साबुन से घर में प्रेगनेंसी टेस्ट कैसे करें? | Soap (Sabun) Pregnancy Test In Hindi

Soap (Sabun) Pregnancy Test In Hindi

Image: Shutterstock

IN THIS ARTICLE

क्या आपने पीरियड्स मिस कर दिए हैं? क्या आपको मॉर्निंग सिकनेस हो रही है और इस बात पर लगभग भरोसा हो गया है कि आप प्रेगनेंट हैं? इस बात की इतनी खुशी है कि नॉर्मल ब्लड टेस्ट करवाने से पहले उत्सुकता के कारण खुद घर में टेस्ट करना चाहती हैं, लेकिन आपके पास प्रेगनेंसी टेस्ट किट नहीं है। कोई बात नहीं, ऐसे में आप कुछ घरेलू प्रेगनेंसी टेस्ट की मदद ले सकती हैं। जी हां, आप अपने बाथरूम में रखे साधारण साबुन को गर्भावस्था की जांच करने के लिए उपयोग कर सकती हैं। यह कैसे किया जाता है और इसके परिणाम कितने सटीक होते हैं, इस बारे में जानिए मॉमजंक्शन के इस लेख में।

लेख के पहले भाग में जानिए कि सोप प्रेगनेंसी टेस्ट क्या होता है।

साबुन प्रेगनेंसी टेस्ट की परिभाषा क्या है? | Sabun Se Pregnancy Test

सोप प्रेगनेंसी टेस्ट में साबुन के पानी और यूरिन के साथ गर्भावस्था की जांच की जाती है। इस टेस्ट के लिए साबुन का पानी घर में आसानी से बनाया जा सकता है। इसी वजह से इसे गर्भावस्था जांचने के सबसे आसान तरीकों में गिना जाता है। यह घरेलू प्रेगनेंसी टेस्ट किफायती होता है और इसे जितनी बार चाहें उतनी बार कर सकती हैं। हां, यह टेस्ट किसी भी तरह से मेडिकली प्रमाणित नहीं है। इसे महिलाएं अपने गर्भधारण के समय को रोचक बनाने के लिए कर सकती हैं।

आगे गर्भावस्था की जांच करने के सही समय के बारे में पढ़ें।

गर्भावस्था की पुष्टि के लिए साबुन प्रेगनेंसी टेस्ट करने का सही समय क्या है?

गर्भावस्था के दौरान शरीर में एक तरह का हॉर्मोन बनने लगता है, जिसे एचसीजी (HCG) हॉर्मोन कहा जाता है। समय के साथ गर्भवती के शरीर में इस हॉर्मोन की मात्रा बढ़ने लगती है। इसका प्रभाव सबसे ज्यादा रातभर के रूके हुए यानी सुबह के पहले यूरिन में होता है। इसी वजह से गर्भावस्था की जांच सुबह के पेशाब से करने की सलाह दी जाती है (1)

इस टेस्ट को गर्भधारण करने के संकेत मिलने के 10 दिन बाद ही करें। दरअसल, 10 दिन के बाद ही शरीर में एचसीजी हार्मोन की मात्रा बढ़ती है और प्रेगनेंसी टेस्ट सही आ सकता है (2)। इसका परिणाम कितना सटीक हो सकता है, इसकी जानकारी हम नीचे देंगे।

लेख के अगले भाग में आप जानेंगे कि साबुन से प्रेगनेंसी टेस्ट करने के लिए आपको क्या चाहिए।

साबुन के साथ प्रेगनेंसी टेस्ट करने के लिए आपको किन चीजों की आवश्यकता होगी?

साबुन की मदद से घर में गर्भावस्था की जांच करने के लिए नीचे बताई गई चीजों की जरूरत पड़ेगी :

  • एक साबुन का टुकड़ा
  • पानी
  • सुबह के यूरिन का सैंपल
  • दो प्लास्टिक के कप

आगे साबुन से गर्भावस्था की जांच करने की विधि के बारे में जानिए।

साबुन प्रेगनेंसी टेस्ट करने का तरीका

नीचे बताई गई विधि से घर में साबुन से गर्भावस्था की जांच आसानी से की जा सकती है।

  • सबसे पहले साबुन को पानी में घोलें और साबुन का झाग वाला पानी तैयार करें।
  • अब एक प्लास्टिक के कप में सुबह का यूरिन डालें।
  • इसके बाद दूसरे प्लास्टिक के कप में साबुन का पानी डालें।
  • फिर उस साबून वाले कप में यूरिन मिलाएं।
  • इस सॉल्यूशन में यूरिन की मात्रा साबुन के पानी से ज्यादा होनी चाहिए। साबुन के पानी और यूरिन का अनुपात 1:3 होना चाहिए।
  • अब इसमें होने वाले बदलाव को ध्यान से देखें, जिससे इसका परिणाम पता चलेगा।

