अच्छा बनाने में मदद करेंगे, वहीं सच्चे दोस्त जीवन में खुशियों को भरने में मदद करते हैं। वो सच्चे दोस्त ही होते हैं, जो बुराई से अच्छाई का रास्ता दिखाते हैं।

वहीं, अगर आपके पास पहले से ही बहुत सारे दोस्त हैं, लेकिन सिर्फ मतलब के लिए ही आपके साथ है तो उनके साथ अपना कीमती समय बर्बाद करना बंद करें। इसके बजाय सिर्फ किसी एक को ही अपना सच्चा मित्र बनाएं और उसे ही अपना समय दें।

35. परिवार को समय देना

ऐसे छात्र जो पढ़ाई के लिए घर से दूर रहते हैं वे थोड़ा समय निकाल कर अपने परिवार से बात जरूर करें। दरअसल, छात्र तो अपने रूटीन के हिसाब से बिजी रहते हैं, लेकिन उनके माता-पिता को हमेशा उनकी चिंता सताती रहती है। इसलिए छात्रों  को उन्हें अपना समय जरूर देना चाहिए।

साथ ही आपके लिए उन्होंने जितना कुछ किया है उसका धन्यवाद भी करें और उनकी सराहना भी करें। इससे ना सिर्फ पारिवारिक रिश्ता मजबूत बनेगा, बल्कि उनके साथ अपनी खुशियों व परेशानियों को साझा करने में भी आसानी होगी (8)।

36. न्यू लुक ट्राई करना

साल की शुरुआत करने का एक मजेदार तरीका है कुछ अलग करना। आप नए साल की शुरुआत नए हेयर कटिंग से या फिर बालों को नया रंग दे सकते हैं। चाहें तो अपने लुक को भी बदलने का भी ट्राई ले सकते हैं। इसके लिए  अपने कपड़े पहनने के स्टाइलिश आदि में भी बदलाव ला सकते हैं। अगर बहुत साधारण लुक कैरी करते हैं, तो लुक को थोड़ा मॉडर्न टच देना एक अच्छी शुरुआत मानी जा सकती है।

37. साफ सफाई का ध्यान रखें

आज के समय में ऐसी कई बीमारियां फैल गई है जो आसपास फैली गंदगी के कारण होती हैं। इसलिए साफ-सफाई का ध्यान रखना बेहद जरूरी है। ऐसे में छात्र चाहें तो अपने संकल्प में इसे भी शामिल कर सकते हैं कि वे नए साल से अपने कमरे के साथ-साथ पूरे घर की साफ-सफाई का ध्यान रखेंगे। यही नहीं छात्र यह भी प्रण ले सकते हैं कि वे दूसरे को भी इसके प्रति जागरूक करेंगे।

38. पौधे लगाने का संकल्प

आज के समय में प्रदूषण एक बड़ी समस्या बन कर हमारे सामने उभर रही है। इस कारण कई बीमारियां भी बढ़ रही हैं। ऐसे में पर्यावरण को शुद्ध बनाए रखने और ऑक्सीजन की मात्रा को बढ़ाने के लिए छात्र इस न्यू ईयर में पौधे लगाने का भी संकल्प ले सकते हैं।

ऐसा करने से न केवल आस पास का इलाका हरा-भरा बना रहेगा बल्कि प्रदूषण की समस्या को भी कुछ हद तक कम किया जा सकता है। छात्र अपने साथ-साथ अन्य लोगों को भी पौधे लगाने के लिए प्रेरित कर सकते हैं, ताकि ज्यादा से ज्यादा पेड़ लगाए जा सके और हरियाली को बरकरार रखने में मदद मिल सके।

39. पिछली गलतियों से सीखना

नए साल 2022 के रेज्युलेशन लिस्ट में छात्र अपनी गलतियों को सुधारना भी शामिल कर सकते हैं। दरअसल, हम में से कई लोग ऐसे होते हैं, जो जीवन के किसी न किसी मोड़ पर कुछ न कुछ गलतियां जरूर करते हैं। ऐसे में छात्र यह संकल्प ले सकते हैं कि वे नए साल में अपनी पिछली गलतियों को नहीं दोहराएंगे। साथ ही अपने द्वारा की गई गलतियों को सुधारने का भी प्रयास जरूर करेंगे।

40. लोगों की मदद करना

छात्र अपने न्यू ईयर रेज्यूलेशन में लोगों की मदद करना भी शामिल कर सकते हैं।  अगर, स्कूल या पार्क जाते समय उन्हें ऐसे लोगों मिलते हैं, जिन्हें मदद की आवश्यकता होती है तो उन्हें बेझिझक उनकी मदद करनी चाहिए। ऐसा करने से उन्हें एक अलग प्रकार की खुशी का एहसास होगा।

छात्र चाहें तो लोगों की मदद के लिए एक ग्रुप भी बना सकते हैं, जिसमें अपने परिवार के लोगों, रिश्तेदारों और दोस्तों को शामिल कर सकते हैं। फिर उनकी मदद से जरूरतमंदों की सेवा कर सकते हैं। उन्हें राशन, कपड़े व अन्य जरूरी वस्तुएं प्रदान करा सकते हैं। वहीं, अगर ऐसा लगे कि किसी को भावनात्मक रूप से मदद चाहिए, तो दिन का कुछ समय आप उनके साथ बिता सकते हैं और उनसे बात कर सकते हैं।

41. खुद की इच्छाएं कम करना

शौक बड़ी चीज है। यह शॉपिंग से लेकर, घूमने-फिरने, तरह-तरह के खाने से भी जुड़ी हो सकती है। वहीं, अगर इस तरह के शौक फिजूलखर्ची या अन्य परेशानियों को बढ़ावा दे रहे हैं, तो इसे सीमित करने में ही भलाई है। छात्र जीवन में तो यह और भी जरूरी है।

इसलिए नए साल के इस अवसर पर छात्रों को यह संकल्प लेना चाहिए कि वे अपनी इच्छाओं पर लगाम लगाएंगे और अपना पूरा ध्यान पढ़ाई पर लगाएंगे। अगर एक बार वे पढ़ लिख कर एक बड़ा इंसान बन जाते हैं, तो फिर वे अपने सभी शौक को आसानी से पूरा कर सकेंगे।

42. साइड या बैकअप प्लान बनाना

यह जरूरी नहीं कि सफलता के लिए बनाई गई पहली योजना सफल हो जाए। इसलिए, हर काम के लिए साइड या बैकअप प्लान बनाकर रखना चाहिए। छात्र चाहें को न्यू ईयर पर इसे भी अपनी रेज्यूलेशन लिस्ट शामिल कर सकते हैं। इससे उन्हें सफलता प्राप्त करने में काफी आसानी होगी।

उदाहरण के लिए, दुर्भाग्य वश अगर किसी छात्र को परीक्षा में अच्छे ग्रेड नहीं आते हैं या परीक्षा में उत्तीर्ण नहीं होते हैं, तो ऐसी स्थिति में वे क्या करेंगे, इस बारे में भी अपनी योजना तैयार करके रखें। अगर पहले से ही ऐसी स्थिति के लिए दूसरी योजना बनाकर रखेंगे, तो असफल होने का डर और दुख कम दोनों ही महसूस होगा।

43. अच्छे लोगों के संपर्क में रहना

जीवन के किसी न किसी मोड़ पर हम सब की मुलाकात किसी ऐसे शख्स से जरूर होती है, जिनसे हमें काफी कुछ सीखने का मौका मिलता है। नए साल के मौके पर छात्र ऐसे लोगों के संपर्क में रहने का संकल्प ले सकते है। इसके लिए वे एक अच्छे लोगों की एक लिस्ट तैयार कर सकते हैं और उनसे संपर्क बनाए रख सकते है। इसके लिए छात्र उनके साथ समय-समय पर मैसेज या कॉल से बात कर सकते हैं और मौका मिलने पर उनसे मिलने की भी योजना बना सकते हैं।