अगले भाग में आप जानेंगे कि इस टेस्ट के परिणाम को किस तरह से समझा जा सकता है।

साबुन प्रेगनेंसी टेस्ट के परिणाम

माना जाता है कि यूरिन में मौजूद एचसीजी हॉर्मोन और साबुन के पानी दोनों के संपर्क में आने से केमिकल रिएक्शन होता है, जिससे गर्भावस्था का पता लगाया जा सकता है। इस सोप प्रेगनेंसी टेस्ट के परिणाम को समझना बहुत आसान है। इसे नीचे बताए गए तरीके से समझा जा सकता है :

  • पॉजिटिव साबुन प्रेगनेंसी टेस्ट : अगर परिणाम पॉजिटिव हैं यानी आप गर्भवती हैं, तो साबुन में और झाग बनने लगेगा और उसका रंग हल्का हरा व नीला हो जाएगा।
  • नेगेटिव साबुन प्रेगनेंसी टेस्ट : अगर परिणाम नेगेटिव है यानी आप गर्भवती नहीं है, तो साबुन और यूरिन के सलूशन में कोई बदलाव नहीं आएगा।

अब इस प्रेगनेंसी की सटीकता पर एक नजर डाल लेते हैं।

साबुन से किया गया प्रेगनेंसी टेस्ट कितना सही होता है?

सोप प्रेगनेंसी टेस्ट के परिणाम कितने सटीक होते हैं, इसके बारे में कोई प्रमाण उपलब्ध नहीं है। इस टेस्ट को लेकर कोई विश्वसनीय वैज्ञानिक शोध नहीं किया गया है। इस कारण इसे गर्भावस्था जांचने का एक भरोसेमंद तरीका नहीं माना जा सकता। हम यही सलाह देंगे कि अगर ऐसा लग रहा है कि आप गर्भवती हैं, तो किसी विश्वसनीय टेस्ट का सहारा लें। घरेलू प्रेगनेंसी टेस्ट पर भरोसा करने की जगह एक बार डॉक्टर से बात करके जरूरी कदम उठाएं। यह एक स्वस्थ गर्भावस्था के लिए जरूरी है।

लेख के अंतिम भाग में जानिए कि डॉक्टर के पास कब जाना चाहिए।

चिकित्सक से कब संपर्क करें?

गर्भावस्था के कुछ आम लक्षण महसूस होने पर डॉक्टर से संपर्क करके गर्भावस्था की पुष्टि की जा सकती है। पीरियड्स समय पर न आने के अलावा गर्भावस्था के शुरुआती लक्षण कुछ इस प्रकार हो सकते हैं (3) :

  • थकान
  • बार-बार पेशाब आना
  • योनि से हल्का रक्तस्त्राव होना
  • उल्टी और मतली
  • मूड स्विंग
  • कुछ खाने की तीव्र इच्छा होना
  • सिरदर्द

साबुन के अलावा भी घर में मौजूद कई ऐसी सामग्रियां हैं, जिनसे गर्भावस्था की जांच की जा सकती है। इनमें चीनी, नमक, टूथपेस्ट, बेकिंग सोडा आदि शामिल हैं। यहां हम बता दें कि भले ही ये घरेलू तरीके प्रेगनेंसी टेस्ट करने के आसान उपाय हैं, लेकिन इनसे आने वाले परिणाम को भरोसेमंद नहीं माना जाता है। इस तरह के टेस्ट को सिर्फ गर्भवस्था को दिलचस्प बनाने के लिए किया जा सकता है, लेकिन प्रेगनेंसी की पुष्टि करने के लिए किसी विश्वसनीय टेस्ट की ही मदद लें। आशा करते हैं कि यह लेख आपके लिए लाभदायक रहा होगा। ऐसी ही मजेदार व रोचक जानकारियों के लिए पढ़ते रहें मॉमजंक्शन।

संदर्भ (References) :

1. HCG in urine by MedlinePlus
2. Pregnancy tests by WomensHealth
3. What are some common signs of pregnancy by NICHD