44. देरी करने से बचना

कई बार हम किसी मुद्दे पर सोच-विचार करने में इतना समय ले लेते हैं कि उस वजह से हम किसी अच्छे मौके को हाथ से खो देते हैं। इसलिए, अगर आपको ऐसा कोई मौका मिलता है, जिसके लिए सोच-समझकर फैसला करना है, तो उस पर अपना निर्णय जल्दी की कर लें। ताकि हाथ से अच्छे मौके को खोने से बच सकें। यही वजह है कि नए साल पर छात्र देरी न करने का संकल्प ले सकते हैं।

45. दयालु बनें

एनसीबीआई (नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इंफॉर्मेशन) की वेबसाइट पर प्रकाशित एक अध्ययन के मुताबिक.

दयालु स्वभाव का होने पर मन अधिक शांत व खुशहाल रह सकता है। अगर आसान भाषा में कहें तो हमारा दयालु स्वभाव हमारी खुशी को बढ़ा सकता है (9)।

ऐसे में इस नववर्ष पर छात्र खुद को दयालु बनाने का संकल्प ले सकते हैं। मनुष्यों से लेकर जानवरों तक के लिए वे अपने मन में दया की भावना को बढ़ा सकते हैं। इस तरह उनका दयालु स्वभाव न सिर्फ उनकी खुशियों को बढ़ाएगा, बल्कि दूसरे व्यक्ति के मन में उनके लिए प्यार व सम्मान को भी बढ़ा सकता है।

46. परिवर्तन को स्वीकार करना

कहते है परिवर्तन संसार का नियम है। इसलिए हर किसी को इसे स्वीकार करना चाहिए। छात्र जीवन में तो यह और भी अधिक मायने रखता है। दरअसल, यह माना जाता है कि जो इंसान अपने आप को जितना जल्दी बदलता है, उतनी ही जल्दी उसे सफलता प्राप्त होती है।

इसलिए छात्रों के लिए यह बेहद जरूरी है कि वे अपने न्यू ईयर रेज्यूलेशन में परिवर्तन को स्वीकार करना शामिल करें। ऐसा करने से छात्र हार का सामना किए बिना जीवन में नई सफलता की सीढ़ी आसानी से चढ़ते चले जाएंगे।

47. महत्वपूर्ण तिथियां याद रखना

नए साल के इस अवसर पर छात्र महत्वपूर्ण तिथियों को याद रखने का भी संकल्प ले सकते हैं। इससे उनका सामान्य ज्ञान काफी बढ़ सकता है। इसके अलावा, छात्र अपने परिवार वालों और खास दोस्तों के साथ-साथ रिश्तेदारों के जन्मदिवस या फिर अन्य खास तिथियों को याद रख उन्हें सरप्राइज दे सकते हैं। ऐसा करने से आप न केवल उन्हें स्पेशल एहसास दिला सकते हैं, बल्कि आपस के रिश्ते को भी मजबूत बना सकते हैं।

48. जीवन को खुलकर जीये

कई छात्र ऐसे होते हैं, जो अपना सारा दिन अपने कमरे में भी बिता देते हैं। उन्हें ज्यादा किसी से बोलने की आदत नहीं होती वे अपने आप में ही रहना पसंद करते हैं। ऐसे छात्रों को नए साल में यह संकल्प लेना चाहिए कि वे अपने जीवन को अब से खुलकर जिएंगे। नए-नए लोगों से मिलेंगे और उनसे दोस्ती करेंगे। ऐसा करने से उन्हें नई आजादी महसूस होगी और अपने आप में अच्छा भी महसूस होगा।

49. खुद के फैसले लेना

आने वाले नए साल से छात्र अपने जीवन में सही फैसले लेने का भी संकल्प ले सकते हैं। दरअसल, कई छात्रों के साथ ऐसा होता है कि उनके भविष्य के फैसले उनके माता-पिता लेते हैं। इस वजह से वैसे छान कई जिम्मेदारियों को लेने से चूक जाते हैं। खासकर अगर फैसला उनके करियर से जुड़ा हो तो फिर और दिक्कत हो सकती है, क्योंकि ज्यादातर माता-पिता अपने सपनों के हिसाब से अपने बच्चे के करियर की प्लानिंग करते हैं।

जबकि असल में छात्र की रुचि के हिसाब से ही उनके करियर का चुनाव करना चाहिए। इसलिए बेहतर होगा कि इस न्यू ईयर से छात्र अपने फैसले खुद लेने के लिए आगे आएं और अपने माता-पिता को यह यकीन दिलाएं कि वे अपने लिए सही फैसला ले सकते हैं।

50 . बुरी आदतें छोड़ें

कई छात्रों को कुछ चीजों की बुरी आदत होती है, जैसे मोबाइल पर समय बर्बाद करना, दिन भर वीडियो गेम्स खेलते रहना, दिन भर सोना आदि। ऐसा करने से न केवल उनका समय बर्बाद होता है बल्कि इसका असर धीरे-धीरे करके उनकी सेहत पर भी पड़ने लगता है। ऐसे छात्र न्यू ईयर रेज्यूलेशन के तौर पर इन आदतों को छोड़ने का संकल्प ले सकते हैं। ऐसा करने से वे अपना अधिक समय पढ़ाई और अपनी रुचि को पूरा करने में दे सकेंगे।

51. आलस का त्याग करें

जीवन की सफलता को प्राप्त करने में आलस सबसे बड़ी रुकावट होती है और यह समस्या छात्रों में सबसे आम मानी जाती है। इसलिए आने वाले नए साल के अवसर पर छात्रों को यह संकल्प लेना चाहिए कि वे किसी भी सूरत में आलस नहीं करेंगे। साथ ही अपने काम किसी और से नहीं कराकर खुद की करेंगे। ऐसा करने से शरीर की स्फूर्ती को बढ़ेगी ही साथ ही अपने कामों के लिए दूसरों पर निर्भर भी नहीं रहना पड़ेगा।

52. नकारात्मकता से दूर रहें

कई लोग ऐसे होते हैं, कि अपना सारा समय लोगों की बुराई करने में बर्बाद कर देते हैं। छात्रों को ऐसा करने बचना चाहिए। इसलिए वे नए साल पर यह संकल्प ले सकते हैं कि वे नकारात्मकता से दूर रहेंगे और किसी की भी बुराई नहीं करेंगे। दरअसल, लोगों की बुराई करने से न केवल समय बर्बाद होता है बल्कि खुद की अहमियत भी कम होने लगती है।   

53. जरूरत से ज्यादा सफाई देना बंद करें

कुछ छात्र ऐसे होते हैं, जो हर चीज के लिए जरूरत से ज्यादा सफाई देते हैं। ऐसे छात्रों को आने वाले नए साल पर यह संकल्प लेना चाहिए वो किसी को भी जरूरत से ज्यादा सफाई नहीं देंगे। दरअसल, इंसान जब किसी  बात व काम को लेकर बार-बार सफाई देता है, तो सामने वाले को लगने लगता है कि गलती उसी की थी, इसलिए वो बार-बार सफाई पेश कर रहा है। बस जितना जरूरी लगे उतना ही एक्सप्लेनेशन दें, क्योंकि सामने वाले को जो सोचना होगा वो वही सोचेगा।

54. ईमानदार बनें

ईमानदार लोगों की इज्जत हर जगह होती है। इसलिए छात्रों को छोटी कक्षाओं से ही ईमानदारी का पाठ पढ़ाया जाता है ताकि उनके अंदर भी ये भावना विकसित हो सके, लेकिन ऐसे बहुत कम छात्र होते हैं जो अपने काम के प्रति ईमानदार होते है। ऐसे छात्र इस न्यू ईयर पर खुद को ईमानदार बनाने का संकल्प ले सकते हैं। ईमानदारी के जरिये न केवल आप लोगों का भरोसा जीत सकेंगे बल्कि उनके नज़रों में आपकी इज्जत भी बढ़ जाएगी।

55. बिजली बचायें

आज के समय में बिजली की खपत जितनी बढ़ गई है, उतनी ही इसके खत्म होने समस्या भी गहरी होते जा रही है। ऐसे में हर किसी को इसे बचाने के लिए कदम उठाना चाहिए, जिसमें छात्र अपना महत्वपूर्ण योगदान दे सकते हैं। वे इस न्यू ईयर यह रेज्यूलेशन ले सकते हैं कि आने वाले समय में बिजली बचाने का हर संभव प्रयास करेंगे।

बिजली बचाने के लिए छात्र अपनी आदतों में कुछ बदलाव कर सकते हैं, जैसे :

  • इंडक्शन की जगह पर एलपीजी गैस का इस्तेमाल करना।
  • टेलीविजन, बल्ब, फोन का चार्जर आदि जैसे इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स के इस्तेमाल के बाद उसका स्विच बंद कर दें।
  • एसी की बजाए पंखा या कूलर चलाएं।
  • ज्यादा वोल्ट के बल्ब की जगह पर, एलईडी बल्ब लगाएं। इससे बिजली का खर्च कम होगा, आदि।

56. अहंकार कम करें

माना जाता है कि मन का अहंकार सामाजिक जीवन को प्रभावित कर सकता है (10)। साथ ही यह उन्नति के मार्ग में भी रुकावट बन सकता है। इसलिए बेहतर होगा कि छात्र इससे दूरी बनाकर रखें, ताकि जीवन में विनम्रता बनी रहे। इस के लिए छात्र नए साल में यह संकल्प ले सकते हैं कि वे अपने अंदर से अहंकार का त्याग करेंगे और अपने आसपास प्यार बाटेंगे।

हर कोई अपने मन में यह विश्वास रखता है कि उनका आने वाला नया साल पिछले साल की अपेक्षा में बेहतर होगा। अगर मन में नए साल को बेहतर बनाने के संकल्प के साथ नववर्ष की शुरुआत करेंगे, तो निश्चित ही यह पिछले साल की अपेक्षा में काफी बेहतर होगा। नववर्ष के लिए संकल्प लेने में आसानी हो, इसी वजह से इस लेख में नए साल 2022 पर छात्रों के लिए न्यू ईयर रेज्युलेशन बताए गए हैं। इनमें से आप किसी भी संकल्प को अपना सकते हैं और मन से उसे अपनी आदत में शामिल करने का विचार कर सकते हैं।

References:

MomJunction's articles are written after analyzing the research works of expert authors and institutions. Our references consist of resources established by authorities in their respective fields. You can learn more about the authenticity of the information we present in our editorial policy.
  1. Healthy Sleep
    https://medlineplus.gov/healthysleep.html
  2. Water in diet
    https://medlineplus.gov/ency/article/002471.htm
  3. Stress and your health
    https://medlineplus.gov/ency/article/003211.htm
  4. Alcohol Use and Your Health
    https://www.cdc.gov/alcohol/fact-sheets/alcohol-use.htm
  5. Healthy Weight, Nutrition, and Physical Activity
    https://www.cdc.gov/healthyweight/index.html
  6. The psychological functions of music listening
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3741536/
  7. Anger Management 3: Structured Programs and Interventions. ERIC Digest.
    https://files.eric.ed.gov/fulltext/ED482768.pdf
  8. Family Relationships and Well-Being
    https://academic.oup.com/innovateage/article/1/3/igx025/4617833
  9. HAPPY PEOPLE BECOME HAPPIER THROUGH KINDNESS: A COUNTING KINDNESSES INTERVENTION
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC1820947/
  10. Children’s Negative Emotions and Ego-Resiliency: Longitudinal Relations With Social Competence
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4472430/
The following two tabs change content below.